पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

4 हजार करोड़ रुपए का हीरा निर्यात:मुंबई में फंसे चार हजार करोड़ के हीरे को सूरत से क्लीयर करवाकर एक्सपोर्ट किए

सूरत8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • लॉकडाउन में सूरत के उद्योगपतियों का साहस, पार्सल चेकिंग की प्रोसिजर अटकी थी

लाॅकडाउन के दौरान हीरा उद्योगपतियों की एक और सूझ बूझ सामने आई है। लॉकडाउन में मुंबई में फंसे करोड़ों के हीरे को फ्लाइट से सूरत लाया गया। कस्टम की पार्सल चेकिंग की प्रक्रिया पूरी करने के बाद इसे दोबारा मुंबई ले जाकर एक्सपोर्ट किया गया। कस्टम के अधिकारियों ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान इस प्रकार 4 हजार करोड़ के हीरे का निर्यात किया गया।

मार्च में लॉकडाउन होने के बाद कारोबार पूरी तरह से बंद हो गया था। हीरे के छोटे-बड़े कारखाने भी इससे प्रभावित हो गए थे। हीरा बुर्स, कस्टम कार्यालय तक पार्सल नहीं पहुंच पा रहे थे। मुंबई कस्टम के अधिकारी कार्यालय में नहीं आ रहे थे। पार्सल चेकिंग का काम पूरी तरह से बंद था।

उद्योगपतियों ने सूरत में पार्सल चेकिंग की प्रक्रिया पूरी करने की बात की और सूरत में कस्टम विभाग से संपर्क किया। कस्टम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि मुंबई में अधिकारी बहुत दूर से आते हैं। लोकल ट्रेन बंद होने की वजह से कार्यालय नहीं आ पा रहे थे।

इस दौरान उद्योगपतियों ने हमसे संपर्क किया। हमने पार्सल चेकिंग समेत अन्य प्रक्रिया को पूरा करने का आश्वासन दिया। लॉकडाउन के दौरान सफलतापूर्वक पार्सलों की जांच की गई। इसके बाद निर्यात करने के लिए हवाई माध्यम से मुंबई भेजा गया।

स्पेशल फ्लाइट से सूरत लाए गए थे पार्सल
मई महीने में सब कुछ बंध था। पार्सल को सूरत लाना बहुत मुश्किल था। लॉकडाउन में उद्योगपतियों ने स्पेशल फ्लाइट से पार्सल को सूरत एयरपोर्ट पर ले आए। एयरपोर्ट पर कस्टम से क्लीयर करवाने के बाद पार्सल को एक्सपोर्ट किया गया। उद्योगपति राजू शाह ने बताया कि मुंबई से क्लीयरेंस मिलना बहुत मुश्किल था। इसलिए पार्सल सूरत लाकर क्लीयरेंस कराने के बाद वापस मुंबई ले जाया गया।

खबरें और भी हैं...