श्री सोमोलाई मंदिर में शरद पूर्णिमा कार्यक्रम 20 को:घोड़ दौड़ रोड से निकलेगी निशान यात्रा, हनुमान चालीसा-आरती होगी

सूरत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रिंग रोड पर स्थित श्री सोमोलाई हनुमान मंदिर में 20 अक्टूबर को शरद पूर्णिमा कार्यक्रम सरकारी गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए धूमधाम से मनाया जाएगा। मंदिर ट्रस्ट के प्रवक्ता ने बताया कि कार्यक्रम की शुरुआत बुधवार, 20 अक्टूबर को सुबह 7 बजे पोद्दार एवेन्यु घोड़ दौड़ रोड पर बालाजी के दरबार के समक्ष निशान पूजन व ज्योत प्रज्जवलन से होगी।

इसके बाद हनुमान चालीसा का पाठ और आरती होगी। 8 बजे सैकड़ों भक्त निशान के साथ भजन गाते हुए मुख्य मार्ग से होते हुए सोमोलाई हनुमान मंदिर की ओर रवाना होंगे। यात्रा घोड़ दौड़ रोड से टर्निंग पाॅइंट, गजूरा गेट होते हुए रिंग रोड से मंदिर तक जाएगी। भक्त सिद्धपीठ सोमोलाई बालाजी के चरणों में अपनी मनोकामना पूर्व होने के लिए निशान अर्पण करेंगे और बालाजी महाराज का आशीर्वाद लेंगे। ट्रस्ट की ओर से मंदिर परिसर में भक्तों के लिए महाप्रसाद की व्यवस्था की गई है।

भजन संध्या: पवन मुरारका और राजू गाडोदिया भजनों से बालाजी को रिझाएंगे
मंदिर परिसर में भजन संध्या का आयाेजन किया जाएगा। स्थानीय गायक पवन मुरारका और राजू गाडोदिया भजनों से बालाजी को रिझाएंगे। आधी रात के बाद शरद विशेष खीर का प्रसाद बालाजी महाराज का भोग लगाकर भक्तों में वितरित किया जाएगा। ऐसी मान्यता है कि शरद पूर्णिमा को रात में चंद्रमा की रोशनी में नीचे रखी खीर बालाजी को भोग लगाने के बाद अमृत तुल्य हो जाती है। कार्यक्रम को धूमधाम से मनाने के लिए ट्रस्ट के कार्यकर्ता जोर शोर से लगे हुए हैं। संपूर्ण मंदिर परिसर को फूलों से सजाया जाएगा व छप्पन भोग लगाया जाएगा। श्री सोमोलाई मंदिर ट्रस्ट ने कार्यक्रम में शामिल होने वाले सभी भक्तों से कार्यक्रम में मास्क लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील की है।

खबरें और भी हैं...