दवा फैक्ट्री में 5 मजदूरों की मौत:गुजरात के गांधीनगर में दूषित पानी का टैंक साफ कर रहे थे, जहरीली गैस से गई जान

गांधीनगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गांधीनगर के पास खतराज गांव में स्थित है दवाई की फैक्ट्री स्थित है, जहां ये हादसा हुआ। - Dainik Bhaskar
गांधीनगर के पास खतराज गांव में स्थित है दवाई की फैक्ट्री स्थित है, जहां ये हादसा हुआ।

गुजरात की राजधानी गांधीनगर के कलोल क्षेत्र के खतराज गांव में शनिवार को 5 मजदूरों की मौत हो गई। सभी मजदूर एक दवा फैक्ट्री के दूषित पानी के टैंक की सफाई कर रहे थे। इसी दौरान जहरीली गैस की चपेट में आने से सभी की मौत हो गई।

GIDC के प्लॉट नंबर 10, ब्लॉक नंबर 58, खटराज, कलोल में टुटसन फार्मा प्राइवेट लिमिटेड नाम की दवा कंपनी बनी हुई है। फैक्ट्री से निकलने वाले दूषित पानी को रिसाइकिल करने के लिए यहां ETP प्लांट लगाया गया है। शनिवार को विनय कुमार नाम का मजदूर टैंक साफ करने उतरा था। इसी दौरान उसकी चीख सुनाई दी, तो सुनील गुप्ता उसे बचाने टैंक में उतरा। इसके बाद देवेंद्र, राजन कुमार और अनीश टैंक में उतरे। थोड़ी देर बाद सभी की मौत हो गई।

गांधीनगर में दवा फैक्ट्री से निकलने वाले दूषित पानी की रिसाइक्लिंग के लिए प्लांट लगाया गया है, शनिवार को इसकी सफाई हो रही थी।
गांधीनगर में दवा फैक्ट्री से निकलने वाले दूषित पानी की रिसाइक्लिंग के लिए प्लांट लगाया गया है, शनिवार को इसकी सफाई हो रही थी।

मजदूरों की चीख-पुकार सुनकर गार्ड ने पुलिस और फायर ब्रिगेड को सूचना दी, लेकिन जब तक रेस्क्यू टीम पहुंचती, तब तक काफी देर हो चुकी थी। क्षेत्रीय दमकल अधिकारी महेश मोड ने बताया कि फैक्ट्री में सेफ्टी उपकरण रखे थे, लेकिन मजदूरों ने उनका उपयोग नहीं किया। अनुमान है कि रसायन से भरे पानी में उठी जहरीली गैस के कारण इन सभी की जान गई है। पोस्टमॉर्टम के बाद ही सही स्थिति का पता चल सकेगा।

सभी मजदूर एक के बाद एक टैंक की सफाई करने गए थे, लेकिन जहरीले पानी के असर से सभी की मौत हो गई।
सभी मजदूर एक के बाद एक टैंक की सफाई करने गए थे, लेकिन जहरीले पानी के असर से सभी की मौत हो गई।

मृतक मजदूरों के नाम...
- विनय कुमार
- सुनील गुप्ता
- देवेंद्र कुमार
- अनीश कुमार
- राजन कुमार

खबरें और भी हैं...