• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Government Bowed Before ABVP, PI PSI Of Umra Police Station Transferred, Two Constables Suspended

चौथे दिन भी प्रदर्शन:एबीवीपी के आगे झुकी सरकार, उमरा थाने के PI-PSI का तबादला, दो कांस्टेबल सस्पेंड

सूरत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यूनिवर्सिटी में 11 अक्टूबर को चल रहे गरबा को रुकवाने गई पुलिस के साथ हुए विवाद को लेकर गुरुवार को एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने शहरभर में प्रदर्शन किया। - Dainik Bhaskar
यूनिवर्सिटी में 11 अक्टूबर को चल रहे गरबा को रुकवाने गई पुलिस के साथ हुए विवाद को लेकर गुरुवार को एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने शहरभर में प्रदर्शन किया।
  • प्रदेश संगठन मंत्री बोले- अब मामले को तूल नहीं देना, पुलिस ने माफी मांग ली
  • चौथे दिन भी प्रदर्शन: वेसू-रांदेर, उधना में चक्का जाम पुलिस ने शहर मंत्री को पीटा, फिर मांग ली माफी

यूनिवर्सिटी में गरबा रुकवाने गई पुलिस के साथ हुआ एबीवीपी का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। छात्र संगठन ने लगातार चाैथे दिन भी विरोध प्रदर्शन जारी रखा। हालांकि चौथे दिन एबीवीपी के सामने सरकार को झुकना पड़ा। पुलिस कमिश्नर अजय तोमर ने उमरा थाने के पीआई, पीएसआई का तबादला कर दिया गया।

इसके अलावा दो कांस्टेबलों को सस्पेंड कर दिया गया। इससे पहले एबीवीपी के कार्यकर्ताअों ने गुरुवार सुबह से ही शहरभर में विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया था। वेसू, उधना, भटार, रांदेर में यूनिवर्सिटी और अलग-अलग कॉलेजों के बाहर सड़क जाम की। दिनभर प्रदर्शन चलता रहा। पुलिसकर्मियों को भी नहीं जाने दिया। रादेर में पुलिस ने एबीवीपी के शहर मंत्री की जमकर पिटाई की। एबीवीपी के छात्र संगठन ने गुरुवार को यूनिवर्सिटी के साथ डीआरबी कॉलेज, एचडी जैन कॉलेज, उधना सिटिजन कॉलेज, नवयुग कॉलेज, पीटी साइंस कॉलेज, एमटीबी कॉलेज, एसआरके कॉलेज और वीटी चाैकसी कॉलेज सहित 10 कॉलेज बंद करवा दिए। गेट बंद करके छात्रों को बाहर ही रोक दिया गया। कई घंटे तक कॉलेज और यूनिवर्सिटी बंद रहे।

कॉलेज बंद करवाएं और सड़कें जाम कीं।
कॉलेज बंद करवाएं और सड़कें जाम कीं।

बसें रोकीं, यात्रियों को पैदल जाना पड़ा
एबीवीपी के कार्यकर्ताअों ने गुरुवार को यूनिवर्सिटी गेट से लेकर अणुव्रत द्वार तक सड़क जाम की। इसी तरह उधना, रांदेर और अन्य कई जगह चक्का जाम किया। सड़क को बैरिकेड कर कार्यकर्ता वहीं बैठ गए। उन्होंने लोगों को आने-जाने से रोका। कई घंटे तक बीआरटीएस की बस खड़ी रही। यात्रियों को दूसरे वाहन से या पैदल जाना पड़ा। पुलिसकर्मियों को भी रोककर उनके खिलाफ नारेबाजी की। गनीमत रही कि उन्होंने एंबुलेंस और महिलाओं को आने-जाने दिया। प्रदर्शन के दौरान उमरा पुलिस नहीं आई।

माफी मांगने के बाद भी नहीं बचे पीआई
पुलिस कमिश्नर अजय तोमर ने गुरुवार को उमरा थाने के इंस्पेक्टर और सब इंस्पेक्टर का ट्रांसफर कर दिया, जबकि दो कांस्टेबलों को सस्पेंड कर दिया। तोमर ने बताया कि पुलिस इंस्पेक्टर केआई मोदी को स्पेशल ब्रांच में ट्रांसफर कर दिया गया है। पीएसआई बीएस परमार का तबादला कंट्रोल रूम में कर दिया गया है। इसके अलावा कांस्टेबल धर्मेंद्र गोस्वामी को और ईश्वरदान गढवी को सस्पेंड कर दिया गया है। इन दोनों की गलती यह थी कि उन्होंने घटना स्थल पर खड़े होकर विवाद बढ़ाने की कोशिश की।

शहर मंत्री बोले- मुझे पुलिस ने जमकर पीटा
रांदेर में नवयुग कॉलेज के बाहर एबीवीपी के कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। रांदेर थाने से पीसीआर वैन आई और पुलिसकर्मियों ने प्रदर्शनकारियों को हटाने की कोशिश की, लेकिन एबीवीपी के शहर मंत्री हितेश गिलतर के कुछ कहने पर विवाद हो गया। उसके बाद पुलिसकर्मियों ने उन्हें सड़क पर जमकर पीटा। पुलिस उन्हें थाने उठा ले गई। हितेश ने बताया कि पुलिसकर्मियों ने उन्हें पीटा और उनके कपड़े फाड़ दिए। हितेश थाने के अंदर ही धरने पर बैठ गए।

पहले दबाव में आए एबीवीपी के प्रदेश संगठन मंत्री, वीडियो देखा तो सुर बदल गए
एबीवीपी के प्रदेश संगठन मंत्री हिमालय सिंह झाला ने पहले कहा कि पुलिस ने शहर मंत्री को पीटा नहीं, सिर्फ डिटेन किया था। जब शहर मंत्री की पिटाई का वीडियो वायरल हुआ तो उनके सुर बदल गए। उन्होंने कहा कि अभी हम मामले को तूल नहीं देना चाहते हैं, इसलिए इस मामले को माफी से सुलझा लिया गया है। उच्च अधिकारियों ने उन्हें आश्वासन दिया है कि पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...