पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सिंडीकेट बैठक:यूनिवर्सिटी में इसी माह खुल सकती है RTPCR लैब, जांच होगी आसान

सूरत13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अभी प्रवेश बंद: क्रमश: रद्द की जाएगी कॉलेज की मान्यता - Dainik Bhaskar
अभी प्रवेश बंद: क्रमश: रद्द की जाएगी कॉलेज की मान्यता
  • नकल कराने वाले कॉलेज की मान्यता रद्द

वीर नर्मद दक्षिण गुजरात यूनिवर्सिटी के नवनियुक्त कुलपति किशोर चावड़ा ने मंगलवार को सिंडीकेट की ऑनलाइन बैठक बुलाई। इसमें दो महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। पहला निर्णय यूनिवर्सिटी में आरटीपीसीआर लैब बनाने और दूसरा सामूहिक नकल में काॅलेज की मान्यता रद्द करने का है। राज्य सरकार के आदेश के अनुसार यूनिवर्सिटी में आरटीपीसीआर टेस्ट की व्यवस्था होगी।

इसमें सिविल से आने वाले सैंपल की जांच होगी। 18.80 लाख रुपए की मशीनरी खरीदी जाएगी। इसे बायो साइंस विभाग में लगाया जाएगा। इसके अलावा नकल करते पकड़े गए छात्रों के मुद्दे पर भी निर्णय लिया गया। जनवरी में नकल करते पकड़े गए छात्रों की सजा के मुद्दे पर चर्चा की गई।

छात्रों को फैक्ट कमेटी ने जो सजा सुनाई है सभी सिंडीकेट सदस्यों ने उसे मान्य किया। जनवरी से मार्च तक हुई परीक्षा में 200 से ज्यादा छात्र नकल करते पकड़े गए थे। इन सभी छात्रों को 500 जुर्माना और एक विषय में मार्क्स जीरो करने की सजा सुनाई गई थी।

अभी प्रवेश बंद: क्रमश: रद्द की जाएगी कॉलेज की मान्यता

यूनिवर्सिटी की सिंडीकेट की ऑनलाइन बैठक में वडोदरा के संखेड़ा के बीआरएस कॉलेज की मान्यता रद्द करने का निर्णय लिया गया। इस काॅलेज में 25 छात्र सामूहिक नकल करते हुए पकड़े गए थे। नकल के मामले में छात्रों को क्या सजा देनी है इस बारे में उनका और काॅलेज का पक्ष ऑनलाइन लिया जाएगा।

बीआरएस कॉलेज की मान्यता क्रमशः रद्द की जाएगी। अभी एडमिशन पूरी तरह बंद कर दिया गया है। उसके बाद जैसे-जैसे छात्रों का कोर्स कंप्लीट होता जाएगा वैसे-वैसे विभाग बंद कर दिए जाएं। सिंडिकेट ने मान्यता रद्द करने का प्रस्ताव पास कर दिया गया है।

नकल में एक के मामले में एक वर्ष में यह तीसरा ऐसा मामला है जब किसी कॉलेज के खिलाफ गंभीर कार्रवाई की गई। इससे पहले वरियाव कॉलेज की मान्यता रद्द की गई थी। इसके अलावा नर्मदा कॉलेज के खिलाफ मामला दर्ज करवाया गया था।

नकल के मामले में 5 छात्रों को निर्दोष छोड़ दिया

दो वर्ष में ऐसा पहली बार हुआ है जब यूनिवर्सिटी की फैक्ट कमेटी ने नकल के मामले में पकड़े गए पांच छात्रों को निर्दोष छोड़ दिया। इन छात्रों के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले थे। सिंडिकेट ने छात्रों को निर्दोष छोड़ने के फैक्ट कमेटी के निर्णय पर मुहर लगा दी।

कुलपति किशोर चावड़ा ने कहा कि यूनिवर्सिटी में टेक्नोलॉजी को बढ़ाया जाएगा। सभी सिंडीकेट सदस्य ज्यादा से ज्यादा टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करें और पारदर्शी प्रवेश परीक्षा के साथ परिणाम में भी यूनिवर्सिटी की मदद करें।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें