पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Saurashtra Suffering From Heavy Rains And Floods, CM Bhupendra Patel Will Visit The Flood Affected Areas

15 फोटो में देखें गुजरात में बाढ़ का कहर:भारी बारिश-बाढ़ से राजकोट, जामनगर, जूनागढ़ का हाल बेहाल, बाढ़ प्रभावित इलाकों का आज दौरा करेंगे सीएम भूपेंद्र पटेल

जामनगर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जामनगर-अमरेली-राजकोट-जूनागढ़ में भारी बारिश से 173 गांव प्रभावित हुए हैं। - Dainik Bhaskar
जामनगर-अमरेली-राजकोट-जूनागढ़ में भारी बारिश से 173 गांव प्रभावित हुए हैं।

गुजरात के जामनगर, राजकोट और जूनागढ़ में भारी बारिश के चलते बाढ़ जैसे स्थिति हो गई है। इससे 173 गांव प्रभावित हुए हैं। जामनगर से तो 35 गांवों का संपर्क ही कट गया है। रेस्क्यू टीमें बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने में जुटी हैं। वहीं, मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने कल शपथ लेने के बाद ही बाढ़ को लेकर इमरजेंसी बैठक बुलाई और राहत और बचाव का काम तेज करने के निर्देश दिए हैं। आज वे सौराष्ट्र के बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करेंगे।

रिहायशी इलाकों में घुसा पानी घरों के अंदर तक पहुंच गया है।
रिहायशी इलाकों में घुसा पानी घरों के अंदर तक पहुंच गया है।

मूसलाधार बारिश से आई बाढ़ से जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। सड़कों पर सैलाब के बीच कारें बह रही हैं, घर-मकान डूब गए हैं, जिससे लोग भूखे-प्यासे छतों पर डेरा डाले हुए हैं। रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए हेलिकॉप्टर तक उतारने पड़े हैं। निचले इलाकों में अब भी हालात भयानक हैं और यहां से लोगों को निकालने का काम जारी है।

भारी बारिश के कारण राजकोट में स्कूल और कॉलेज में आज छुट्टी घोषित कर दी गई है।
भारी बारिश के कारण राजकोट में स्कूल और कॉलेज में आज छुट्टी घोषित कर दी गई है।

जामनगर के 18 बांध ओवरफ्लो
सितंबर के पहले तक जहां सौराष्ट्र में सूखे का खतरा मंडरा रहा था, वहीं अब लगातार बारिश के चलते जामनगर जिले के सभी 18 बांध ओवरफ्लो हो चुके हैं। भारी बारिश के कारण जामनगर और आस-पास के इलाकों में नदियां उफान पर हैं। कई जगह नदियां खतरे का निशान पार कर चुकी हैं। ऐसे में आसपास के लोगों को काफी परेशानी हो रही है। हालात को देखते हुए कई गांवों को अलर्ट किया गया है।

भारी बारिश के कारण जामनगर की सड़कों पर नदियों की तरह पानी बह रहा है।
भारी बारिश के कारण जामनगर की सड़कों पर नदियों की तरह पानी बह रहा है।

18 सितंबर तक बारिश का अलर्ट
बारिश से लगभग पूरे सौराष्ट्र का हाल बेहाल है। वहीं, यहां के सबसे बड़े शहर राजकोट के कई इलाकों में सैलाब ही सैलाब नजर आ रहा है। बाढ़ में फंसे लोगों को निकालने का काम चौबीसों घंटे जारी है। इस बीच मौसम विभाग ने 18 सितंबर तक गुजरात में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

राजकोट जिले में 17 बांध ओवरफ्लो हो गए हैं।
राजकोट जिले में 17 बांध ओवरफ्लो हो गए हैं।

मौसम विभाग के मुताबिक गुजरात के तटीय इलाकों खासकर जामनगर, जूमागढ़, पोरबंदर, द्वारका, ओखा, राजकोट के कई हिस्सों में 40-50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की भी संभावना है। अहमदाबाद में भी हल्की बारिश होने की संभावना व्यक्त की गई है।

निचले इलाकों को अलर्ट किया गया है, क्योंकि बाढ़ का खतरा बढ़ता जा रहा है।
निचले इलाकों को अलर्ट किया गया है, क्योंकि बाढ़ का खतरा बढ़ता जा रहा है।

मछुआरों के लिए भी अलर्ट जारी
मौसम विभाग की ओर से बारिश के अलर्ट के बाद मछुआरों को समंदर में न जाने की सलाह दी गई है। इसके अलावा समंदर में गए सैकड़ों मछुआरों को वापस बुला लिया गया है।

राजकोट के लोधिका तालुका में सोमवार को सुबह छह बजे से शाम 4 बजे के बीच 435 मिलीमीटर बारिश हुई है।
राजकोट के लोधिका तालुका में सोमवार को सुबह छह बजे से शाम 4 बजे के बीच 435 मिलीमीटर बारिश हुई है।
जूनागढ़ की विसावदर तालुका में 364 मिमी और जामनगर के कलावाड़ में 348 मिमी बारिश दर्ज की गई।
जूनागढ़ की विसावदर तालुका में 364 मिमी और जामनगर के कलावाड़ में 348 मिमी बारिश दर्ज की गई।
वायुसेना ने जामनगर जिले के गांवों से हेलिकॉप्टर के जरिए लगभग 20 लोगों को एयरलिफ्ट किया है।
वायुसेना ने जामनगर जिले के गांवों से हेलिकॉप्टर के जरिए लगभग 20 लोगों को एयरलिफ्ट किया है।
भारी बारिश के कारण जामनगर और आस-पास के इलाकों में नदियां उफान पर हैं।
भारी बारिश के कारण जामनगर और आस-पास के इलाकों में नदियां उफान पर हैं।
कई जगह नदियां खतरे का निशान पार कर चुकी हैं। ऐसे में आसपास के लोगों को काफी परेशानी हो रही है।
कई जगह नदियां खतरे का निशान पार कर चुकी हैं। ऐसे में आसपास के लोगों को काफी परेशानी हो रही है।
जामनगर के 58 गांवों की सड़कें भी प्रभावित हुई हैं।
जामनगर के 58 गांवों की सड़कें भी प्रभावित हुई हैं।
IMD ने बुधवार और गुरुवार को 30-40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने और बारिश की चेतावनी दी है।
IMD ने बुधवार और गुरुवार को 30-40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने और बारिश की चेतावनी दी है।
जामनगर के एक इलाके में डूबे घर।
जामनगर के एक इलाके में डूबे घर।
जामनगर के एक गांव का हाल।
जामनगर के एक गांव का हाल।