पटरी पर ट्रेन / नियमित ट्रेनें शुरू, सूरत से ताप्ती गंगा के साथ कर्णावती, पश्चिम एक्स. से गए 2300 यात्री

सूरत स्टेशन पर ट्रेन पकड़ने जाती बुजुर्ग महिला। सूरत स्टेशन पर ट्रेन पकड़ने जाती बुजुर्ग महिला।
X
सूरत स्टेशन पर ट्रेन पकड़ने जाती बुजुर्ग महिला।सूरत स्टेशन पर ट्रेन पकड़ने जाती बुजुर्ग महिला।

  • 2 घंटे पहले यात्री पहुंचे स्टेशन, सिर्फ कंफर्म टिकट वाले ही जा सके

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 07:28 AM IST

सूरत. 1 जून पर देशभर में 200 ट्रेनों का संचालन शुरू हो गया। सूरत रेलवे स्टेशन से सुबह 9:55 बजे ताप्ती गंगा एक्सप्रेस विशेष नंबर 09045 के साथ रवाना हुई। इसके अलावा अहमदाबाद से आने वाले कर्णावती, मुंबई से चलने वाली पश्चिम एक्सप्रेस को सूरत स्टेशन पर हाॅल्ट मिला। इन ट्रेनों से सूरत से 2300 से ज्यादा यात्री गए। अकेले ताप्ती गंगा में 1500 यात्री रवाना हुए। ताप्ती गंगा एक्सप्रेस के लिए यात्रियों को 90 मिनट पहले स्टेशन पहुंचने को कहा गया था। यात्री सुबह 7:30 बजे से आना शुरू हो गए थे। यात्रियों के लिए सिर्फ मुख्य प्रवेश द्वार खोला गया था।

अन्य एंट्री-एग्जिट गेट बंद कर दिए गए थे। हेल्थ जांच के लिए मनपा स्वास्थ्य विभाग के भी कर्मचारी सूरत स्टेशन पर आए थे। यात्री 2 घंटे पहले स्टेशन पहुंच गए थे। थर्मल स्क्रीनिंग और टिकट की जांच करने के बाद सोशल डिस्टेंसिंग के तहत उन्हें उनके कोच तक पहुंचाया गया। कोच के अंदर सीट टू सीट  उन्हें बैठाया गया। जनरल कोच में आम दिनों से अलग दृश्य था। पहली बार जनरल कोच की सीटों का भी आरक्षण हुआ था। सीटिंग पैटर्न पर यात्रियों को बर्थ अलॉट की गई थी। ताप्ती गंगा हफ्ते में मंगलवार और शनिवार को छोड़कर बाकी 5 दिन चलेगी।

यात्री बोले- सही समय पर चली ताप्ती गंगा, खाने की दिक्कत नहीं
ताप्ती गंगा एक्सप्रेस से सफर कर रहे यात्री सभापति चौहान ने बताया सूरत से निकलने के बाद ट्रेन अपने समयानुसार चली। रास्ते में कहीं भी लेट नहीं हुई। ट्रेन के अंदर भीड़ बिल्कुल नहीं थी। जिन स्टेशनों पर ठहराव था, वहां खानपान संबंधी किसी प्रकार की समस्या नहीं हुई। रेगुलर ट्रेनें चलने से श्रमिक ट्रेनों पर यात्रियों की निर्भरता कम हुई। 1 जून से शुरू हुई रेगुलर ट्रेनों की बुकिंग आगामी 15 दिनों तक फुल है। ताप्ती गंगा की सबसे ज्यादा मांग है।

श्रमिक स्पेशल: सोमवार को नहीं रवाना हुई एक भी ट्रेन 
सोमवार को सूरत से एक भी श्रमिक ट्रेन नहीं चली। कलेक्टर के पास अब श्रमिक ट्रेनों के अावेदन अाने बंद हो चुके हैं। उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड के लिए पहले से ही श्रमिक स्पेशल ट्रेन बंद हो चुकी हैं। ओडिशा और पश्चिम बंगाल की श्रमिक ट्रेनें चल रही थीं, लेकिन अब इनके भी यात्री नहीं मिल रहे हैं। मंगलवार को भी किसी श्रमिक स्पेशल ट्रेन का अावेदन नहीं मिला है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना