पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना को मात देने वाले वारियर्स:तीन ऐसे लोगों की कहानियां जो कोरोना से लड़ने का हाैसला देते हैं

सूरत10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
5 दिन पहले पति को खोने वाली निरंजना ने 11 दिन में कोरोना को दी मात - Dainik Bhaskar
5 दिन पहले पति को खोने वाली निरंजना ने 11 दिन में कोरोना को दी मात
  • 5 दिन पहले पति को खोने वाली निरंजना ने 11 दिन में कोरोना को दी मात
  • कोरोना मरीजों के इलाज के दाैरान साैम्या हो गईं थीं संक्रमित, अब ड्यूटी पर लाैटीं
  • ब्लड प्रेशर के मरीज सैयदभाई मोरबिया ऑक्सीजन पर रहे, 17 दिन में ठीक हुए

5 दिन पहले पति को खोने वाली निरंजना ने 11 दिन में कोरोना को दी मात

1. सिविल अस्पताल की रिटायर नर्स 66 वर्षीय निरंजनाबेन ने 11 दिनों में कोरोना को मात दे दी। उनका ठीक होना इसलिए प्रेरक है को उन्होंने 5 दिन पहले ही अपने पति को खो दिया था और 2 दिन पहले उनकी देवरानी की भी मौत हो गई थी। इससे पहले वह ब्रेस्ट कैंसर और गर्भाशय के कैंसर को मात दे चुकी हैं। 21 अप्रैल को संक्रमित हुई थीं।

डिस्चार्ज होने के दाैरान नर्सिंग स्टाफ ने उन्हें शुभकामनाएं दी। तापी जिले के व्यारा राजनगर की निवासी निरंजना बेन ने 30 साल तक उन्होंने सिविल अस्पताल में बताैर नर्स काम किया। प्लेग में उन्होंने मरीजों की सेवा की। उन्होंने 150 से अधिक आदिवासी लड़कियों को नर्सिंग के क्षेत्र में आने के लिए प्रोत्साहित किया। उनका इलाज डॉ. अश्विन वसावा की टीम ने किया।

कोरोना मरीजों के इलाज के दाैरान साैम्या हो गईं थीं संक्रमित, अब ड्यूटी पर लाैटीं

2. अडाजण निवासी डॉ. सौम्या सिविल के कोविड ओपीडी में पीडियाट्रिशियन के तौर पर ड्यूटी करती थीं। वह 17 अप्रैल को पाॅजिटिव हो गईं। उन्होंने वैक्सीन के दोनों डोज ले लिए थे, इसलिए होम आइसोलेशन में ही महज 10 दिनों में ठीक हो गईं। अब वह वापस ड्यूटी पर आ गई हैं। उन्होंने कहा कि वह कहती हैं कि वैक्सीन के कारण मैं जल्दी ठीक हो गई। वैक्सीन लगवाना चाहिए।

ब्लड प्रेशर के मरीज सैयदभाई मोरबिया ऑक्सीजन पर रहे, 17 दिन में ठीक हुए

3. कतारगाम के 40 वर्षीय साड़ी व्यापारी सैयदभाई मोरबिया को तीन साल से ब्लड प्रेशर की बीमारी है। 13 अप्रैल को वह कोरोना पॉजिटिव हो गए थे। गंभीर हालत में उन्हें स्मीमेर अस्पताल में भर्ती कराया गया। 13 से 18 अप्रैल तक 15 लीटर ऑक्सीजन पर थे। तीन दिन बाइपेप पर इलाज चला। बाद में उनके स्वास्थ्य में सुधार होने लगा। उसके बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

    और पढ़ें