पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रेम:किडनी खराब होने से हो गई थी पालतू कुत्ते की मौत, सूरत में डॉक्टर फैमिली ने कुत्तों के लिए बनवा दिया डायलिसिस सेंटर

सूरत4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुजरात का पहला 'पेट डायलिसिस सेंटर' है। - Dainik Bhaskar
गुजरात का पहला 'पेट डायलिसिस सेंटर' है।
  • सेंटर में डायलिसिस के लिए एक पशु विशेषज्ञ की भी नियुक्ति की गई है
  • गुजरात का पहला 'पेट डायलिसिस सेंटर' आवारा कुत्तों और बिल्लियों के लिए मुफ्त है

हरेक व्यक्ति अपने प्रिय की अंतिम विदाई के बाद उसकी यादें जिंदा रखने की कोशिश करता है। कुछ उनकी याद में उसका स्टेच्यू बनवा लेते हैं तो कुछ दान-धर्म करते हैं। कुछ ऐसा ही सूरत में रहने वाली एक डॉक्टर फैमिली ने अपने पालतू कुत्ते की मौत के बाद भी किया। फैमिली ने उसकी याद में 10 लाख रुपए खर्च कुत्तों के लिए डायलिसिस सेंटर बनवा दिया है। ध्यान देने वाली बात यह है कि यह गुजरात का पहला 'पेट डायलिसिस सेंटर' है। यहां कुत्तों के अलावा बिल्लियों का भी डायलिसिस करवाया जा सकता है।

साल 2016 में हो गई थी पेट लियो की मौत।
साल 2016 में हो गई थी पेट लियो की मौत।

गुजरात के पहले पशु डायलिसिस केंद्र
सूरत में रहने वाले डॉ. महेंद्र चौहान के परिवार ने पांच साल पहले किडनी फेल होने के कारण अपने पालतू कुत्ते को खो दिया था। उनका पेट लियो परिवार के सदस्य की तरह था, जिसके साथ वे भावनात्मक रूप से जुड़े हुए थे। उन्होंने राज्य में कई स्थानों पर किडनी के उपचार की कोशिश की, लेकिन मुंबई और दिल्ली को छोड़कर गुजरात के किसी भी शहर में इस उपचार की व्यवस्था उपलब्ध नहीं थी। आखिरकार समय पर उपचार मिलने से पहले ही पेट लियो की मौत हो गई थी। लियो की मौत ने परिवार को इतना आहत किया कि उन्होंने 'पेट डायलिसिस सेंटर' बनाने का फैसला कर लिया।

डॉ. महेंद्र चौहान के परिवार के लिए पेट लियो परिवार के सदस्य की तरह था।
डॉ. महेंद्र चौहान के परिवार के लिए पेट लियो परिवार के सदस्य की तरह था।

आवारा कुत्तों और बिल्लियों के लिए यह सेवा मुफ्त है
इस बारे में महेंद्रभाई चौहान ने बताया कि अपने पेट के साथ मुंबई, दिल्ली की यात्रा करने में ही 20,000 रुपये तक का खर्च आ जाता है। इसके चलते कई लोग उनका इलाज नहीं करवा पाते। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमने सूरत में यह डायलिसिस सेंटर बनवाया है। यह सेवा आवारा कुत्तों और बिल्लियों के लिए मुफ्त है। जानवरों के लिए डायलिसिस मशीन एक सामान्य रोगी के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली मशीन के समान है। सूरत में इस सेवा के शुरू होने से सूरत के कई पशु प्रेमियों को राहत मिली है।

कुत्तों को भी होता है लेप्टस्पारोसिस
कुत्तों को भी लेप्टोस्पायरोसिस होने का भय रहता है। इंसानो में चोट के कारण और कुत्तों में भोजन के द्वारा लैप्टोस्पायरोसिस फैलता है। कई मामलों में लंबे समय तक कुत्तों को लैप्टोस्पायरोसिस हुआ है, यह भी नहीं पता चलता। जिससे कुत्तों की किडनी पर भी असर पहुंच जाता है। उन्हें यदि उन्हें तत्काल उपचार मिले तो वह सुरक्षित रह सकते हैं। सेंटर में डायलिसिस के लिए एक पशु विशेषज्ञ की भी नियुक्ति की गई है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

और पढ़ें