असम CM का राहुल गांधी के लुक पर तंज:गुजरात की चुनावी रैली में बोले- ये 'कांग्रेस के एक नेता सद्दाम हुसैन की तरह दिखने लगे हैं'

अहमदाबाद14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गुजरात विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए गुजरात के दौरे पर असम के सीएम हिमंत बिस्वा सरमा ने फिर से एक विवादास्पद बयान दिया है। मंगलवार को अहमदाबाद की रैला में उन्होंने राहुल गांधी के लुक पर निसाना साधा। उन्होंने कहा- कांग्रेस के एक नेता का लुक बदल गया है, जिसके बाद वह सद्दाम हुसैन की तरह दिखने लगे हैं। इसके बाद उन्होंने कहा कि 'मैंने कुछ दिन पहले एक टेलीविजन इंटरव्यू में देखा कि राहुल गांधी को नए लुक से दिक्कत नहीं हैं।'

जिसके बाद हिमंत बिस्वा सरमा ने राहुल गांधी को सलाह देते हुए कहा कि अगर आपको अपना लुक बदलना है तो कम से कम वल्लभभाई पटेल या जवाहरलाल नेहरू जैसा बनाइए। गांधीजी की तरह दिखें तो और भी अच्छा है, लेकिन अब आप सद्दाम हुसैन की तरह क्यों दिखते हैं?

सिविल कोड की बात दोहराई
सीएम बिस्वा ने आगे कहा- 'अगर हिंदू एक शादी करता है, तो दूसरे धर्मों के लोगों को भी एक ही शादी करनी पड़ेगी। देश में समान नागरिक संहिता कानून बनना ही चाहिए। एक व्यक्ति 2-3 शादी कर लेता है। आखिर तुम 2-3 शादी क्यों करोगे? जब देश में हिंदू एक शादी करता है, तो बाकी धर्मों के लोगों को भी एक ही शादी करनी होगी।

उन्होंने देश में समान नागरिक संहिता कानून बनाए जाने की जरूरत होने की बात कही। बता दें कि बीजेपी ने उत्तराखंड की तरह हिमाचल प्रदेश और गुजरात दोनों ही जगहों पर अपने घोषणा-पत्र में भी समान नागरिक संहिता को लागू करने की बात कही है। उत्तराखंड चुनावों में ये एक बड़ा मुद्दा बन गया था।

कच्छ की रैली में कहा था कि अगर देश में पीएम मोदी जैसा ताकतवर नेता नहीं होगा, तो हर शहर में आफताब पैदा होगा।
कच्छ की रैली में कहा था कि अगर देश में पीएम मोदी जैसा ताकतवर नेता नहीं होगा, तो हर शहर में आफताब पैदा होगा।

लव जिहाद के खिलाफ कानून की मांग
इसके साथ ही बिस्वा ने अपने भाषण में श्रद्धा मर्डर केस की बात छेड़ते हुए लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाने की जरूरत भी बताई। उन्होंने कहा- 'आफताब नाम के एक मुस्लिम लड़के ने हिंदू लड़की के 35 टुकड़े कर दिए। ये सबकुछ उसने लड़की को शादी के झांसे में लाकर किया। वो और भी हिंदू लड़कियों से डेंटिग करता था। देश में ऐसे कई आफताब हैं। इसलिए लव जिहाद के खिलाफ कानून बनना चाहिए।

आफताब बोला कि हिंदू भावुक होते हैं
उन्होंने आगे कहा- 'आफताब ने श्रद्धा को शादी करने का झांसा दिया और उसे दिल्ली लेकर आ गया, लेकिन फिर क्या हुआ? उसने उसके शरीर को 35 टुकड़ों में काट दिया। जब श्रद्धा का शव फ्रीजर में रखा था तो वह दूसरी महिला को डेट पर लेकर आ गया। जब पुलिस ने उससे पूछा कि तुम केवल हिंदू महिलाओं को ही क्यों लाते हो तो आफताब बोला कि हिंदू भावुक होते हैं।

अब देखिए, यह किसी एक आफताब की कहानी नहीं है। देश में बहुत सारे आफताब-श्रद्धा हैं और इसी कारण देश को लव जिहाद के खिलाफ मजबूत कानून की जरूरत है। इससे पहले कच्छ की रैली में उन्होंने कहा था कि अगर देश में पीएम मोदी जैसा ताकतवर नेता नहीं होगा, तो हर शहर में आफताब पैदा होगा। इससे पहले दिल्ली में भी उन्होंने यूनिफॉर्म सिविल कोड के साथ ही लव जिहाद के खिलाफ कड़े कानून की जरूरत का मुद्दा उठाया था।

1 और 5 दिसंबर को होगा मतदान
राज्य में पहले चरण की वोटिंग 1 दिसंबर को होगी, जबकि दूसरे चरण की वोटिंग 5 दिसंबर को होगी। वहीं, दोनों चरणों की मतगणना 8 दिसंबर को होगी। पहले चरण की वोटिंग प्रक्रिया के लिए गजट नोटिफिकेशन 5 नवंबर को और दूसरे चरण की वोटिंग प्रक्रिया के लिए 10 नवंबर को जारी हुआ था। स्क्रूटनी पहले चरण के लिए 15 नवंबर को होगी, जबकि दूसरे चरण के लिए 18 नवंबर की तारीख तय है। नाम वापसी की अंतिम तारीख पहले चरण के लिए 17 नवंबर और दूसरे चरण के लिए 21 नवंबर निर्धारित की गई है।

गुजरात में 24 सालों से है बीजेपी की सत्ता
पिछले 24 साल से गुजरात की सत्ता में भारतीय जनता पार्टी ही काबिज है। यहां हर चुनाव बीजेपी की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ही रही है। लेकिन, इस बार आम आदमी पार्टी की भी एंट्री हो गई है। इससे समीकरण बदलने के आसार भी हैं। पंजाब चुनाव जीतने के बाद आम आदमी पार्टी ने गुजरात में भी पूरी ताकत लगा दी है। ऐसे में मुकाबला त्रिकोणीय हो सकता है।