• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Even If The Price Increases By 6 Paise; Today In Surat, Petrol Crosses Rs 100, Companies Said – The Price Of Petrol And Diesel May Increase By Rs 2 To 3 More

त्योहारों पर महंगाई से राहत नहीं:6 पैसे भी भाव बढ़े तो; आज सूरत में पेट्रोल 100 रुपए के पार, कंपनियों ने कहा- 2 से 3 रुपए और बढ़ सकती है पेट्रोल-डीजल की कीमत

सूरत20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एस्सार पंपों पर पेट्रोल 100 के पार, प्रदेश के चार शहरों में डीजल भी 100 रुपए से ज्यादा। - Dainik Bhaskar
एस्सार पंपों पर पेट्रोल 100 के पार, प्रदेश के चार शहरों में डीजल भी 100 रुपए से ज्यादा।

भारतीय तेल कंपनियों ने गुरुवार को भी पेट्रोल और डीजल की कीमतों में इजाफा किया। सूरत में पेट्रोल के दाम में 29 पैसे और डीजल के दाम में 38 पैसे प्रति लीटर बढ़े हैं। इसके बाद यहां पेट्रोल 99.94 और डीजल 98.83 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया है। यानी शुक्रवार को पेट्रोल की कीमतों में 6 पैसे की बढ़ोतरी होती है तो पेट्रोल की कीमत 100 रुपए पर प्रति लीटर पर पहुंच जाएगी। राज्य में पिछले तीन दिनों से लगतार पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े हैं। तीन दिनों में ही पेट्रोल की कीमतों में 84 पैसे की वृद्धि हो चुकी है। वहीं, डीजल की कीमत भी 100 रुपए प्रति लीटर के करीब पहुंच गई है।

इस महीने सिर्फ 7 दिन में ही पेट्रोल 1.60 और डीजल 1.90 रुपए महंगा हो चुका है। जानकारी के मुताबिक कच्चे तेल की मांग बढ़ने के कारण इसके दाम 80 डॉलर प्रति बैरल के पार निकल गए हैं और ये आने वाले दिनों में 90 डॉलर तक जा सकते हैं। इससे पेट्रोल-डीजल की कीमत में 2 से 3 रुपए तक की बढ़ोतरी हो सकती है।

एक साल में पेट्रोल के दाम में 22 रुपए तक हो चुकी है बढ़ोतरी

पिछले साल नवंबर में पेट्रोल की कीमत 78.34 रुपए प्रति लीटर थी, जबकि इस साल अक्टूबर में ही 100 रुपए प्रति लीटर के करीब पहुंच गई है। यानी तब से लेकर अब तक करीब 22 रुपए की बढ़ोतरी हो चुकी है। वही डीजल की कीमताें में भी 24 रुपए की बढ़ोतरी हो चुकी है। नंवबर में डीजल की कीमत 75.71 रुपए प्रति लीटर थी।

राज्य सरकार यदि चाहे तो ऐसे दे सकती है लोगों को राहत

मई 2020 में अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड के दाम 40 से 45 डॉलर हो गए थे तब केंद्र ने पेट्रोल पर प्रति लीटर 13 रुपए एक्साइज ड्यूटी बढ़ा दी थी। अभी एक्साइज ड्यूटी 32.90 रुपए हो चुकी है। राज्य सरकार पेट्रोल पर वेट और सेस 24.1 फीसदी वसूलती है। इसमें यदि राज्य सरकार कटौती करती है तो लोगों को कुछ राहत मिल सकती है।

खबरें और भी हैं...