• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Corona Cases Increased At The Rate Of 133% In The First 7 Days Of The Second Wave, Now Increasing At The Rate Of 885%

तीसरी लहर की डरावनी दस्तक:दूसरी लहर के शुरुआती 7 दिन में 133% की दर से बढ़े थे कोरोना केस, अब 885% की दर से बढ़ रहे

सूरत16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
7 दिन में अस्पताल में भर्ती काेराेना मरीजों की संख्या 20 से बढ़कर 105 पहुंची, 256 मरीज डिस्चार्ज भी हुए हैं। - Dainik Bhaskar
7 दिन में अस्पताल में भर्ती काेराेना मरीजों की संख्या 20 से बढ़कर 105 पहुंची, 256 मरीज डिस्चार्ज भी हुए हैं।

कोरोना के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। शुक्रवार को रिकॉर्ड 1,452 नए मामले सामने आए। इससे स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ गई है। इसमें 1,350 शहर के और 102 मामले ग्रामीण इलाकों के हैं। अगर 2021 के 1 अप्रैल से 7 अप्रैल की बीच और इसी साल 1 से 7 जनवरी के बीच कोरोना के केसों की तुलना किया गया तो पता चलता है कि जिस गति से संक्रमण बढ़ रहा है, यह काफी चिंतनीय है।

1 से 7 अप्रैल 2021 के दौरान 7 दिनों में मात्र 133% की वृद्धि के साथ संक्रमण बढ़ा था। जबकि इस साल 1 जनवरी से अब तक 7 दिनों में कोरोना वायरस 885% की ग्रोथ से बढ़ा है। इस साल 1 जनवरी को 164 मामले आए थे और अब 7 जनवरी को 1452 मामले आ गए। इससे काेराेना के संक्रमण का प्रभाव पता चलता है। यही नहीं अब अस्पतालों में भी मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है। 7 दिन पहले मात्र 20 काेराेना के मरीज अस्पताल में भर्ती थे, वहीं इस समय 105 मरीज अस्पताल में इलाज ले रहे हैं।

वहीं शुक्रवार को इलाज के दौरान एक मरीज की मौत भी हुई। मौतों का आंकड़ा 2119 पहुंच चुका है। फिलहाल अब तक कोरोना के 1,49,024 मामले आ चुके हैं। शुक्रवार को 256 मरीज ठीक हुए। अब तक 1,42,433 मरीज ठीक हो चुके हैं। वहीं पार्ले पॉइंट संगम अपार्टमेंट में एक ही परिवार के 5, वराछा के वर्षा सोसाइटी में एक ही परिवार के 7 और लिंबायत कुंभारिया गाम स्थित नेचरवैली में एक ही परिवार के 4 लाेग संक्रमित पाए गए। इन सभी सोसाइटियों काे क्लस्टर घोषित कर दिया गया है। वहीं कनाडा और दुबई से लाैटे 2 लाेग भी संक्रमित मिले हैं।

विपक्ष के नेता धर्मेश भंडेरी संक्रमित
विपक्ष के नेता धर्मेश भंडारी और वार्ड नंबर 19 के पार्षद विजय चौमाल संक्रमित पाए गए हैं। 1 दिन पहले सर्दी खांसी-बुखार की शिकायत के साथ जांच करवाई थी जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है धर्मेश भंडारी सचिन जीआईडीसी गैस कांड में मरीजों से मिलने सिविल अस्पताल गए थे वह एक-एक मरीज से मिले थे वार्ड में मरीज के साथ सर डॉक्टर नर्स और कई मीडिया कर्मी भी मौजूद थे ऐसे में संक्रमण बढ़ने का खतरा बढ़ा हुआ है।
वहीं भाजपा पार्षद विजय चोमाल कोरोना भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। वहीं भाजपा के वार्ड नंबर 19 के पार्षद विजय चौमाल की तबीयत भी ठीक नहीं होने के चलते उन्होंने भी सिविल अस्पताल में जाकर परीक्षण करवाया था, जिसमें संक्रमित पाए जाने पर उन्होंने होम आइसोलेशन में रहकर अपना इलाज शुरू कर दिया है।

780% वृद्धि के साथ एक्टिव केस बढ़ें
मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही एक्टिव मरीज भी काफी तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। महज 7 दिनों में एक्टिव मरीज 780% तक बढ़े हैं। 1 जनवरी को 581 एक्टिव मरीज थे जबकि, शुक्रवार यानी 7 जनवरी को 4,472 एक्टिव मरीज हो गए। वहीं 1 अप्रैल से 7 अप्रैल 2021 के बीच 160% एक्टिव मरीज बढ़े थे। इसके साथ ही कुल 256 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है।

