पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सतर्कता विभाग की कार्रवाई:चीफ लगेज क्लर्क को 10 हजार रिश्वत लेते पकड़ा, दो घंटे के अंदर किया सस्पेंड

सूरत12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सतर्कता विभाग की टीम की सूरत रेलवे स्टेशन के पार्सल कार्यालय में छापेमारी
  • विजिलेंस टीम के आने की भनक भी नहीं लगी

सूरत रेलवे स्टेशन पर अधिकारियों की नजर है। रोजाना यहां उच्च अधिकारियों का आवागमन हाे रहा है। सभी पहलुओं की जांच-पड़ताल जारी है। बुधवार को पश्चिम रेलवे मुंबई की सतर्कता विभाग यहां अचानक आ पहुंची और सीधे सूरत रेलवे स्टेशन पार्सल कार्यालय में दबिश डाली।

वहां रंगे हाथों चीफ लगेज क्लर्क को माल लादने वाले एजेंट से 10 हजार रुपए रिश्वत लेते धर लिया गया। सतर्कता निरीक्षक जुबेर शेख और उनकी टीम सूरत स्टेशन पहुंची और किसी काे इसकी भनक तक नहीं लगी। सतर्कता टीम को पहले से ऐसी सूचना मिली थी कि पार्सल कार्यालय में इस तरह के कृत्य किए जा रहे हैं।

रिपोर्ट भेजी: पकड़े जाने के बाद क्लर्क ने अपना गुनाह कबूल किया

टीम फौरन पार्सल कार्यालय जा पहुंची। वहां सूरत रेलवे पार्सल कार्यालय का चीफ लगेज क्लर्क मुकेश शॉ माल लदान करने वाले एक एजेंट से 10 हजार रुपए ले रहा था। उसको मौके पर पकड़ा गया। सतर्कता विभाग ने जब सख्ती से पूछताछ की तो खुद एजेंट ने यह बता दिया कि मैंने मुकेश शॉ को यह पैसे उनके कहने पर दिए।

बाद में मुकेश ने भी यह स्वीकार कर लिया। इसके बाद विजिलेंस की टीम ने उस पर कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू कर दी। सबसे पहले उसके खिलाफ रिपोर्ट बनाकर ब्रांच ऑफिसर को भेजा गया और वहां से दो घंटे के भीतर कार्रवाई करते हुए मुकेश को सस्पेंड कर दिया गया।

आरोप: मुकेश पर अक्सर अवैध वसूली के आरोप लगते रहे हैं

सूरत रेलवे के सूत्रों ने बताया कि मुकेश पर विजिलेंस विभाग की यह पहली कार्रवाई नहीं है। इससे पहले भी तीन बार मुकेश ऐसे कृत्य करते पकड़ा गया था। इसमें उसे एक बार चेतावनी देकर छोड़ दिया था, जबकि उसके बाद पकड़े जाने पर विजिलेंस ने ब्रांच ऑफिस को लिखित में इसे ट्रांसफर करने को कहा था।

इसके बाद मुकेश का बोइसर में ट्रांसफर दिया गया था। लेकिन मुकेश ने कोर्ट में इसके खिलाफ याचिका दी और ट्रांसफर रुक गया। इसके बाद वह सूरत में ही कार्यरत था। सूरत रेलवे के सूत्रों ने बताया कि मुकेश पर लगातार ऐसे आरोप लगते रहते हैं।

पहले भी एक क्लर्क घूस लेते पकड़ा गया था

विजिलेंस की टीम ने इससे पहले पिछले महीने उधना रेलवे स्टेशन पर हावड़ा से अहमदाबाद जा रही हावड़ा मेल में छापेमारी की कार्रवाई की थी, इस मामले में उधना स्टेशन पर एक टीसी यात्रियों से सरेआम 8 हजार रुपए वसूलते हुए पकड़ा गया था।

टीसी को सस्पेंड कर दिया गया था। इसके बाद फिर से विजिलेंस टीम ने सूरत आने वाली ट्रेनों में भी कार्रवाई की थी, जिसमें टिकटों के साथ छेड़छाड़ कर यात्रा करते हुए लगभग 500 यात्री पकड़े जा चुका हैं। इसके अलावा सूरत रेलवे स्टेशन पर विजिलेंस टीम ने एक और कार्रवाई करते हुए एक क्लर्क को रिश्वत लेते पकड़ा था, जिसे चार्जशीट दिया गया था।

विजिलेंस टीम को मिली थी गुप्त सूचना, मौके पर रंगे हाथों पकड़ लिया

विजिलेंस टीम के अनुसार उन्हें गुप्त सूचना मिली थी सूरत पार्सल कार्यालय के मुकेश शॉ किसी एजेंट से वसूली करने वाला है। इसके बाद हम मौके पर पहुंचे और जिस तरह से सूचना मिली थी उसी तरह से वह पार्सल माल लदान एजेंट से 10 हजार ले रहा था। हमने मौके पर उसे पकड़ा। इसके बाद रिपोर्ट बना कर उनके संबंधित ब्रांच ऑफिसर को भेजी गई, जिसके बाद कार्रवाई हुई।

खबरें और भी हैं...