पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Municipality's Pre monsoon Action Pole Opened In The First Rain Of Monsoon, Roads Submerged, Soil Submerged In Many Places

मुश्किलें बढ़ी:मानसून की पहली बारिश में खुल गई मनपा की प्री मानसून कार्रवाई की पोल, सड़कें जलमग्न, कई जगह मिट्‌टी धंसी

सूरतएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इस साल सीजन की पहली और सिर्फ 1 दिन की बारिश में ही मार्ग बंद हाे गए। फाेटाे -लक्ष्मीकांत नागरे - Dainik Bhaskar
इस साल सीजन की पहली और सिर्फ 1 दिन की बारिश में ही मार्ग बंद हाे गए। फाेटाे -लक्ष्मीकांत नागरे
  • इस साल एक सप्ताह पहले सक्रिय हुआ मानसून, शुक्रवार को 6 घंटे में ही 3 इंच पानी बरसा
  • सहारा दरवाजा के पास इमारत की छत गिरी, 2 दिन भारी बारिश का अनुमान

शहर में बारिश की धमाकेदार एंट्री हो चुकी है। हालांकि सिर्फ 5 इंच बारिश ने ही मनपा की प्री-मानसून कार्रवाई की धज्जियां उड़ा दी। जगह-जगह जलभराव, सड़कों से डामर उखड़ना और मिट्टी धंसने जैसे कई मामले सामने आए। इसके कारण शहर के लोगों को दिन भर परेशानी का सामना करना पड़ा।

बरसात से मीठी खाड़ी का जलस्तर भी खतरे के निशान को पार कर गया। हांलाकि बाद में पानी घटने से लोगों ने राजत की सांस ली। वहीं कई जगहों पर वाहन चालकों को ट्रैफिक जाम के कारण घंटों फंसे रहना पड़ा। वैसे तो जिले में एक सप्ताह पगले ही मॉनसून ने दस्तक दे दी थी।

लेकिन यह बूंदाबांदी तक ही सीमित रहा। लेकिन गुरुवार रात 8 बजे से बारिश शुरू हुई ताे 2 घंटे में ही एक इंच बारिश हाे गई। इसके बाद रात भर झमाझम बारिश हुई। इसके बाद शुक्रवार सुबह 6 से दोपहर 12 बजे के दौरान 3 इंच बारिश हुई। पिछले साल 26 जून को बारिश ने दस्तक दी थी।

एक ही दिन में 5 डिग्री लुढ़का तापमान

शुक्रवार को भारी बारिश से अधिकतम तापमान में 5 और न्यूनतम तापमान में 4 डिग्री की गिरावट आई। अधिकतम तापमान 31.4 डिग्री और न्यूनतम तापमान 23.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। आर्द्रता की मात्रा 98 प्रतिशत हो गई थी। दक्षिण-पश्चिम दिशा से दिनभर तेज हवा चलती रही।

पिछले साल बारिश में पानी भरने की वजह से लगभग 2 माह तक बंद रहने वाले परवत-गोडादरा रोड पर परवत गाम के खाड़ी ब्रिज की स्थिति जस की तस है। पूरा साल गुजरने के बाद भी प्रशासन इस समस्या का हल निकल नहीं पाया। इस साल सीजन की पहली और सिर्फ 1 दिन की बारिश में ही मार्ग बंद हाे गए। फाेटाे -लक्ष्मीकांत नागरे

आरटीओ के नजदीक पाल क्षेत्र में एक ही सड़क पर चार जगह मिट्टी धंसने के मामले देखने को मिले। मिट्टी धंसने के कारण एक ट्रक भी फंस गया था। इस मार्ग से गुजरने वाले लाेग डर-डरकर जा रहे थे।

तेज हवा के साथ हुई बारिश के चलते शहर के अलग-अलग क्षेत्राें में 10 जगह पेड़ गिरने के मामले फायर विभाग में दर्ज हुए हैं। इनमें से 2 जगहाें पर गिरे पेड़ के नीचे कारें भी दब गईं। सिटीलाइट साइंस सेंटर के पास पेड़ गिरने से स्विफ्ट कार और अडाजण गेल टावर के पास पेड़ गिरने से आई 10 कार दब गई। हालांकि कोई जनहानि नहीं हुई लेकिन काराें काे नुकसान पहुंचा।

इन क्षेत्रों में भरा पानी

शहर के अडाजण, कादर सा की नाल, चाैक बाजार, झांपा बाजार, रेलवे स्टेशन गरनाला, सगरामपुरा, लिंबायत, सिमाडा, वराछा, कतारगाम, वेड रोड और अन्य इलाकों में जलभराव हाे गया। इससे लाेगाें काे मुश्किलाें का सामना करना पड़ा।

नई लाइन डालने से परेशानी

पिछले दिनों शहर के विभिन्न जोनाें में 24 घंटे पानी के लिए नई लाइन डालने और ड्रेनेज लाइन के कारण की गई खुदाई के बाद जल्दबाजी में सड़क बनाने के कारण मिट्टी धंसने और सड़क उखड़ने के मामले सामने आए। भावल मुख्य मार्ग पर भी 12 फीट के अंदर ही दो जगह मिट्टी धंसने से वाहन चालकों को परेशान होना पड़ा।

शहर- चौर्यासी में पांच-पांच इंच बारिश | जिले में पिछले 22 घंटों में सबसे अधिक बारिश शहर और चौर्यासी तहसील में हुई। जबकि मांडवी तहसील में बारिश कम हुई। बारडोली और मांगरोल में एक-एक इंच बारिश हुई।

खबरें और भी हैं...