पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कारोबार:चैंबर -जीएसटी में कोई भी बदलाव न करें, प्रोसेसर्स -टेक्सटाइल में 5% टैक्स लगाएं

सूरत12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मंगलवार को सीजीएसटी के चीफ कमिश्नर ने चैंबर में व्यापारियों के साथ बैठक की थी। - Dainik Bhaskar
मंगलवार को सीजीएसटी के चीफ कमिश्नर ने चैंबर में व्यापारियों के साथ बैठक की थी।
  • जीएसटी को लेकर टेक्सटाइल उद्योग की अलग-अलग मांगें, मंत्री और अधिकारी भी परेशान हो गए

जीएसटी की टैक्स दर स्लैब काे बदलने के मुद्दे पर कपड़ा उद्याेग में सहमति नहीं है। मंगलवार को सूरत आए सीजीएसटी के चीफ कमिश्नर अशोक कुमार मेहता से चैंबर के उपाध्यक्ष आशीष गुजराती ने मौजूदा कर की दर में कोई भी बदलाव न करने की मांग की।

वहीं, पिछले दिनों सूरत में आयोजित सी-टेक्स एग्जीबिशन में मौजूद केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी से चैंबर के अध्यक्ष दिनेश नावड़िया और फोस्टा प्रतिनिधिमंडल ने केवल यार्न पर 5 प्रतिशत जीएसटी लगाने का सुझाव दिया था। इसके अलावा टेक्सटाइल के अन्य घटकों को जीएसटी से अलग रखने की मांग की थी। वहीं, प्रोसेसर्स टेक्सटाइल के सभी घटकों पर एक समान 5 प्रतिशत जीएसटी लगाने की बार-बार मांग करता रहा है।

केंद्रीय मंत्रियों, सांसदों और नेताओं के सामने टेक्सटाइल कारोबारी जीएसटी को लेकर अलग-अलग मांग करते रहे हैं। सूरत के व्यापारियों से मंत्री और नेता कई बार कह चुके हैं कि एकजुट होकर मांग करो, फिर हम उस पर विचार करेंगे। इसके बावजूद टेक्सटाइल के अलग-अलग घटकों के कारोबारी अभी तक जीएसटी पर एकमत नहीं हो पाए हैं। यही कारण है कि व्यापारियाें की मांग काे लेकर मंत्री अाैर अधिकारी भी परेशान हाे गए हैं।

कर ढांचे में बदलाव का असर निवेश और रोजगार पर पड़ेगा: गुजराती

केंद्रीय वित्त मंत्रालय मौजूदा जीएसटी रेट में चार स्लैब को तीन करने पर विचार कर रहा है। मंगलवार को सूरत आए सीजीएसटी चीफ कमिश्नर अशोक कुमार मेहता ने चैंबर के उपाध्यक्ष आशीष गुजराती से इस पर बातचीत की। आशीष गुजराती ने कहा कि काफी प्रयास के बाद चार स्लैब काे मंजूर किया गया है, अगर इसे बदला गया तो कपड़ा उद्योग को भारी नुकसान होगा।

मौजूदा समय में एमएमएफ कपड़े पर 5% जीएसटी का प्रावधान है। यही कारण है कि बुनकर उद्योग में इतना बड़ा निवेश हो रहा है। टेक्सटाइल में बुनकर उद्योग सबसे बड़ा नियोक्ता है, इसलिए कर ढांचे में बदलाव का सीधा असर निवेश और रोजगार पर पड़ेगा। आशीष गुजराती ने कर ढांचे में कोई बदलाव न करने की मांग की है।

वर्किंग कमेटी बनेगी: जीएसटी के घोटालेबाजों को पकड़ने में जीएसटी की मदद करेगा चैंबर

चैंबर ऑफ कॉमर्स और सीजीएसटी विभाग ने चैंबर में वर्किंग कमेटी गठित करने का निर्णय लिया है। फर्जी बिल की मदद से करोड़ों का घोटाला करने वाले घपलेबाजों को पकड़ने के लिए कमेटी बनाने का निर्णय लिया गया है। जीएसटी में फ्रॉड करने वालों की जानकारी मिलने के बाद चैंबर जीएसटी विभाग को बताएगा।

इसके अलावा घोटालेबाजों को खोजने में भी विभाग की मदद करेगा। दक्षिण गुजरात चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के उपाध्यक्ष आशीष गुजराती के नेतृत्व में उद्योगपतियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने सीजीएसटी के चीफ कमिश्नर अशोक कुमार मेहता के साथ एक बैठक की। दक्षिण गुजरात के उद्योगों में अवरोधक बने जीएसटी के विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें