पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • ISI Connection In Conspiracy To Burn Shops In Ahmedabad, Execution Carried Out In Karachi While Sitting, Three Arrested

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी की साजिश:अहमदाबाद में दुकानें जलाने के षड्यंत्र में था ISI का कनेक्शन; कराची में बैठकर वारदात को दिया गया अंजाम, तीन गिरफ्तार

अहमदाबाद10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी फेसबुक पेज के जरिए आया थ� - Dainik Bhaskar
आरोपी फेसबुक पेज के जरिए आया थ�

अहमदाबाद के कालूपुर रेवड़ी बाजार में 20 मार्च को पांच दुकानों में लगी आग के मामले में आतंकी साजिश का पर्दाफाश हुआ है। अहमदाबाद क्राइम ब्रांच इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान अनिल, अंकित और प्रवीण के तौर पर हुई है। क्राइम ब्रांच का दावा है कि इस मामले में पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI शामिल है।

जांच में सामने आया है कि ISI ने इस बार जरूरतमंद लोगों को डिजिटल प्लेटफार्म पर फंसा कर आतंकी कृत्य को अंजाम दिया है। बाजारों में महंगी दुकानों को आग लगाने का मकसद आर्थिक नुकसान पहुंचाना था।

गैंगेस्टर हाजी मस्तान की की फोटो के साथ राजा भाई कंपनी नाम से बनाया गया था फेसबुक पेज।
गैंगेस्टर हाजी मस्तान की की फोटो के साथ राजा भाई कंपनी नाम से बनाया गया था फेसबुक पेज।

जांच में ये भी सामने आया है कि आरोपियों को इसकी भी भनक नहीं थी कि वे ISI से जुड़े हुए थे। मार्च 2020 में लॉकडाउन हुआ जिसके बाद घर बैठे कई लोग सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने लगे। कई लोगों की नौकरी छूट गई थी। ऐसे में इस मजबूरी का फायदा उठाते हुए पाकिस्तान की ISI भी अपने सॉफ्ट टार्गेट का पता लगाने एक्टिव हो गई। उस समय विश्व के अलग-अलग देशों के सर्वर का इस्तेमाल कर ISI के एजेंट बनाने के लिए पूरी टीम इस काम में जुट गई थी।

अहमदाबाद के भूपेंद्र को फंसाकर काम को अंजाम दिया
इसके लिए हाजी मस्तान के फोटो के साथ राजाभाई कंपनी के नाम का फेसबुक पेज बनाया गया था। इस पेज पर हैंडलर हथियार और अपराधों के बारे में ही बातचीत होती थी। जिसमें अनेक लोग लाइ्क करने लगे थे। इस पेज को अहमदाबाद के भूपेंद्र उर्फ प्रवीण अनंदभाई वणजारा ने पेज लाइक किया था। क्राइम ब्रांच के DCP चैतन्य मंडलीक ने भास्कर को बताया कि इस पेज पर भूपेंद्र के साथ ISI हैंडलर बातचीत करते थे और उसे रुपयों की जरूरत थी। इसके लिए उसने सॉफ्ट टार्गेट लोगों की जिसमें भूपेंद्र फंस गया था। भूपेंद्र को हैंडलर का काम करने के लिए डेढ़ लाख रुपए दिए जाने वाले थे।

रुपए लेकर भूपेंद्र ने ही दुकान को आग लगाई थी
भूपेंद्र के साथ जुड़े व्यक्ति ने रुपए देने के बाद कहा कि आपको एक काम करना है और जिसके लिए रुपए आपको दिए जाएंगे। यह काम रेवडी बाजार की दुकानों में आग लगाने का था। बेरोजगारी के कारण भूपेंद्र तैयार हो गया था। इसके बाद उसने रेवडी बणजारा की कई दुकानों को आग लगा दी थी। पुलिस ने CCTV और बाइक के नंबरों के आधार पर जांच की तो भूपेंद्र तक पहुंच गई और इसके बाद उसे गिरफ्तार किया गया। इस संपूर्ण घटना में रुपए कहां से आए ? इसकी जांच करने पर पहले मुंबई और उसके बाद दुबई और उसके आगे कांगो से रुपए हवाला के जरिए प्राप्त हुए थे। पुलिस ने VPN और VOIP सिस्टम में कड़ी प्राप्त कर दो दिनों के भीतर ISI के संपूर्ण षडयंत्र की जानकारी प्राप्त कर ली।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

और पढ़ें