पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अम्फान के बाद निसर्ग तूफान:गुजरात में 4-5 जून को चक्रवात और भारी बारिश की चेतावनी, एनडीआरएफ के डीजी बोले- राज्य के तटीय इलाकों से लोगों को निकालेंगे

अहमदाबादएक वर्ष पहले
चक्रवाती तूफान निसर्ग के चलते गुजरात में भारी बारिश और तेज हवाएं चलने की आशंका है। (फाइल फोटो)
  • अहमदाबाद-सूरत समेत कई शहरों में बारिश की आशंका
  • चक्रवात दक्षिण गुजरात के समुद्री किनारे की तरफ बढ़ेगा
  • मुख्यमंत्री रूपाणी ने जिलों को हाईअलर्ट पर रहने को कहा

महामारी से जूझ रहे गुजरात पर अब चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ का खतरा भी मंडरा रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक, 4 और 5 जून को राज्य में भारी बारिश की आशंका है। वलसाड, नवसारी, सूरत, भरूच, दमन, दादरा और नगरहवेली, भावनगर, अमरेली, गिर सोमनाथ, बोटाद, दीव, अहमदाबाद, वडोदरा में चक्रवाती तूफान के असर से तेज बारिश हो सकती है। इस दौरान 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। समुद्र में गए मछुआरों को वापस बुला लिया गया है।

चक्रवात 12 घंटे में दक्षिण गुजरात के समुद्री किनारे की तरफ बढ़ेगा। सूरत के समुद्री किनारे से यह 920 किलोमीटर दूर है। 20 मई को ओडिशा और पश्चिम बंगाल में अम्फान चक्रवात आया था, बंगाल में 12 लोगों की मौत हो गई और 5500 घरों को नुकसान पहुंचा।

सभी जिलों में हाईअलर्ट

मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने बताया कि चक्रवात को देखते हुए सभी जिलों में हाईअलर्ट घोषित कर दिया गया है। भावनगर-अमरेली जिले को विशेष रूप से आगाह किया गया है। 

तटीय इलाकों से लोगों को निकालना शुरू करेंगे- डीजी

एनडीआरएफ के डीजी एसएन प्रधान ने कहा- निसर्ग ऐसा तूफान है, जिसके आने पर हवाएं 90-100 किमी की गति से चल सकती हैं। हालांकि, इसमें स्थिति संभाली भी जा सकती है। फिर भी हम हर सावधानी बरत रहे हैं। दोनों ही राज्यों (महाराष्ट्र-गुजरात) के तटीय इलाकों से हम लोगों को निकालना शुरू करेंगे। 

एनडीआरएफ की 10 टीमें तैनात
सौराष्ट्र-कच्छ के समुद्री किनारे के करीब निचली बस्तियों में रहने वालों को सुरक्षित जगहों पर भेजा जा रहा है। यहांं लोगों से कहा गया है कि वो दो दिन घर से न निकलें। कोविड हॉस्पिटल में मरीजों को किसी प्रकार की दिक्कत न हो, इसके लिए ऊर्जा विभाग को भी तैयार रहने को कहा गया है। एनडीआरएफ की 10 और एसडीआरएफ की 5 टीमें तैनात कर दी गई हैं।  

प्री-साइक्लोनिक अलर्ट जारी
इस समय कम दवाब का क्षेत्र उत्तर की तरफ बढ़ रहा है। 3 जून को यह राज्य के समुद्री किनारों तक पहुंचेगा। इस कारण 4 और 5 जून को राज्य के अधिकांश शहरों में भारी बारिश होने की आशंका है। मौसम विभाग ने बताया है कि गुजरात-महाराष्ट्र में प्री साइक्लोनिक अलर्ट जारी किया गया है। 

पहले दिशा द्वारका-कांडला की ओर थी
कुछ दिनों पहले यह चक्रवात द्वारका-कांडला की तरफ बढ़़ने के संकेत दे रहा था। इससे सौराष्ट्र के द्वारका, ओखा, मोरबी और कच्छ के प्रभावित होने की आशंक थी। सौराष्ट्र और कच्छ के बंदरगाहों निगरानी रखी जा रही थी। अब चक्रवात ने दिशा बदल दी है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- वर्तमान परिस्थितियों को समझते हुए भविष्य संबंधी योजनाओं पर कुछ विचार विमर्श करेंगे। तथा परिवार में चल रही अव्यवस्था को भी दूर करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण नियम बनाएंगे और आप काफी हद तक इन कार्य...

और पढ़ें