पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विरोध:अपनी मांगों को लेकर सिविल के मेडिकल शिक्षकों ने एक दिन कामबंदी की

सूरत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सिविल अस्पताल के सभी मेडिकल शिक्षक पुरानी मांगों को लेकर शुक्रवार को एक दिन की हड़ताल पर उतर गए। प्रोफेसरों ने सरकार द्वारा बंद किए गए लाभाें को फिर से शुरू करने की मांग करते हुए विरोध किया। डॉ. पारुल वडगामा ने बताया कि कोविड-19 महामारी में लगातार सेवा देने के बावजूद मेडिकल शिक्षकों की समस्याओं पर कोई चर्चा नहीं की जा रही है।

स्वास्थ्य विभाग के दूसरे घटक हड़ताल करके अपनी मांगों को पूरा करवाने में सफल हो गए हैं। सरकार पर भरोसा रखने की वजह से मेडिकल शिक्षकों की समस्याएं पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। इससे प्रोफेसरों में भारी रोष है। कोरोना का इलाज करने वाले गुजरात के सभी मेडिकल शिक्षक हड़ताल करने पर मजबूर हैं।

मेडिकल शिक्षकों की ये हैं मांगें

सभी तदर्थ मेडिकल शिक्षकों की सेवाएं विनियमित हैं, एक आदेश जारी कर इसके नियमित किया जाए। रेगुलर मेडिकल शिक्षकों की बाकी सेवाओं को स्थायी करने का आदेश जारी किया जाए। वर्ष 2017 से सातवें वेतन आयोग के नए एनपीए और पर्सनल पे को मंजूर किया जाए। वेतन की अधिकतम सीमा 2017 के प्रस्ताव के अनुसार 2, 37,500 की जाए।

खबरें और भी हैं...