धर्मगुरुओं की अपील:मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा-कोरोना को हराना है तो वैक्सीन लगवानी है

सूरत6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
-मौलाना अशद अहमद मीर, जमीयत उलमा-ए-सूरत - Dainik Bhaskar
-मौलाना अशद अहमद मीर, जमीयत उलमा-ए-सूरत
  • चार मुस्लिम संगठनों के प्रतिनिधियों और धर्मगुरुओं की अपील

कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच शहर के मुस्लिम समाज और धर्म गुरुओं ने एक अच्छी पहल की है। समाज के धर्मगुरु और प्रमुख लोग कोरोना टीकाकरण अभियान में सहयोग के लिए आगे आए और सूरत महानगर पालिका से कहा कि वे खुद कोरोना वैक्सीन लगवाएंगे और समाज को भी जागरुक करेंगे। साथ ही मनपा अधिकारियों को आश्वस्त किया कि रमजान के दौरान कोरोना गाइड लाइन की पूरी पालना की जाएगी।

मुस्लिम समाज के चार प्रमुख संगठनों जमीयत उलमा-ए-सूरत, पटनी सुन्नत जमात ट्रस्ट सूरत, सार्वजनिक ट्रस्ट और सदभावना प्रगति मंडल ने मनपा को पत्र लिख कर कोरोना से जंग जीतने में पूरा सहयोग देने का आश्वासन दिया है। अभी पवित्र रमजान माह चल रहा है। ऐेसे में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए मुस्लिम समाज मनपा के साथ खड़ा है।

रमजान माह कोरोना गाइडलाइन के साथ मनाने और सहयोग के लिए मनपा कमिश्नर बंछानिधि पाणी की अध्यक्षता में मुस्लिम समाज के प्रतिनिधियों की बैठक हुई थी। इसमें सभी ने कोरोना गाइड लाइन की पूर्ण पालना की हामी भरी। धर्म गुरुओं ने अपील की है कि समाज के सभी लोग संक्रमण पर अंकुश लगाने के लिए टेस्टिंग और वैक्सीन में सहयोग करें और लोग आगे बढ़ कर वैक्सीन लगवाएं।

कंधे से कंधा मिलाकर आगे चलना है

महामारी में एकजुट होकर कंधे से कंधा मिलाकर आगे चलना है। सरकार की गाइडलाइन को फॉलो करना है और हाथ बंटाना है। मानवता के तौर पर जितनी हो पाए उतनी मदद करनी है। यही रमजान, यही इबादत है। -मौलाना अशद अहमद मीर, जमीयत उलमा-ए-सूरत

खबरें और भी हैं...