कोरोना पर कोर्ट / गुजरात सरकार को हाईकोर्ट की फटकार, कहा- कोरोना मरीजों से पशुओें जैसा बर्ताव न हो

X

  • निजी हॉस्पिटल की इलाज दरें नए सिरे से निर्धारित करने का आदेश

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

अहमदाबाद. कोरोना से जूझ रहे गुजरात में चिकित्सा हालात को लेकर गुजरात हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को फटकार लगाते हुए कहा कि कोविड 19 से पीड़ित मरीजों के साथ पशुओं जैसा व्यवहार नहीं होना चाहिए। सिविल हॉस्पिटल में सीनियर डॉक्टर मरीजों को देखने तक नहीं आते। सिविल में गरीब और जरूरतमंद मरीज इलाज के लिए आते हैं उनके साथ मानवतापूर्ण व्यवहार होना चाहिए। जस्टिस जे.बी. पारडीवाला की पीठ ने स्वसंज्ञान याचिका पर सुनवाई करते हुए शुक्रवार को यह टिप्पणी की।

सिविल हॉस्पिटल में मरीजों के हालात संबंधी समाचारों का हवाला देते हुए अदालत ने जानना चाहा कि ऐसी स्थिति में सरकार सुधारने के लिए कोई कदम क्यों नहीं उठाती। मरीजों का सही ढंग से इलाज नहीं होता। सरकार की ओर से एडवोकेट जनरल ने आश्वासन दिया कि एक सप्ताह में समस्या का समाधान निकाल लेंगे। इधर, निजी हॉस्पिटलों में कोरोना इलाज की फीस को लेकर कोर्ट ने टिप्पणी की कि घटाई गई फीस ऐसी नहीं है कि जिसे सामान्य व्यक्ति वहन कर सके। ऐसे में इतनी अधिक फीस नहीं वसूली जा सकती है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना