• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • In Gujarat, Along With Uttar Pradesh, Assembly Elections Are Likely To Be Held In February, Discussion Of Conducting A Survey By BJP

UP के साथ गुजरात में भी चुनाव?:BJP तय समय से 10 महीने पहले चुनाव कराने की तैयारी में, निकाय चुनाव में जीत और AAP की बढ़ती पैठ इसकी वजह

अहमदाबादएक महीने पहले

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इसकी वजह तो सामने नहीं आई है, लेकिन कई कयास लगाए जा रहे हैं। गुजरात सरकार का कार्यकाल नवंबर 2022 में खत्म होना है, लेकिन चर्चा है कि BJP दिसंबर की बजाय 10 महीने पहले फरवरी में ही चुनाव करा सकती है। उसी वक्त उत्तर प्रदेश में भी चुनाव होने हैं। पार्टी यूपी और गुजरात में साथ चुनाव कराने की तैयारी कर रही है।

पढ़िए... गुजरात की राजनीतिक उठापटक का LIVE अपडेट

BJP के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, भाजपा ने स्थानीय निकाय चुनावों में पार्टी को मिली बंपर जीत के बाद अगले विधानसभा चुनाव में जनता का मिजाज जानने के लिए निजी सर्वेक्षण करवाया था। इसमें मौजूदा राजनीतिक हालात में जल्द चुनाव कराने की बात सामने आई।

पढ़िए... क्यों गुजरात में मोदी के अलावा BJP का कोई CM 5 साल का कार्यकाल पूरा नहीं कर सका

विधानसभा चुनाव से पहले जनता का मिजाज जानने के लिए BJP ने एक सर्वे कराया था। इसमें पता चला कि मौजूदा राजनीतिक हालात में जल्द चुनाव कराने से पार्टी को फायदा होगा।
विधानसभा चुनाव से पहले जनता का मिजाज जानने के लिए BJP ने एक सर्वे कराया था। इसमें पता चला कि मौजूदा राजनीतिक हालात में जल्द चुनाव कराने से पार्टी को फायदा होगा।

'आप' को समय मिला तो भाजपा को नुकसान
भाजपा के एक आंतरिक सर्वेक्षण में यह भी बात सामने आई है कि वर्तमान हालात में कांग्रेस में अभी भी संगठन, समन्वय और सक्रियता का अभाव है। इतना ही नहीं, कांग्रेस आंतरिक लड़ाई से ही जूझ रही है। वहीं, आम आदमी पार्टी गुजरात में आ गई है और स्थानीय निकाय चुनावों में कांग्रेस की तुलना में उसका प्रदर्शन भी बेहतर रहा है।

ऐसे में अगर चुनाव दिसंबर 2022 में होते हैं तो 'आप' पार्टी को कुछ बड़े नेताओं को अपने पाले में लेकर संगठन को मजबूत करने का काफी समय मिल जाएगा। ऐसे में विधानसभा चुनाव में BJP को कांग्रेस के साथ-साथ आम आदमी पार्टी का भी सामना करना पड़ेगा। अभी 'आप' के पास चुनाव लड़ने के लिए कोई बड़ा चेहरा भी नहीं है। इस तरह वर्तमान में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी की स्थिति को देखते हुए जल्दी चुनाव होते हैं तो BJP को उसका ज्यादा फायदा मिल सकता है।

पढ़िए... रुपाणी के इस्तीफे में छिपी BJP की बेचैनी; गुजरात में पिछले 3 चुनाव से दरक रही जमीन

राजभवन में राज्यपाल से मुलाकात करने जाते हुए विजय रुपाणी और अन्य केंद्रीय मंत्री।
राजभवन में राज्यपाल से मुलाकात करने जाते हुए विजय रुपाणी और अन्य केंद्रीय मंत्री।

BJP चुनाव की तैयारियों में जुट चुकी है
आपको बता दें, गुजरात में अगस्त में रुपाणी सरकार के 5 साल पूरे होने पर पूरे राज्य में जगह-जगह कार्यक्रम आयोजित हुए थे। इसके साथ ही धड़ल्ले से एक के बाद विकास कार्यों के उद्घाटन भी हो रहे हैं। पिछले कुछ महीनों में PM मोदी, अमित शाह और विजय रुपाणी द्वारा दर्जनों उद्घाटन किए जा चुके हैं।

इसके अलावा महंगाई भत्ता बढ़ाना और सरकारी कार्यालयों में खाली पड़ी जगहों को भरने की प्रोसेस भी हाल ही के दिनों में हुई है। इसके अलावा पार्टी के नेता जगह-जगह कार्यक्रम आयोजित कर संगठन को मजबूत कर रहे हैं। यही सब बातें इस चर्चा को और पुख्ता करती हैं कि BJP गुजरात के चुनाव जल्द से जल्द कराना चाहती है।

खबरें और भी हैं...