• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Railway Did Not Listen To Minister Darshana's Announcement 4 Days Ago, Did Not Give Halt To Duronto, Passengers Said Do Not Make False Promises

फिर अनदेखी:मंत्री दर्शना की 4 दिन पहले की घोषणा रेलवे ने नहीं सुनी, दुरंतो को नहीं दिया हॉल्ट, यात्री बोले- झूठे वादे मत करो

सूरतएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहले रेल राज्य मंत्री के कहने पर महुआ ट्रेन को नियमित नहीं किया था, अब दुरंतो को हाॅल्ट नहीं

सूरत की सांसद दर्शना जरदोष देश की रेल राज्यमंत्री हैं, लेकिन रेलवे ही इनकी नहीं सुन रही है। दर्शना ने सूरत स्टेशन पर 26 सितंबर से 02284 हजरत निजामुद्दीन-एर्नाकुलम दुरंतो के हाॅल्ट की घोषणा 22 सितंबर को की थी, लेकिन रेलवे ने सूरत से न तो इसकी बुकिंग की और न ही हाॅल्ट दिया। यही नहीं सूरत में इस ट्रेन का शेड्यूल भी तय कर दिया था। इसमें कहा गया था कि दुरंतो एक्सप्रेस का 26 सितंबर से हर रविवार सुबह 11.27 बजे सूरत स्टेशन पर ठहराव होगा।

यह दूसरी बार है जब रेलवे ने रेल राज्यमंत्री की घोषणा को गलत साबित कर दिया। इससे पहले भी दर्शना के कहने पर रेलवे ने सूरत-महुआ ट्रेन को नियमित नहीं किया था। दर्शना का कहना है कि 26 सितंबर को हमने दुरंतो के हाॅल्ट की जानकारी साझा की थी, लेकिन इस दिन एक अन्य स्पेशल ट्रेन को ठहराव देने के लिए इसे हाॅल्ट नहीं मिला।

दूसरी तरफ दुरंतो से जाने के लिए कई यात्री करंट बुकिंग करवाने पहुंच गए, लेकिन उन्हें कहा गया कि अभी इस ट्रेन के हाॅल्ट के बारे में आदेश नहीं आया है। रविवार को यह ट्रेन सूरत स्टेशन पर रुकी तो रेलवे ने घोषणा कर कहा- दुरंतो का यह टेक्निकल हॉल्ट है, इसलिए यात्री इसमें न बैठें। उसके 2 मिनट बाद ट्रेन रवाना हो गई।

करंट टिकट लेने पहुंच गए थे यात्री
हजरत निजामुद्दीन-एर्नाकुलम दुरंतो का करंट टिकट लेने के लिए कई यात्री करंट बुकिंग काउंटर पर पहुंच गए थे। काउंटर पर उन्हें बताया गया कि इस दुरंतो ट्रेन का अभी बुकिंग लिस्ट में नाम ही नहीं है, इसलिए टिकट नहीं मिल सकता। उसके बाद यात्रियों ने रेल राज्यमंत्री का वह पत्र दिखाया, जिसमें इस ट्रेन के हाॅल्ट का उल्लेख था। यात्रियों ने ट्वीट करके रेल राज्यमंत्री को टैग किया। कुछ यात्रियों ने कहा कि झूठे वादे मत कीजिए, ट्रेन को रुकवाइए।

रेल अधिकारी बोले- हमारे पास कोई आदेश नहीं आया है
सूरत स्टेशन पर दुरंतो ट्रेन के ठहराव को लेकर जब रेलवे के वाणिज्य विभाग के अधिकारियों से जानकारी मांगी गई तो उन्होंने कहा कि अभी रेलवे बोर्ड से इसकी बुकिंग का हमें कोई आदेश नहीं आया है। हमारे पास ऐसा कोई पत्र नहीं है। उन्होंने बताया कि 26 सितंबर को यह दुरंतो टेक्निकल हॉल्ट के तौर पर रुकी थी। यह कमर्शियल हॉल्ट नहीं है। आदेश आते ही बुकिंग शुरू कर देंगे।

झारखंड के सांसद ने अपने तीन ट्रेनों को हाॅल्ट दिलाया
एक तरफ जहां रेल राज्य मंत्री दर्शना जरदोष के कहने के बावजूद 26 सितंबर को दुरंतो ट्रेन का ठहराव नहीं हुआ तो दूसरी तरफ इसी दिन झारखंड के सांसद निशिकांत दुबे ने वनांचल एक्सप्रेस को गोड्डा तक, अहमदाबाद-बरौनी को मधुपुर के रास्ते आसनसोल तक विस्तारित कराकर हरी झंडी दिखाई। इसके अलावा जसीडीह से पुणे और गोवा के लिए भी नई ट्रेनों को हरी झंडी दिखाई।

22 सितंबर को मंत्री ने ये कहा था
रेल राज्यमंत्री दर्शना जरदोष ने 22 सितंबर को कहा था कि बोर्ड को निर्देश दिया है, सूरत स्टेशन पर एर्नाकुलम-निजामुद्दीन दुरंतो को 26 सितंबर से ठहराव मिलेगा। इस शेड्यूल भी जारी कर दिया गया था, जिसके अनुसार 02284 निजामुद्दीन-एर्नाकुलम दुरंतो एक्सप्रेस 26 सितंबर से हर रविवार सुबह 11.27 बजे सूरत पहुंचेगी और यहां से सुबह 11.30 बजे रवाना होगी। वापसी में 02283 दुरंतो 30 सितंबर से बुध-गुरुवार की मध्य रात्रि 2.57 पहुंचेगी

सूरत स्टेशन पर एर्नाकुलम-हजरत निजामुद्दीन एक्सप्रेस का टेक्निकल हॉल्ट हुआ था। अब इसे कमर्शियली रुकना था या नहीं इसकी जानकारी हमें नहीं है। कमर्शियल विभाग को निर्देश मिलने के बाद बुकिंग शुरू करनी होती है। -शैलेंद्र कुमार, मुख्य परिचालन प्रबंधक, पश्चिम रेलवे

खबरें और भी हैं...