पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Protests In Many Places Regarding Violence Against Doctors, Demand For Implementation Of Center's Rule

विरोध प्रदर्शन:डॉक्टरों के खिलाफ हिंसा को लेकर कई जगह प्रोटेस्ट, केंद्र के नियम को लागू करने की मांग

सूरत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, सूरत और जूनियर डॉक्टर्स एसोसिएशन, सूरत के डॉक्टरों ने शुक्रवार को शहर के अलग-अलग जगहों पर अपनी मांग को लेकर प्रोटेस्ट किया। डॉक्टरों की मांग है कि केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए नियम को राज्य सरकार भी लागू करे।

केंद्र सरकार में डॉक्टरों के खिलाफ वायलेंस करने के मामले में 10 साल की सजा और गैर जमानती नियम बनाए गए हैं, जबकि गुजरात राज्य सरकार में 7 साल की सजा का प्रावधान है और वायलेंस करने वाले को बेल भी मिलने का प्रावधान है। इसी मांग को लेकर डॉक्टरों का कहना है कि पूरे देश में केंद्र सरकार के द्वारा बनाए गए नियम का ही पालन हो।

डॉक्टर पारुल वडगामा ने बताया कि केंद्र सरकार के नियम में 10 साल की सजा और गैर जमानती नियम बनाए गए हैं, जबकि राज्य सरकार का अपना नियम है। हमारी मांग है कि डॉक्टरों के खिलाफ हो रहे हिंसा को रोकने के लिए सख्त नियम बनाए जाएं। इसीलिए केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए नियम को पूरे देश में लागू किया जाए।

शुक्रवार को सुबह 10:30 बजे सिविल अस्पताल और 11:30 बजे स्मीमेर अस्पताल के साथ अन्य कई जगहों पर डॉक्टरों ने काले कपड़े पहनकर अपनी मांग रखी। बता दें कि कई बार इलाज के दौरान मरीज के परिजन डॉक्टरों पर हमला कर देते हैं। इसी हमले से परेशान डॉक्टर निजात पाना चाहते हैं। सूरत में इस साल तो डॉक्टर पर हमले का कोई मामला नहीं आया, पर बीते साल दो से तीन मामले डॉक्टरों पर हमले किए गए थे।

खबरें और भी हैं...