एसीबी टीम की अलग-अलग स्थानों पर कार्रवाई:वडोदरा और वेरावल में रिश्वत लेते पांच अधिकारी गिरफ्तार

वडोदरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंचमहाल जिले की महिला टीडीओ जरीना वसीम अंसारी को एक ठेकेदार से 4.45 लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए एसीबी ने गिरफ्तार किया है। निरंतर सोशल मीडिया में एक्टिव रहने वाली टीडीओ जरीना अंसारी ने मनरेगा काम के चेक दिलाने के एवज में ठेकेदार से रिश्वत की मांग की थी। इस मामले में एसीबी ने 3 सहकर्मियों के साथ टीडीओ के खिलाफ केस दर्ज कर आगे की जांच शुरू कर दी है।

जिले में सरकार की विभिन्न योजना में ठेकेदारी करने वाले ठेकेदार को पंचमहाल में मनरेगा काम का एक टेंडर मिला था। जिसमें मनरेगा के तहत चल रहे सड़क, कुएं तथा चेकवॉल के काम के लिए रॉ मटेरियल सप्लाई किया गया था। जिसके एवज में तालुका पंचायत कार्यालय शहेरा से 2.75 करोड़ तथा आरआरपी के तहत 1.71 करोड़ रुपए के बिल के चेक मंजूर हुए थे। चेक पास करने के लिए आरोपी हेमंत मफत प्रजापति, किर्तीपाल इंद्रसिंह सोलंकी तथा टीडीओ जरीना अंसारी ने शिकायकर्ता से इससे पहले भी एक-एक लाख रुपए की रकम ली थी तथा टीडीओ ने आरोपी से चेक के एवज में 2.45 लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी। इसके बाद ठेकेदार ने इसकी शिकायत एसीबी में करने के बाद एसीबी ने जाल बिछाकर आरोपी हेमंत प्रजापति, किर्तीपाल सोलंकी और रियाज मंसूरी को ठेकेदार के दफ्तर से एक-एक लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया। वहीं टीडीओ के जरिए रिश्वत लेने की जानकारी मिलने पर उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया।

सूत्रापाडा: विकास अधिकारी 5 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार
वेरावल। गिर-सोमनाथ जिले के सूत्रापाडा तालुका विकास अधिकारी अमृत परमार अपने कार्यालय में ही रिश्वत लेते गिरफ्तार होने के बाद सरकारी महकमे में हड़कंप मच गया है। टीडीओ ने तालुका की एक मंडली का लाखों रुपए का बिल पास कराने के एवज में रिश्वत की मांग की थी, जिसके अनुसार रिश्वत की रकम लेते एसीबी ने जाल बिछाकर आरोपी को रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया।

खबरें और भी हैं...