• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • In One And A Half Months 23 Illegal Constructions Were Demolished, If Hearing Was Started, Complaints Were Reduced To Half

सेंट्रल जोन बाकी सभी जोनों के लिए बनेगा रोल मॉडल:डेढ़ माह में 23 अवैध निर्माण ध्वस्त किए, हियरिंग शुरू की तो शिकायतें आधी रह गईं

सूरत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल में चाकू लेकर आने की घटना के बाद मनपा मुख्यालय में आने वाले लोगों की जांच तेज कर दी गई। - Dainik Bhaskar
फाइल में चाकू लेकर आने की घटना के बाद मनपा मुख्यालय में आने वाले लोगों की जांच तेज कर दी गई।
  • पहली बार शिकायतों की सुनवाई हो रही, इंजीनियर को मारने की धमकी भी मिली, पर कार्रवाई चालू रखी

अतिक्रमण हटाने में शहर का सेंट्रल जोन अन्य जोन के लिए रोल मॉडल बन रहा है। यहां अवैध निर्माणों पर शिकायत मिलते ही कार्रवाई की जा रही है। पिछले डेढ़ महीने में यह 23 से ज्यादा अवैध निर्माण ध्वस्त किए गए। यहां अवैध निर्माण की शिकायतों के लिए हियरिंग की प्रक्रिया शुरू की गई है। ये काम जोन के नए कार्यपालक इंजीनियर के आने के बाद शुरू किए गए। इसके लिए कार्यपालक इंजीनियर को जान से मारने तक की धमकी मिल चुकी है।

सेंट्रल जोन में अंधाधुंध अवैध निर्माण से नागरिक ही नहीं अधिकारी भी परेशान हो गए थे। यहां अवैध निर्माण के मामलों में गैंगवार भी होती रहती है। ब्लैकमेलिंग भी बढ़ गई थी। सेंट्रल जोन के अधिकारी ने बताया कि एक शिकायतकर्ता ने तो अवैध निर्माण को लेकर 300 शिकायतें की थी। इस शिकायतकर्ता को हियरिंग के लिए बुलाया गया तो उसने कहा कि किसी भी अवैध निर्माण से व्यक्तिगत रूप से कोई आपत्ति नहीं है।

मनपा कमिश्नर बंछानिधि पाणी और मेयर हेमाली बोघावाला ने हियरिंग वाले सिस्टम की सराहना की है। कुछ दिनों में अन्य जोन में भी इसे लागू किया जा सकता है। एक सप्ताह में ही इसका परिणाम नजर आने लगा है। जल्द ही अन्य जोन में यह सिस्टम लागू हो सकता है।

पहले: अवैध निर्माण की इतनी ज्यादा शिकायतें थीं कि काम करना दूभर था
लगभग डेढ़ महीने पहले बीआर भट्‌ट सरथाणा से ट्रांसफर होकर सेंट्रल जोन में कार्यपालक इंजीनियर बने। अवैध निर्माण की शिकायतों के बीच उनके लिए काम करना तो दूर ऑफिस में बैठना भी मुश्किल हो गया था। परेशान होकर उन्होंने मनपा आयुक्त बंछानिधि पाणी और मेयर हेमाली बोघावाला से चर्चा की।
मेयर, आयुक्त और स्टैंडिंग कमेटी के चेयरमैन ने कहा कि आप अवैध निर्माण का हल निकालिए हम आपके साथ हैं। उसके बाद बीआर भट्ट ने शिकायत करने वालों के लिए हियरिंग करने का निर्णय लिया। 11 अगस्त से इसकी शुरुआत की गई। सेंट्रल जोन की जोनल अधिकारी और डिप्टी कमिश्नर गायत्री जरीवाला ने हियरिंग शुरू की।

