गुजरात की चुनावी जंग:20 नवंबर को अमरेली में पीएम मोदी, 22 को राहुल; दोनों की जनसभा एक ही मैदान में

अमरेली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुजरात चुनाव की तारीख डिक्लेयर होने के बाद राहुल गांधी का यह पहला गुजरात दौरा है। - Dainik Bhaskar
गुजरात चुनाव की तारीख डिक्लेयर होने के बाद राहुल गांधी का यह पहला गुजरात दौरा है।

गुजरात में विधानसभा चुनाव की घोषणा होने के बाद भी कांग्रेस के स्टार प्रचारक राहुल गांधी अब तक प्रचार से अलग रहे हैं। लेकिन, अब वह भी मैदान में आ रहे हैं। आगामी 22 नवंबर को राहुल गांधी अमरेली में जनसभा संबोधित करने वाले हैं। राहुल से पहले 20 नवंबर को अमरेली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सभा करेंगे। दिलचस्प बात यह है कि मोदी और राहुल गांधी दोनों एक ही जगह एक ही डोम में सभा संबोधित करेंगे।

कांग्रेस का गढ़ है अमरेली
अमरेली कांग्रेस नेता परेश धानाणी का गढ़ रहा है। भाजपा इस बार धानाणी से गढ़ छीनने की फिराक में है। इसलिए पीएम मोदी की जनसभा का आयोजन किया गया है। हालांकि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है। पिछले दो विधानसभा चुनाव से हो रहा है। जिसमें अमरेली में नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी अपनी पार्टी के उम्मीदवार का प्रचार करने आते रहे हैं। नरेंद्र मोदी के आने के बावजूद भाजपा ने दोनों बाद यह सीट गवां दी थी। अब 20 नवंबर को अमरेली के फॉरवर्ड हाईस्कूल के ग्राउंड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनसभा होगी। कांग्रेस भी 22 को राहुल गांधी की सभा आयोजित करेगी।

सूची में सोनिया गांधी भी, पर आएंगी नहीं
कांग्रेस द्वारा मंगलवार को स्टार प्रचारकों की सूची जारी की गई। इसमें पार्टी की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत कई बड़े नाम शामिल हैं। हालांकि सूत्रों के अनुसार सोनिया गांधी के राज्य में प्रचार के लिए आने की संभावना बहुत कम है। स्टार प्रचारकों में राहुल गांधी, जगदीश ठाकोर, जिग्नेश मेवाणी, कन्हैया कुमार समेत नेता हैं।

पीएम मोदी 19-20 नवंबर को सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात में
गांधीनगर| पीएम मोदी 19 नवंबर से पहले चरण के चुनाव के लिए प्रचार की शुरुआत करेंगे। वे 19 और 20 नवंबर को दो दिन गुजरात में ठहरेंगे और 6 सीटों पर 6 संभाएं और रोड शो करेंगे। निर्धारित कार्यक्रमानुसार मोदी 19 को वापी में भव्य रोड शो और वलसाड में सभा संबोधित करेंगे। 20 को सौराष्ट्र में वेरावल, धोराजी, अमरेली और बोटाद में मोदी की सभा होगी। पीएम मोदी के आगामी दिनों के दौरे की योजना भी बनाई जा रही है। दोनों चरणों में पीएम मोदी 25 से अधिक सभाएं कर सकते हैं।