पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Lord Jagannath Returned From Maternal Uncle's House, Nettotsav And Flag Hoisting Ceremony Completed Among The Crowd Of Devotees In The Temple

अहमदाबाद रथयात्रा महोत्सव:भगवान जगन्नाथ मामा के घर से लौटे, मंदिर में नेत्रोत्सव व ध्वजारोहण विधि संपन्न, सोमवार को कर्फ्यू के बीच निकलेगी रथयात्रा

अहमदाबाद2 महीने पहलेलेखक: अनिरूद्ध सिंह मकवाणा
  • कॉपी लिंक
भगवान जगन्नाथ की ऐतिहासिक 144वीं रथयात्रा सोमवार को कर्फ्यू के बीच निकलेगी। - Dainik Bhaskar
भगवान जगन्नाथ की ऐतिहासिक 144वीं रथयात्रा सोमवार को कर्फ्यू के बीच निकलेगी।

अहमदाबाद में भगवान जगन्नाथ की ऐतिहासिक 144वीं रथयात्रा सोमवार को पारंपरिक तरीके से कर्फ्यू के बीच निकलेगी। आज अमास के दिन भगवान जगन्नाथ मामा के घर से अपने मंदिर लौट आए हैं। मंदिर में लौटने के बाद नेत्रोत्सव और ध्वजारोहण विधि संपन्न हुई। इस दौरान मंदिर में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ देखने को मिली। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल और गृहमंत्री प्रदीप सिंह जडेजा भी विधि में शामिल हुए और पूजा-अर्चना की।

साधू-संतों समेत करीब 1 हजार लोगों के भोजन की व्यवस्था की गई है।
साधू-संतों समेत करीब 1 हजार लोगों के भोजन की व्यवस्था की गई है।

आज मंदिर में साधु-संतों को भोजन करवाया जाएगा
आज भगवान जगन्नाथ मंदिर लौटे हैं। इसके चलते दोपहर में मंदिर प्रांगण में साधु-संतों को भोजन करवाया जाएगा व उन्हें दान-दक्षिणा दी जाएगी। इस दौरान साधु-संतों समेत करीब 1 हजार लोगों के भोजन की व्यवस्था की गई है। भंडारे की तैयारी सुबह से ही शुरू कर दी गई थी। भंडारे में काली रोटी (मालपुआ) और ढोली दाल (दूधपाक) का प्रसाद दिया जाएगा।

नेत्रोत्सव के बाद ध्वजारोहण विधि संपन्न हुई।
नेत्रोत्सव के बाद ध्वजारोहण विधि संपन्न हुई।

कोरोना काल में पहली बार नाथ नगर भ्रमण करेंगे। राज्य सरकार ने सीमित लोगों के बीच रथयात्रा को स्वीकृति दी है। वहीं, यात्रा के मार्गों पर कर्फ्यू लगा दिया गया है, जिससे कि अन्य लोग रथयात्रा का हिस्सा न बन सकें। बता दें, पिछले साल भी कोरोना के चलते भगवान का रथ केवल मंदिर परिसर में ही भ्रमण कर पाया था। लेकिन इस साल कोरोना के मामलों की संख्या कम होने के कारण पारंपरिक मार्ग पर रथयात्रा निकालने की अनुमति दी गई है।

गुरुपूर्णिमा तक भगवान की रथयात्रा का प्रसाद वितरण किया जाएगा।
गुरुपूर्णिमा तक भगवान की रथयात्रा का प्रसाद वितरण किया जाएगा।

गुरुपूर्णिमा तक बंटेगा प्रसाद
रथ जगन्नाथ मंदिर से सुबह 7 बजे प्रस्थान करेगा और कालूपुर सर्कल, प्रेम दरवाजा, दिल्ली चकला, शाहपुर दरवाजा, आर.सी. हाई स्कूल, पीठडिया बंबा, पानकोर नाका, मानेक चौक से होते हुए दोपहर करीब 12 बजे तक निज मंदिर लौट आएगा। यह यात्रा 5 घंटे में पूरी हो जाएगी। गुरुपूर्णिमा तक भगवान की रथयात्रा का प्रसाद वितरण किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...