अब: हियरिंग की वीडियो रिकॉर्डिंग हो रही, शिकायतकर्ता कम आ रहे
अवैध निर्माण की शिकायत करने वालों को हर बुधवार को जोनल अधिकारी के दफ्तर में बुलाया जाता है। हियरिंग के दौरान शिकायतकर्ता की पूरी जानकारी ली जाती है। उसकी आपत्ति के बारे में पूछा जाता है। शिकायतकर्ता से हुई पूरी बात रिकॉर्ड की जाती है। मीटिंग का वीडियो बनाया जाता है।
एक अधिकारी ने बताया कि हियरिंग में शिकायतकर्ता का रिकॉर्ड मिलता है। यह भी पता चलता है कि उसने किस उद्देश्य से शिकायत की है। उसका कोई व्यक्तिगत स्वार्थ या रंजिश तो नहीं है। कई मामलों में शिकायतकर्ता को यह भी पता नहीं होता कि उसने जिस अवैध निर्माण की शिकायत की है वह जगह कहां है।

1 अप्रैल से 21 जून तक कुल 9 डिमोलिशन ही हो सके थे
बीआर भट्ट 21 जून को सेंट्रल जोन के कार्यपालक इंजीनियर बने। उसके बाद 24 जून को पहला, 30 जून को दूसरा और 3 जुलाई को तीसरा अवैध निर्माण ध्वस्त किया। उसके बाद डिमोलिशन कि कार्रवाई तेज कर दी। डेढ़ माह में 23 अवैध निर्माण तोड़ दिए। इससे पहले 1 अप्रैल से 21 जून तक मुश्किल से 9 डिमॉलिशन हुए थे।

हियरिंग का असर: जोन ऑफिस में फरियादियों की भीड़ घटी
हियरिंग वाले नुस्खे से शिकायत करने वालों की संख्या में कमी आ गई है। 1 सप्ताह में परिणाम सामने आने लगा है। अधिकतर लोग अवैध निर्माण को लेकर अधिकारियों को धमकी भी देते थे। सेंट्रल जोन का स्टाफ भी इस तरह की धमकियों से परेशान था। अब शिकायतों को लेकर दिनभर सेंट्रल जोन को अड्डा बनाने वाले गायब हो गए हैं।

हियरिंग में चाकू लेकर आए, मरने-मारने की धमकी भी दे चुके
सेंट्रल जोन में अवैध निर्माण की शिकायतकर्ता मरने-मारने की हद तक जा चुके हैं। गत गुरुवार को मनपा मुख्यालय में इंचार्ज डिप्टी कमिश्नर गायत्री जरीवाला के दफ्तर में हियरिंग के दौरान दो शिकायतकर्ता फाइल में चाकू छिपाकर ले आए थे। वे एक इमारत की चौथी मंजिल को तोड़ने की मांग कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि अगर अवैध निर्माण पर कार्रवाई नहीं हुई तो कार्यपालक इंजीनियर बीआर भट्ट को नहीं छोड़ेंगे। शुक्रवार को धमकी देने वाले जहीर मगर और आमिर सोपारीवाला के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई। 11 अगस्त को भी आमिर सोपारीवाला ने धमकी दी थी उसकी शिकायत पर तत्काल कार्रवाई नहीं की गई तो आत्मदाह कर लेगा।

अब अवैध निर्माण की शिकायत मिलते ही की जा रही कार्रवाई
हियरिंग की शुरुआत की गई है। अवैध निर्माण की शिकायत मिलते ही कार्रवाई की जा रही है। इसके अच्छे परिणाम अब दिखने लगे हैं। पहले रोज जोन ऑफिस में शिकायत करने वालों की भीड़ लगी रहती थी। स्थिति ऐसी हो गई थी कि कमिश्नर से कहना पड़ा कि मैं इन हालातों में काम नहीं कर पाऊंगा। अब हियरिंग के कारण भीड़ कम हो गई। इससे अन्य काम भी तेजी से होने लगे हैं। अब सब सामान्य हो गया है।
-बीआर भट्ट, कार्यपालक इंजीनियर, सेंट्रल जोन

खबरें और भी हैं...