घाेड़दौड़ रोड स्थित एसबीआई बैंक के 14 कर्मचारी संक्रमित, बैंक बंद
घाेड़दौड़ रोड स्थित एसबीआई बैंक में 14 कर्मचारी संक्रमित पाए गए हैं। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बैंक को बंद कर दिया है। दूसरी ओर शहर के 98 छात्र संक्रमित पाए गए हैं। इसमें पूणा स्थित एलपी सवाणी स्कूल के 15 छात्र, अंकुर विद्यालय के 14 छात्र, छत्रपति स्कूल से 9 छात्र संक्रमित पाए गए हैं। इसलिए इन स्कूलों को बंद कर दिया गया है।

जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए लैब चालू किया
जीनोम सीक्वेंसिंग में हो रही देरी के चलते मनपा स्वास्थ्य विभाग ने अनऑफिशियल एक लैब शुरू की है। इसमें जीनोम सीक्वेंसिंग का काम किया जा रहा है। अभी सूरत से जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए सैंपल गांधीनगर भेजे जाते हैं, जिसकी रिपोर्ट आने में 1 हफ्ते से 15 दिन लग रहे हैं। इसलिए स्वास्थ्य विभाग ने अपने स्तर पर जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए एक लैब शुरू किया है। सूरत में 2 सरकारी सहित कुल 8 लैब हैं, जहां पर आरटी-पीसीआर जांच होती है। वहीं तीन लैब ऐसे हैं जहां पर जीनोम सीक्वेंसिंग की सुविधा उपलब्ध है। लेकिन सरकार द्वारा अभी तक इसकी परमिशन नहीं मिली है।

कोवैक्सीन की सप्लाई कम: सूरत को 15 हजार टीके ही मिले
सूरत महानगर पालिका क्षेत्र में 15 से 18 साल के 1 लाख 81 हजार छात्र वैक्सीन लेने के लिए योग्य है। 6 दिन में इन सभी को पहला टीका लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। लेकिन वैक्सीन की सप्लाई नहीं मिलने से शुक्रवार को दूसरे दिन भी छात्रों के लिए टीकाकरण प्रक्रिया बंद रहेगी।
रीजनल वैक्सीनेशन सेंटर पर गुरुवार को कोवैक्सीन का स्टॉक नहीं था। शुक्रवार शाम को रीजनल वैक्सीनेशन सेंटर में 32 हजार से अधिक कोवैक्सीन के डोज का स्टॉक आया। इसमें से करीब 15 हजार सूरत महानगर पालिका को सप्लाई किया जाएगा। हालांकि एक दिन में 35 हजार से अधिक छात्रों को टीका लगाने का लक्ष्य है। इसलिए शनिवार को भी छात्रों के लिए टीकाकरण बंद रहेगा।

ट्रेनों में अगले एक हफ्ते तक बढ़ गई वेटिंग
कोरोना और ओमिक्राॅन वैरिएंट के बढ़ने का असर ट्रेनों पर भी दिखने लगा है। सूरत से यूपी और बिहार जाने वाली ट्रेनों की वेटिंग में दो दिनों में ही बड़ा अंतर दिखने लगा है। रेलवे के आंकड़े के अनुसार सूरत से अगले 11 जनवरी तक ताप्ती गंगा, उधना-दानापुर, उधना-वाराणसी, अहमदाबाद-बरौनी, महामना एक्सप्रेस, बांद्रा -बरौनी एक्सप्रेस समेत तमाम ट्रेनों की वेटिंग फुल हो गई है। इन ट्रेनों की प्रत्येक श्रेणी की बुकिंग फुल हो चुकी है। एक हफ्ते पहले 11 जनवरी तक ट्रेनों में सीटें खाली थीं। रेलवे का कहना है कि हो सकता है मकरसंक्रांति के लिए लोग अपने अपने गांव जा रहे हों। लेकिन अधिकारी मानते हैं कि आमतौर पर मकर संक्रांति के लिए ट्रेनों में इतनी भीड़ नहीं दिखती।

हवाई यात्रा से बच रहे लाेग, बुकिंग कम हुई
जहां एक तरफ ट्रेनों में वेटिंग बढ़ी है वहीं हवाई जहाज में बुकिंग ढीली पड़ रही है। दरअसल पिछले एक सप्ताह से देश भर के तमाम एयरपोर्ट पर आने वाली उड़ानों में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ी है। रोम से अमृतसर आई फ्लाइट के सभी यात्री कोरोना पॉजिटिव निकले, जिससे अब हवाई सफर पर इसका असर देखा जा सकता है।
सूरत में इंडिगो, गो फर्स्ट स्पाइस, जेट जैसी उड़ानों पर इसका असर देखा जा सकता है। यात्रियों की डिमांड घट गई है। इससे अगले एक हफ्ते की बुकिंग में फर्क देखा जा रहा है। तमाम गंतव्यों के लिए फेयर रेट डाउन हुआ है। यह फ्लेक्सी फेयर रेट है, जब उड़ानों की डिमांड बढ़ती है तो फेयर बढ़ जाता है। जब यात्री घटने लगते हैं तो फेयर कम होने लगता है।

खबरें और भी हैं...