• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Night Curfew In 4 Cities, Corona Patients Increasing, 145 In Surat, 131 New Cases In Ahmedabad

गुजरात में कोरोना के 575 मामले:जिन 4 शहरों में नाइट कर्फ्यू, वहीं बढ़ रहे कोरोना के रोगी, सूरत में 145, अहमदाबाद में 131 नए केस

अहमदाबाद9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जून वाली स्थिति में कोरोना - Dainik Bhaskar
जून वाली स्थिति में कोरोना
  • वडोदरा में 82, राजकोट में 71 नए संक्रमित मिले

गुजरात में काेविड-19 के मामले फिर से लगातार तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। रविवार काे 575 नए मामले मिले। इनमें से सूरत में सर्वाधिक 145 केस मिले हैं। वहीं अहमदाबाद में भी 131 मामले सामने अाए। जबकि अहमदाबाद में एक मरीज की माैत कोरोना से हुई। इसे मिलाकर राज्य में कुल माैताें की संख्या 4,415 तक पहुंच गई।

वहीं कोरोना के कुल मामले 2,73,386 हाे गई है। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार रविवार काे कुल 459 मरीज ठीक हुए। इसे मिलाकर राज्य में अबतक 2,65,831 लाेग रिकवर हाे चुके हैं। रविवार काे वडोदरा में 82, राजकाेट में 70, भावनगर में 16, आणंद में 14, जामनगर में 13, महेसाणा में एक और कच्छ में काेराेना के 10 नए मामले सामने अाए हैं। राज्य में वर्तमान में कुल सक्रिय मरीजों की संख्या 3,140 है। राज्य में अभी कुल 46 लोग वेंटिलेटर पर हैं।

राज्य में 14 लाख से ज्यादा को मिल चुकी पहली डोज

रविवार काे कुल 45,974 लाेगाें काे काेराेना के वैक्सीन की डाेज दी गई। इनमें 60 साल से ऊपर के लाेगाें की संख्या 33,703 है। राज्य में अबतक 14,09,244 लाेगाें काे काेराेना वैक्सीन की पहली डाेज, जबकि 3,41,437 लाेगाें काे वैक्सीन की दूसरी डाेज मिल चुकी है। गौरतलब है कि राज्य में 25 फरवरी से काेविड-19 के मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। 25 फरवरी काे राज्य में एक दिन में 424 मरीज मिले थे। अब यह 600 के करीब है।

प्रदेश में कोरोना मरीजों के रिकवरी रेट में भी गिरावट

गुजरात में एक ओर कोविड-19 के मामलों की संख्या लगातार बढ़ रही है, वहीं दूसरी ओर रिकवरी रेट में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। गौरतलब है कि कुल मरीजों की संख्या की तुलना में कुल ठीक हुए मरीजों की संख्या में गिरावट 25 फरवरी से ही दर्ज की जा रही है।

24 फरवरी को राज्य में रिकवरी रेट 97.66 प्रतिशत थी जबकि 1 मार्च को रिकवरी रेट 97.47 प्रतिशत थी। अब सात दिन में यानी 7 मार्च को घटकर यह केवल 97.23 प्रतिशत रह गई है।

खबरें और भी हैं...