• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Darshana Came To Surat For The First Time After Becoming A Union Minister, Welcomed At 13 Places, Patil Was Not Seen

जन आशीर्वाद यात्रा:केंद्रीय मंत्री बनने के बाद पहली बार सूरत आईं दर्शना का शक्ति-प्रदर्शन, 13 जगह स्वागत, पाटिल नहीं दिखे

सूरत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दर्शना बोलीं: मुझे ओबीसी, एससी-एसटी, अल्पसंख्यक समाज सहित सभी वर्गों का आशीर्वाद मिला। - Dainik Bhaskar
दर्शना बोलीं: मुझे ओबीसी, एससी-एसटी, अल्पसंख्यक समाज सहित सभी वर्गों का आशीर्वाद मिला।
  • रेल राज्य मंत्री की यात्रा ने कामरेज चार रास्ते से किया शहर में प्रवेश, आज पार्टी नेताओं से करेंगी बैठक

केन्द्र सरकार में टेक्सटाइल और रेल राज्यमंत्री बनने के 42 दिन बाद सूरत सांसद दर्शना जरदोष मंगलवार को शहर आईं। वे जन आशीर्वाद यात्रा के तहत सूरत पहुंची। इस दौरान सूरत में करीब 24 किलोमीटर लंबी यात्रा के दौरान उनका 13 जगहों पर भव्य स्वागत किया गया। सांसद से मंत्री बनने के बाद उन्होंने जन आशीर्वाद यात्रा के रूप में शक्ति प्रदर्शन भी किया। पूरी यात्रा के दौरान भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल नजर नहीं आए।

दर्शना जरदोष ने कहा कि चाहे वह ओबीसी समाज हो, एससी-एसटी समाज हो या अल्पसंख्यक समाज, सभी का आशीर्वाद मुझे मिला है। लगातार तीन बार सूरत की सांसद बनने वाली दर्शना जरदोष ने राज्य में जन आशीर्वाद यात्रा के रूप में रोड शो 15 अगस्त से आणंद से शुरू किया था। जन आशीर्वाद यात्रा लेकर दर्शना ने मंगलवार शाम 5 बजे कामरेज से शहर में प्रवेश किया था।

शहर में प्रवेश के दौरान मेयर हेमाली बोघावाला, कामरेज के विधायक वीडी झालावाडिया, भाजपा के जिला प्रमुख संदीप देसाई आदि ने उनका जोरदार स्वागत किया। यात्रा से दर्शना ने साबित किया कि अब उनका कद बढ़ चुका है। कामरेज चार रास्ते से शहर में प्रवेश के बाद यात्रा श्यामधाम मंदिर सरथाणा, मंगलदीप कॉम्प्लेक्स, वराछा, सरदार चौक, मिनी बाजार, पोद्दार आर्केड, वराछा, रेलवे स्टेशन, भागल चार रास्ता, भागातलाव, मोटा मंदिर, चौक बाजार, गांधी प्रतिमा, किला मैदान के पास, सिंगणपोर चार रास्ता और गणेश मंदिर पालनपुर पाटिया होते हुए गुजरी। इन सभी जगहों पर दर्शना का स्वागत किया गया।

यात्रा के दौरान भारी भीड़ से ट्रैफिक जाम, लोग हुए परेशान
जन आशीर्वाद यात्रा से लोगों को सबसे अधिक परेशानी चौक बाजार में हुई। दर्शना जरदोष के आने से आधे घंटे पहले रात करीब 8:10 बजे मक्कई पुल से गांधी बाग वाले रास्ते को पुलिस ने आवाजाही के लिए बंद कर दिया था। इस वजह से गांधीबाग के डिपो में जाने वाली सिटी बसों को भी वही रोक दिया गया था। गांधीबाग की ओर जाने वाले लोगों को करीब एक घंटे तक परेशानी का सामना करना पड़ा।
चौक बाजार किले के पास अल्पसंख्यक समाज ने दर्शना जरदोष का स्वागत किया। चौक बाजार चौराहे पर स्टेट बैंक के रास्ते से एसएमसी या भागातलाव जाने के लिए बैरिकेड लगाए गए थे। ऐसे में दर्शना के आगमन से पहले और उनके कतारगाम की ओर जाने के बाद भी वाहनों का जाम देखने को मिला। यात्रा भी जाम में फंस गई थी। आखिर में ट्रैफिक पुलिस से बात कर बैरिकेड हटवाए गए।

