पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रेलवे:सूरत-भुसावल 1 मार्च से बहाल, किराया एक्सप्रेस का और चलेगी पैसेंजर की तरह

सूरत3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एक्सप्रेस बनने के बाद भी ये ट्रेन सभी स्टेशनों पर रुकेगी। - Dainik Bhaskar
एक्सप्रेस बनने के बाद भी ये ट्रेन सभी स्टेशनों पर रुकेगी।
  • दो पैसेंजरों में से एक सूरत और दूसरी नंदूरबार से भुसावल तक चलेगी
  • उधना-नंदूरबार मेमो भी जल्द शुरू होगी

लाॅकडाउन से बंद लाेकल ट्रेनाें काे अब ट्रैक पर लाने की तैयारी हाे रही है। धीरे-धीरे पैसेंजर ट्रेनें भी बहाल हो जाएंगी। लॉकडाउन से पहले सूरत-भुसावल के बीच दो पैसेंजर ट्रेनें चलती थी। अब इन दोनों ट्रेनों को एक्सप्रेस बनाकर चलाने की योजना है। इसमें से एक ट्रेन सूरत से भुसावल और दूसरी नंदूरबार से भुसावल तक चलेगी। सूरत-भुसावल को रेलवे ने एक्सप्रेस में कन्वर्ट कर दिया है।

इसे केवल 35 मिनट का स्पीडअप दिया गया है। यानी पैसेंजर ट्रेन अब एक्सप्रेस बनकर चलेगी, पर टाइम टेबल में केवल 35 मिनट का ही अंतर होगा। हालांकि पैसेंजर से एक्सप्रेस होने के बावजूद ये ट्रेन पहले की तरह सभी स्टेशनों पर रुकेगी। फर्क सिर्फ इतना होगा कि पहले यात्री जनरल टिकट लेकर यात्रा करते थे, अब रिजर्वेशन टिकट ही मिलेगा।

सूरत-भुसावल पैसेंजर में कोरोना से पहले जनरल और स्लीपर के दो कोच लगते थे। स्लीपर का किराया 125 रुपए होता था। अब एक्सप्रेस बनने से सूरत से भुसावल तक का किराया 200 रुपए से अधिक होगा। बता दें ताप्ती गंगा एक्सप्रेस का सूरत से भुसावल तक का किराया 225 रुपए है।

सात मार्च से हफ्ते में तीन दिन चलेगी खानदेश एक्सप्रेस
ट्रेन संख्या 09013 बांद्रा टर्मिनस-भुसावल स्पेशल बांद्रा से प्रत्येक मंगलवार, गुरुवार और रविवार को रात 12.20 बजे रवाना होकर दूसरे दिन 12.00 बजे भुसावल पहुंचेगी। यह ट्रेन 7 मार्च से चलेगी। इसी प्रकार 09014 भुसावल-बांद्रा टर्मिनस स्पेशल भुसावल से प्रत्येक मंगलवार, गुरुवार और रविवार को शाम 5.40 बजे रवाना होकर सुबह 4.30 बजे बांद्रा टर्मिनस पहुंचेगी।

यह ट्रेन बोरीवली, विरार, पालघर, वलसाड, नवसारी, भेस्तान, बारडोली, नवापुर, नंदूरबार, दोंडाइचा, सिंदखेड़ा, नारदाना, अमलनेर, धरनगांव और जलगांव में रुकेगी। इसमें एसी-2 टीयर, स्लीपर और सेकंड क्लास सीटिंग कोच होंगे।

दूसरी ट्रेन सूरत की बजाय नंदूरबार से रवाना होगी
लॉकडाउन से पहले सूरत से भुसावल तक चलने वाली दूसरी पैसेंजर ट्रेन अब नंदूरबार से भुसावल तक स्पेशल बनकर चलेगी। यह ट्रेन सूरत नहीं आएगी। ट्रेन संख्या 09077 नंदूरबार-भुसावल स्पेशल नंदूरबार से रोजाना दोपहर 2.30 बजे रवाना होकर शाम को 7.20 बजे भुसावल पहुंचेगी। यह ट्रेन 2 मार्च से चलेगी।

इसी प्रकार 09078 भुसावल-नंदूरबार स्पेशल भुसावल से रोजाना सुबह 9.00 बजे रवाना होकर दोपहर में 1.30 बजे नंदूरबार पहुंचेगी। इसमें रिजर्वेशन करवाने वाले यात्री ही यात्रा कर सकेंगे। पहले यह ट्रेन सूरत से भुसावल तक जाती थी।

उधना-नंदूरबार मेमू भी स्पेशल बनकर चलेगी
ट्रेन संख्या 09377 उधना-नंदूरबार मेमू स्पेशल ट्रेन बनकर चलेगी। यह रोजाना सुबह 6.15 बजे उधना से रवाना होकर 9.40 बजे नंदूरबार पहुंचेगी। यह ट्रेन 2 मार्च से चलेगी। इसी प्रकार ट्रेन नं. 09378 नंदूरबार-उधना स्पेशल नंदूरबार से राेजाना दोपहर 12.30 बजे रवाना होकर शाम 4.40 बजे उधना पहुंचेगी।

यह ट्रेन चलथान, गंगाधरा, बारडोली, मांगरोलिया, मढ़ी, व्यारा, कीकाकुई रोड, डोसवाड़ा, उकाई सोनगढ़, लक्कड़कोर्ट, भदबजावा, नवापुर, कोल्डे, चिंचपाड़ा, खटगांव, खांडबारा, ढेकवड़ स्टेशन पर रुकेगी। ट्रेन में सेकंड क्लास सीटिंग कोच होंगे।

सूरत-भुसावल शाम को 5 बजे रवाना होगी

कोरोना में ढील मिलने के बाद सूरत-भुसावल को चलाने का निर्णय लिया गया है। ट्रेन नं. 09007 सूरत-भुसावल स्पेशल सूरत से रोजाना शाम 5 बजे रवाना होगी और रात 1.30 बजे भुसावल पहुंचेगी। ट्रेन 1 मार्च से रवाना होगी। इसी प्रकार 09008 भुसावल-सूरत स्पेशल रात 8.20 बजे भुसावल से रवाना होकर दूसरे दिन सुबह 6 बजे सूरत पहुंचेगी। यह ट्रेन 2 मार्च से रवाना होगी।

यह ट्रेन उधना, चलथान, बगुमरा, गंगाधरा, बारडोली, मांगरोलिया, मढ़ी, व्यारा, उकाई सोनगढ़, नवापुर, खांडबारा, नंदूरबार, दोडाइचा, सिंदखेड़ा, नारदाना, अमलनेर, धरनगांव, जलगांव स्टेशनों पर रुकेगी। इसमें स्लीपर और सेकेंट क्लास सीटिंग कोच होंगे। कोरोना से पहले यह ट्रेन शाम को 4.45 बजे रवाना होकर रात 1.45 बजे भुसावल पहुंचती थी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

    और पढ़ें