• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • During The Question Hour, The Government Admitted – 8.33 Lakh Doses Of The Vaccine Were Spoiled In 7 Months.

पटेल सरकार की परीक्षा का सवाल:प्रश्नकाल में सरकार ने माना- 7 महीने में वैक्सीन के 8.33 लाख डोज खराब हुए

अहमदाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गुजरात विधानसभा का मानसून सत्र का आज पहला दिन है। विधानसभा का मानसून सत्र के पहले ही दिन 1 घंटे तक प्रश्नकाल हुआ। जिसमें विरोधी पक्ष की ओर से सरकार से सवाल पूछे गए। विरोधी पक्ष द्वारा नई सरकार को घेरने का प्रयास किए जाने के बाद कोरोना के केस, मौत, टीकाकरण के डोज खराब होने तथा कमजोर कार्यप्रणाली सहित अनेक प्रश्न पूछे गए। विधानसभा में विपक्ष नेता परेश धानाणी ने कहा कि कोरोना महामारी में गुजरात में स्वास्थ्य क्षेत्र में सरकार की कमजोरी सामने आई है।

साबरकांठा जिले में कोरोना के कारण मृतकों की संख्या गृह में 235 बताई गई लेकिन कांग्रेस ने आरटीआई में मांगे गए जवाब में स्पष्ट हुआ है कि साबरकांठा के सिर्फ 5 नगरपालिकाओं में 219 लोगों की मृत्यु हुई है। गृह में सरकार ने 3864 लोगों की कुल मृत्यु होने का जिक्र किया है जबकि स्वास्थ्य विभाग ने 10081 बताए है। 16 हजार बच्चे कोरोना काल में अनाथ हुए है। 106 नगरपालिकाओं में आरटीआई के अनुसार जनवरी 2019 से फरवरी 2021 तक 87773, मार्च 2020 से 10 मई 2021 तक 1.25 लाख लोगों की मृत्यु हुई है।

कोरोना में 10827 बच्चों ने माता-पिता गंवाए
विधानसभा प्रश्नोत्तरी काल में विधायक गेनीबेन ठाकोर ने सवाल पूछते हुए कहा कि राज्य में कोरोना में एक मां और एक पिता गंवाने वाले बच्चों की संख्या 10827 है, जबकि कोराेना के कारण मां और पिता दोनों गंवाने वाले बच्चों की संख्या 211 के करीब है। माता-पिता दोनों गंवाने वाले 4 हजार सहायता और एक पिता और एक मां गंवाने वाले को 2 हजार सहायता की घोषणा की गई है। वहीं दूसरी ओर सरकार ने विधानसभा प्रश्नोत्तरी में अलग-अलग विधायकों के प्रश्नों में अलग अलग जिलों के पंजीकृत मौतों के आंकड़े बताए गए। राज्य में पिछले दो सालों में कोरोना के कारण 33 जिलों में 3674 मृत्यु दर्ज है, 33 जिलों में 3674 लोगों की मौत कोरोना से हुई है।

टीके का डोज खराब हो जाने की बात स्वीकार की
टीकाकरण के मुद्दे पर खराब होने की बात राज्य सरकार ने स्वीकार की है। जनवरी से जुलाई 2021 के दौरान केंद्र सरकार ने 3.19 करोड़ डोज दिए थे। राज्य सरकार ने जुलाई महीने तक 3.32 करोड़ लोगों को डोज दिए है। टीका वायल खोलने के बाद चार घंटे तक इस्तेमाल करना होता है।
समय बीत जाने पर डोज खराब हो जाने का जवाब विधायक पूंजाभाई वंश के सवाल पर सरकार ने लिखित में दिया है। विधानसभा में सरकार ने स्वीकार किया है कि इस साल के 7 महीने में 8,33,466 टीकाकरण का डोज बिगड़ा है, जिसमें जनवरी 2021 से जुलाई तक कोविशिल्ड के 5,13,761 टीके के डोज बिगड़े और कोवैक्सीन के 3,19,705 डोज टीके के फेल हुए है।

खबरें और भी हैं...