पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Due To Damage To The Water Line, Now The Sea Plane Will Take Flight From The Riverfront Of Jamalpur Bridge Instead Of Sabarmati Riverfront

अहमदाबाद:पानी की लाइन को नुकसान के चलते अब साबरमती रिवरफ्रंट की जगह जमालपुर ब्रिज के रिवरफ्रंट से उड़ान भरेंगे सी-प्लेन

अहमदाबाद7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो।
  • उद्घाटन अवसर पर सी-प्लेन साबरमती नदी से केवडिया डेम तक का 220 किमी का सफर तय करेंगे
  • अहमदाबाद की साबरमती नदी से केवडिया डेम तक चलने वाले दोनों प्लेन कनाडा से गुजरात आ रहे हैं

देश में पहली बार सी-प्लेन शुरू होने जा रहे हैं, जिसकी शुरुआत गुजरात की साबरमती नदी से हो रही है। गुजरात सरकार ने केंद्र सरकार के निर्देश पर सी-प्लेन प्रोजेक्ट शुरू किया है, जिसका उद्घाटन 31 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। लेकिन, अब अहमदाबाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन के कामकाज के रवैये पर सवाल उठ रहे हैं। सी-प्लेन का जब प्रोजेक्ट पूरा होने वाला है, तब कॉर्पोरेशन द्वारा बताया गया कि जहां से प्लेन उड़ने वाले हैं, वहां से सीवेज लाइन और बारिश के पानी की निकासी की लाइन जाती है। इसके चलते अब सी-प्लेन साबरमती रिवरफ्रंट की जगह जमालपुर ब्रिज के रिवरफ्रंट से उड़ान भरने का तात्कालिक फैसला लेना पड़ गया है।

अहमदाबाद के साबरमती रिवरफ्रंट पर बन रहा था वाटर एरोड्रम।
अहमदाबाद के साबरमती रिवरफ्रंट पर बन रहा था वाटर एरोड्रम।

कनाडा से आने वाले हैं दो प्लेन
अहमदाबाद की साबरमती नदी से केवडिया डेम तक चलने वाले दोनों प्लेन कनाडा से गुजरात आ रहे हैं। स्पाइस जेट द्वारा संचालित होने वाली दो फ्लाइट में दो विदेशी पायलट और दो क्रू-मेंबर रहेंगे। पायलट और क्रू-मेंबर 6 महीनों तक गुजरात में ही रहेंगे और यहां के पायलट को ट्रेनिंग देंगे।

गुजरात की पांच नदियों के लिए पायलट प्रोजेक्ट
गुजरात में नर्मदा, साबरमती, तापी, अंबिका, और पूर्णा जैसी बड़ी नदियों में साल भर पानी रहता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए सी-प्लेन के अलावा इनका उपयोग माल ढुलाई के लिए जलमार्ग के रूप में भी किया जाएगा। इनसे न सिर्फ कम समय में सफर भी हो सकेगा, बल्कि छोटे जहाजों की मदद से बहुत कम समय में माल ढुलाई भी हो सकेगी, जिससे सड़कों पर बढ़ रहे ट्रैफिक को भी कम करने में मदद मिलेगी।

साल 2017 में सी-प्लेन द्वारा साबरमती रिवरफ्रंट से धरोई डैम तक पहुंचे थे पीएम मोदी।
साल 2017 में सी-प्लेन द्वारा साबरमती रिवरफ्रंट से धरोई डैम तक पहुंचे थे पीएम मोदी।

नदियों के जल-मार्गों को नर्मदा कैनाल के नेटवर्क से भी जोड़ा जाएगा
इस योजना में सबसे अहम रोल नर्मदा कैनाल का रहेगा, जो दुनिया की सबसे लंबी क्रांक्रीट कैनाल है। इस कैनाल से कहीं न कहीं ये पांचों नदियां भी जुड़ती हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए नदियों के जल-मार्गों को नर्मदा कैनाल के नेटवर्क से जोड़े जाने की योजना है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें