पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • People Put Their Deposits, Now The Office Is Locked, The Accused Absconded With Lakhs Of Rupees

रॉयल व्यू कंपनी ने पैसे डबल करने का दिया झांसा:लोगों ने अपनी जमा पूंजी लगा दी, अब दफ्तर पर ताला, आरोपी लाखों रुपए लेकर हुआ फरार

सूरत23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लेन-देन के लिए कंपनी की ओर से ये कार्ड जारी किए गए थे। - Dainik Bhaskar
लेन-देन के लिए कंपनी की ओर से ये कार्ड जारी किए गए थे।
  • अंदेशा- और भी लोग हो सकते हैं शिकार, करोड़ों रुपए की ठगी का हो सकता है खुलासा
  • सरथाणा थाने में 15 लोग अब तक दर्ज करवा चुके हैं मामला

पैसे को डबल करने की स्कीम का लालच देकर देकर लाखों रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। यह ठगी रॉयल व्यू एके ग्रुप नाम की कंपनी की तरफ से की गई है। लोगों ने बिना सोचे-समझे इस स्कीम में फंसकर लाखों रुपए निवेश कर दिए। इसके बाद यह कंपनी अपने दफ्तर में ताला लगाकर फरार हो गई।

धोखाधड़ी का पता चलने पर बुधवार को 15 लोगों ने सरथाणा थाने में मामला दर्ज करवाया है। फिलहाल इस मामले की जांच इकोनॉमिक सेल को सौंप दी गई है। लोगों के अनुसार कंपनी की ओर से कई सारे लुभावने ऑफर दिए गए। सिर्फ पैसे डबल ही नहीं थाईलैंड और बैंकॉक का सैर कराने का भी लालच दिया गया था।

रॉयल व्यू के संचालक अल्पेश कीडेचा ने लेस-पट्टी का काम करने वाले से लेकर अलग-अलग मजदूरों और कर्मचारियों को पैसे डबल करने का लाचच देकर अपने जाल में फंसाया। कई लोगाें ने अपनी मेहनत की जमा की पूंजी इसमें इन्वेस्ट भी कर दिए थे। लोगों को कोई शक न हो इसलिए योगी चौक में एक दफ्तर भी खोला गया था। अब दफ्तर बंद होने के बाद लोग खुद को ठगा हुआ सा महसूस कर रहे हैं।

जितने पैसे निवेश करोगे उतना मोटा मुनाफा मिलेगा: आरोपी

शिकायतकर्ता ललित वघासिया ने बताया कि आरोपी लोगों से 100000 से लेकर 500000 रुपए तक निवेश करने को कहता था। अल्पेश बताता था कि जितना माेटा पैसा जमा करोगे उतना ही मुनाफा होगा। स्कीम पैसे डबल करने से लेकर और कई तरह के थे।

ललित के अनुसार कुछ लोगों को शुरुआत में 1 से 2 महीने पैसे लौटाए भी गए थे। इससे लोगों का भरोसा और बढ़ गया और कई लाेगों ने अपने जान-पहचान वालों से भी पैसे जमा करवा दिए। शिकायत करने वाले 15 लोगों के मुताबिक 34 लाख रुपए जमा करवाए गए हैं।

बड़े-बड़े होटलों में लड़कियों से निवेश की जानकारी दिलवाता

शिकायतकर्ता ने पुलिस को बताया कि आरोपी लोगों को लालच देने के लिए और अपना वर्चस्व दिखाने के लिए तरह तरह के हथकंडे अपनाता था। वह शहर की अलग-अलग होटलों में या फिर शहर के बाहर भी किसी बड़ी जगह पर लड़कियों के जरिए निवेश की जानकारी दिलवाता था। इसके पीछे काफी पैसे भी खर्च करता था, इससे लोगों को उस पर भरोसा बढ़ने लगा था। इस वजह से पहले इन्वेस्ट कर चुके लोगों ने अपने जान-पहचान के लोगों से भी इन्वेस्ट करवाया और सब के सब फंस गए।

कंपनी के कर्मचारियों को भी फंसाकर भाग गया

आरोपी अल्पेश उसके यहां काम करने वाले कर्मचारियों से भी ग्राहकों को लाने के लिए कहता था। एके ग्रुप में अकाउंटेंट के पद पर काम करने वाले मनीष मोदी ने बताया कि अल्पेश के कहने पर अपने दाेस्तों से 500000 रुपए निवेश करवाया था। वर्ष 2020 में लॉकडाउन के बाद उसने कंपनी बंद कर दी। जब इसकी जानकारी इन्वेस्ट करने वाले उसके दोस्तों को हुई तो अब वह मुझसे पैसे मांग रहे हैं। मनीष ने बताया कि अब मुझे पैसे चुकाने पड़ रहे हैं।

पैसे नहीं मिलने पर एक आत्महत्या भी कर चुका है

21 जनवरी 2021 को निलेश बाबू भाई गंगानी ने अंकलेश्वर की एक होटल में आत्महत्या कर ली थी। उनके भाई हरेश गंगानी बताते हैं कि जब मोबाइल चेक किया तो उस पर सुसाइड नोट मिला। इसमें लिखा गया था कि 19 लाख रुपए रॉयल व्यू एके कंपनी के मालिक अल्पेश के पास से लेने हैं, लेकिन देने से मना कर रहा है। इसलिए आत्महत्या कर रहा हूं। कई बार अंकलेश्वर थाने में मामला दर्ज करवाने की कोशिश की गई लेकिन वहां उनकी नहीं सुनी गई।

खबरें और भी हैं...