पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • In Surat, The Builder Gave 42 Flats To Stay Without Rent, Only By Giving Maintenance, They Will Be Able To Stay For One To Two Years.

बिल्डर की दरियादिली:सूरत में बिल्डर ने 42 फ्लैट बगैर किराये रहने काे दिए, सिर्फ मेंटेनेंस देकर एक से दो साल तक रह सकेंगे

सूरत13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना के कारण अपने गांव लौटने को मजबूर परिवारों को रोककर 90 फ्लैटों की बिक्री स्थगित की
  • परिवार ने खाली पड़े फ्लैट में सामान रखने की इजाजत मांगी तो भावुक हुए बिल्डर

दानवीर कर्ण की भूमि सूरत में रहमदिल लोगों की कमी नहीं है। तभी तो एक बिल्डर ने एक परिवार की पीड़ा देखकर 42 फ्लैट बिना किराये पर ही देना तय कर लिया। यह भी कह दिया कि आप लोग सिर्फ मेंनटनेंस देकर दो साल तक तक रह सकते हो। दरअसल एक तरफ कोराेना की महामारी और दूसरी तरफ बेरोजगारी से टूटी आर्थिक कमर मध्यम और निम्न मध्यम वर्ग के परिवाराें को आत्महत्या के लिए मजबूर कर रही है। ऐसा ही एक परिवार कुछ दिनों पहले वराछा के पास वेलंजा में एक प्रोजेक्ट साइट पर पहुंचा था और परिवार के मुखिया ने बिल्डर से पूछा कि साहेब हम वतन जाना चाहते हैं।

हमारे पास घर गृहस्थी का सामान रखने के लिए मकान नहीं है। आपके फ्लैट खाली पड़े हैं, क्या कुछ महीनों के लिए हमारा सामान आपके फ्लैट में रखने देंगे? इस व्यक्ति की आंखों में आंसू भी आ गए। बिल्डर को लगा कि अगर मैं इस व्यक्ति को अब मदद नहीं करता हूं तो यह कुछ भी अनहोनी कर सकता है। बिल्डर ने तुरंत ही अपने पांच पार्टनर से बात की और तय किया कि उनके 90 फ्लैट तैयार साइट सिर्फ मेंटेनेंस लेकर ही बगैर किराये पर एक से डेढ़ साल तक दिए जाएंगे।

यहां 42 परिवार सामान रख चुके हैं
परिवार की स्थिति ठीक नहीं होती तब तक लाइट-पानी, सफाई, सीसीटीवी और फ्री वाई-फाई कनेक्शन के मासिक मेंटेनस के 1500 रुपए की व्यवस्था करने की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। चंद समय में ही 42 परिवारों ने फ्लैटों में सामान भी शिफ्ट करा दिया है।

सौराष्ट्र ने बहुत कुछ दिया, अब कर्ज चुकाने का समय आया है
सौराष्ट्र ने बहुत कुछ दिया है। सालों पहले सौराष्ट्र से कर्मभूमि सूरत में स्थायी हुआ। हमारा प्रोजेक्ट तैयार होने के कारण कुछ समय तक बिक्री वाले 90 फ्लैट्स को सेवा के तहत देने के लिए हिस्सेदारों ने एक ही शब्द पर निर्णय लिया है। बगैर किराये फ्लैट का सिर्फ मेंटेनस चार्ज का ही बोझ परिवारों पर रखने का निर्णय लिया गया है। इन परिवारों को जब तक जरूरी रोजगार नहीं मिलता तब तक वे इस सुविधा का लाभ ले सकते हैं। - प्रकाश भालाणी, वराछा, सूरत

तंगी से परेशान हो सौराष्ट्र लौटने की नौबत आ गई थी
नौकरी-व्यवसाय की आस में हाल ही में वतन से लौटे हैं लेकिन उद्योग बंद होने के कारण किराये की भी समस्या है। परिवार के साथ गुजारा करना मुश्किल होने पर फिर सौराष्ट्र जाने की तैयारी कर रहे थे। तभी मानवता के नाते नए और पॉश फ्लैट मेंटेनस देने के सहुलियत पर मिलने पर अब यहीं पर रहकर संघर्ष करने का निर्णय लिया है। -ईश्वर वोरा, लाभार्थी

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन पारिवारिक व आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदाई है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ विश्वास से पूरा करने की क्षमता रखे...

और पढ़ें