पाटीदार क्षेत्रों में भी गईं केंद्रीय मंत्री
जनसंपर्क कर संगठन को मजबूत करने की जिम्मेदारी दर्शना जरदोष को सौंपी गई है। यात्रा उन पाटीदार इलाकों में भी पहुंची जहां पिछले कई वर्षों से बीजेपी के लिए भीड़ जुटाना मुश्किल हो रहा है। यात्रा के दौरान नेताओं ने कोविड के दिशा-निर्देशों की धज्जियां उड़ाईं। स्थानीय विधायक और राज्यमंत्री कुमार कानाणी सहित कई नेता शामिल हुए। मेयर हेमाली के साथ कई नेता बिना मास्क के दिखे।

आज भाजपा नेताओं के साथ बैठक: बुधवार को जन आशीर्वाद यात्रा सुबह 11:10 बजे वेसू में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना सेंटर पर पहुंचेगी। 11:30 बजे भाजपा कार्यालय में नेताओं के साथ दर्शना मीटिंग करेंगी। दोपहर 2:30 बजे वुमन एम्पावरमेंट पर बैठक करेंगी। शाम 4 बजे पत्रकार वार्ता करेंगी। फिर ट्रेडर्स एसोसिएशन उनका स्वागत करेगा। उसके बाद यात्रा संपन्न होगी।

चौक बाजार में अल्पसंख्यक समाज ने भी किया मंत्री दर्शना का भव्य स्वागत
अल्पसंख्यक समाज के लोगों ने चौक बाजार में शाम 6:50 बजे स्वागत का कार्यक्रम रखा था, लेकिन दर्शना दो घंटे देरी से पहुंची। सभी कार्यक्रमों में लोगों को 2-2 घंटे इंतजार करना पड़ा। दर्शना ने अपनी खुली जीप में ही स्वागत करने को कहा। हालांकि अल्पसंख्यक मोर्चा के आग्रह करने पर दर्शना खुली जीप से उतरीं और 2 मिनट स्वागत के लिए दिए। इस मौके पर दर्शना ने कहा कि सभी सर्वधर्म समभाव को बढ़ावा दे रहे हैं। चाहे ओबीसी हों, एससी-एसटी समाज हो या अल्पसंख्यक समाज, आप सभी के आशीर्वाद के जरिये मुझे नरेंद्र मोदी का आशीर्वाद मिला है।

पुराने सिविल अस्पताल के पास स्वागत के लिए खड़े नेताओं-कार्यकर्ताओं से पुलिस की झड़प
दर्शनाबेन जरदोष की जन आशीर्वाद यात्रा का स्वागत करने के लिए भाजपा विधायक, नगर सेवक, कार्यकर्ता चाैक बाजार में पुराने सिविल अस्पताल के पास खड़े थे। भारी भीड़ से ट्रैफिक जाम हो गया था। ट्रैफिक क्लीयर करने के लिए पुलिस ने विधायक, नगर सेवकों और कार्यकर्ताओं को सड़क से हटने के लिए कहा। सड़क से नहीं हटने पर पुलिसकर्मियों के साथ कार्यकर्ताओं की झड़प हुई। इस घटना के बाद बंदोबस्त में लगे पुलिस जवानों ने एक सब इंस्पेक्टर को बुलाया। भाजपा कार्यकर्ताओं और पुलिस में झड़प होने के बाद विधायक हर्ष संघवी ने पुलिस कमिश्नर और गांधीनगर में नेताओं से शिकायत की। इसके बाद अठवा पुलिस मौके पर पहुंच गई।

यात्रा के दौरान कार्यकर्ताओं से झड़प जैसी कोई बात मेरे संज्ञान में नहीं आई है। पुराने सिविल के पास पीएसआई और डी-स्टाफ को तैनात किया गया था।
-डीएस कोराट, इंस्पेक्टर, अठवालाइंस, थाना

पुलिस की कार्यकर्ताओं के साथ झड़प हो गई। मैंने पुलिस कमिश्नर से इसकी शिकायत की है। कार्यकर्ताओं को शांति से समझाते तो वे सड़क से हट जाते। पुलिस की भाषा शैली उचित नहीं थी। - हर्ष संघवी, विधायक, मजूरा

खबरें और भी हैं...