​​​​​​​श्रेष्ठ कार्य:विश्व में वर्ष 2020 के शीर्षस्थ दानदाताओं की सूची में नीता अंबानी एकमात्र भारतीय

अहमदाबाद2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रिलायंस फाउंडेशन की फाउंडर चेयरपर्सन नीता अंबानी - Dainik Bhaskar
रिलायंस फाउंडेशन की फाउंडर चेयरपर्सन नीता अंबानी
  • अमेरिका की टाउन एंड कंट्री मैगजीन का सर्वेक्षण
  • कोरोना काल में लोगों को मदद पहुंचाने का अनोखा कार्य किया

अमेरिका की प्रमुख पत्रिका टाउन एंड कंट्री के समर इश्यू में वर्ष 2020 के शीर्ष परोपकारी लोगों की सूची में रिलायंस फाउंडेशन की चेयरमैन नीता अंबानी को शामिल किया गया है। उन्हें कोरोना काल में लोगों की जान बचाने और लोगों के लिए आशा की किरण बनने के लिए इस सूची में शामिल किया गया है।

नीता के कार्यों की सराहना
पत्रिका ने नीता अंबानी के काम की सराहना की गई है। इस काम में कोरोना वारियर्स के माध्यम से गरीबों तक भोजन पहुंचाना, वित्तीय सहायता प्रदान करना और भारत की पहली कोविड-19 अस्पताल के निर्माण के लिए महत्वपूर्ण योगदान शामिल था। टिम कुक, ओप्रा विनफ्रे, लॉरेन पॉवेल जॉब्स, द लॉउडर फैमिली, डोनेटेला वर्सेस, माइकल ब्लूमबर्ग, लियोनार्डो डी कैप्रियो और अन्य के साथ नीता अंबानी को इस सूची में शामिल किया गया है। इस सूची में नीता एकमात्र भारतीय हैं। 

विशाल हृदय का परिचय देने वाले
टाउन एंड कंट्री अमेरिका की प्रमुख लाइफ स्टाइल मैगजीन है और 1846 से लगातार प्रकाशित सबसे पुरानी पत्रिका है। यह पत्रिका हर साल एक अंक उन लोगों को समर्पित करती है, जो अपने समर्पण, कौशल और विशाल हृदय का परिचय देकर मानव समाज के लिए महान कार्य करते हुए खुले मन से दान करते हैं। पत्रिका में कहा गया है कि इस समय ऐतिहासिक स्थिति के मद्देनजर इस वर्ष का विशेष महत्व है और इन लोगों ने इंसानों के जीवन और हमारे आशावाद को जीवंत रखा है।

पीड़ितों तक बहुत जल्दी पहुंचते हैं
पत्रिका ने लिखा है- "हमने कई बार देखा है कि चाहे वह आतंकवादी हमला हो, भयानक त्रासदी हो या फिर कोई लोमहर्षक घटना, उदार दिल वाले ये लोग पीड़ितों तक बहुत तेजी से पहुंच जाते हैं।" उनकी निपुणता और जवाबदेही उन्हें एक अद्वितीय परोपकारी मानव बनाती है। उनका परोपकार ऐसे कठिन समय में लोगों के लिए एक महत्वपूर्ण कारक बना हुआ है।

देश की पहली कोविड-19 अस्पताल तैयार की
नीता अंबानी और फाउंडेशन के प्रयासों की सराहना करते हुए मैगजीन ने लिखा है-"रिलायंस इंडस्ट्रीज की एक जनहितैषी पहल करने वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज की संस्थापक और अध्यक्ष, नीता अंबानी ने इस महामारी से लाखों गरीब लोगों को भोजन और मास्क वितरित किए। यही नहीं इमरजेंसी फंड में में भी 72 मिलियन अमेरिकी डॉलर का योगदान दिया। ”

क्या कहा नीता अंबानी ने
इस संबंध में रिलायंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन नीता अंबानी ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, "संकट में हमेशा तत्काल और सही समय पर उठाए गए कदम, राहत, संसाधन, चपलता और सबसे महत्वपूर्ण करुणा की आवश्यकता होती है। हमने इतने बरसों के अनुभव से हमने फाउंडेशन तथा रिलायंस इंडस्ट्रीज ने इस महामारी में परोपकार की भावना हमारी सरकार और हमारे समाज को जरूरत पड़ने पर आगे बढ़ने में मदद करने के लिए समर्पित है। 

नीता के नेतृत्व में रिलायंस फाउंडेशन 
नीता अंबानी के नेतृत्व वाले रिलायंस फाउंडेशन ने देश में स्वास्थ्य और मानवता के मोर्चे पर संकट से लड़ने के लिए कोविड-19 महामारी में किए गए उनके प्रयासों की सराहना की है। मार्च में केवल दो सप्ताह में उन्होंने स्थानीय प्रशासन के सहयोग से मुंबई में 100-बिस्तर वाला कोविड अस्पताल स्थापित किया। जहां मार्च के अंत तक कोरोना के रोगियों की भर्ती शुरू हो गई थी। यही अस्पताल अप्रैल तक 220-बिस्तर वाला बन गया। रिलायंस फ़ाउंडेशन ने लाखों लोगों की आजीविका पर मंडरा रहे मानवीय संकट को दूर करने के लिए देश भर में पांच करोड़ लोगों तक भोजन पहुंचाने का एक कठिन कार्य किया है। 

अन्य कई सहायता कार्य
रिलायंस फाउंडेशन ने लोगों को ऑनलाइन चिकित्सा सहायता, मुंबई में कोरोना रोगियों के लिए होम क्वारेंटाइन सुविधा, ग्रामीण लोगों को सहायता, देश भर में पालतू जानवरों और बेसहारा पशुओं के लिए चिकित्सा सहायता प्रदान करने के अपने कस्टम प्रयासों को जारी रखा है। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने मास्क और पीपीई किट का उत्पादन भी शुरू कर दिया है और महामारी से लड़ने के लिए आवश्यक उपकरणों के उत्पादन में देश को आत्मनिर्भर बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।