• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • License Fee Of Mobile Food Truck Reduced By 50%, Pending Bridge Supervision And Smear Work

स्थायी समिति की बैठक:मोबाइल फूड ट्रक की लाइसेंस फीस 50% कम की, ब्रिज सुपरविजन व स्मीमेर का काम लंबित

सूरत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • तीनपहिया से 5 हजार व चारपहिया से ~7500 सालाना फीस लेंगे

मनपा स्थायी समिति की गुरुवार को हुई बैठक में एजेंडे के 26 में से 23 काम मंजूर कर लिए गए, जबकि 2 काम लंबित और एक में ठेकेदार को रूबरू बुलाने का निर्णय लिया गया। मंजूर कामों में मोबाइल फूड कोर्ट के रजिस्ट्रेशन का काम भी शामिल है। शहर में करीब 800 मोबाइल फूड कोर्ट हैं।

बैठक में मोबाइल फूड कोर्ट के लिए लाइसेंस फीस में 50 फीसदी छूट देने का निर्णय लिया गया। पहले लाइसेंस के लिए सालाना तीनपहिया वाहन के लिए 10 हजार और चारपहिया वाहन के लिए 15 हजार रुपए लेने का प्रस्ताव बनाया गया था। अब तीनपहिया से 5 हजार और चारपहिया के 7500 रुपए सालाना लिए जाएंगे। स्थायी समिति के चेयरमेन परेश पटेल ने बताया कि शहर में मोबाइल फूड ट्रक घूम रहे हैं। सभी लाइसेंस लेकर कारोबार करें, इसलिए सालाना लाइसेंस फीस ली जाएगी। जिसने लाइसेंस नही लिया उनके वाहन जब्त कर लिए जाएंगे।

बन रहे ब्रिज के सुपरविजन के लिए मुंबई की एजेंसी को बुलाना है
सूरत-ओलपाड रोड पर पुराने सारोली रेलवे ओवरब्रिज को 6 लेन का बनाने का काम चल रहा है। इस कार्य के सुपरविजन के लिए प्रतिमाह 3.50 लाख रुपए खर्च होंगे। मुंबई की कोंकण रेलवे कॉर्पोरेशन लिमिटेड ने इस काम में अधिक समय लगाने की बात कही है, इसलिए यह काम मुल्तवी कर दिया गया है। इसके अलावा स्मीमेर अस्पताल में कोविड बिल्डिंग में 7.72 करोड़ के काम को अधिक चर्चा के लिए मुल्तवी रख दिया।

खबरें और भी हैं...