• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Tension After Hindu Youth Shot Dead In Dhandhuka Tehsil Of Gujarat, Radical Muslims Were Angry With A Post On Social Media

गृह राज्य मंत्री का खुलासा:किशन भारवाड हत्या केस में अहमदाबाद के मौलवी की भूमिका, हत्यारों को मौलवी ने ही दी थी रिवॉल्वर

अहमदाबाद4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मौलाना अयूब जावरावाला, जिसने शॉर्प शूटरों के लिए पिस्टल और पांच कार्टिस की व्यवस्था की थी। - Dainik Bhaskar
मौलाना अयूब जावरावाला, जिसने शॉर्प शूटरों के लिए पिस्टल और पांच कार्टिस की व्यवस्था की थी।

अहमदाबाद जिले के धंधुका शहर के मोढवाडा-सुंदकुवा इलाके में मंगलवार शाम गोली मारकर की गई किशन बोळिया (भरवाड़) नामक युवक की हत्या के विरोध में धंधुका में लगातार चौथे दिन शुक्रवार को भी स्थिति तनावपूर्ण है। तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए शहर में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। इस मामले में पुलिस ने दो मौलवियों को हिरासत में लिया है। इनमें एक मौलवी अहमदाबाद का ही रहने वाला है। गृह राज्यमंत्री हर्ष संघवी ने खुलासा किया है कि इसी मौलवी ने हत्यारों को रिवॉल्वर व पैसे दिए थे।

बढ़ते तनाव के बीच गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी ने एक ट्वीट में दी। उन्होंने कहा, "मैं उनके परिवार को विश्वास दिलाता हूं कि गुजरात पुलिस लगातार काम कर रही है और उन्हें जल्द न्याय मिलेगा।" लेकिन, इस बयान से ग्रामीण और हिंदू संगठन संतुष्ट नहीं हैं।

लगातार तीसरे दिन भी शहर पूरी तरह से बंद है।
लगातार तीसरे दिन भी शहर पूरी तरह से बंद है।

बुधवार को पूरे शहर में मचा बवाल
मंगलवार को हुई वारदात के बाद कई हिंदू संगठन सड़कों पर उतर आए और शहर में जमकर बवाल मच गया था। बुधवार को भारी पुलिस सुरक्षा के बीच किशन का अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान भी जगह-जगह तोड़फोड़ व आगजनी की घटनाएं हुईं। गुरुवार को धंधुका बंद का ऐलान किया गया। हालांकि, अब भी तनाव कम नहीं हुआ है। बता दें, अब इस मामले की जांच गुजरात पुलिस का एसओजी (स्पेशल ऑपरेशंस ग्रुप) कर रही है।

हत्या में दो मौलवी शामिल
किशन बोलिया की हत्या में अहमदाबाद और मुंबई के दो मौलवियों के शामिल होने की बात सामने आई है। बताया जा रहा है कि आरोपियों को हथियार अहमदाबाद के एक मौलवी द्वारा मुहैया करवाए गए थे। पुलिस ने दोनों को हिरासत में ले लिया है।

तनाव की स्थिति के चलते कस्बे में चप्पे-चप्पे पर तैनात है पुलिस।
तनाव की स्थिति के चलते कस्बे में चप्पे-चप्पे पर तैनात है पुलिस।

सरेराह उतारा मौत के घाट
मंगलवार (25 जनवरी 2022) दो बाइक सवारों ने दो राउंड फायरिंग कर किशन शिवाभाई को मौत के घाट उतार दिया था। घटना के बाद से ही तनावपूर्ण स्थिति पैदा हो गई है। हिंदु संगठन सड़कों पर उतर आए हैं। आरोप है कि मृतक युवक भरवाड़ समाज का है, जबकि मारने वाले मुस्लिम समुदाय के हैं। बुधवार को निकाली गई किशन की अंतिम यात्रा में बड़ी संख्या में लोग उमड़े। किशन की हत्या के विरोध में लोगों ने कई जगहों पर तोडफ़ोड़ भी की और वाहनों व स्टॉलों में आगजनी भी की। उसे देख इलाके में बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती की है।

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट के बाद से कट्टरपंथियों के निशाने पर था।
सोशल मीडिया पर एक पोस्ट के बाद से कट्टरपंथियों के निशाने पर था।

सोशल मीडिया की एक पोस्ट से नाराज थे कट्टरपंथी
बताया जा रहा है कि किशन ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो अपलोड किया था, जिसके बाद से वह कट्टरपंथी इस्लामिस्ट के निशाने पर था। रिपोर्ट के अनुसार, किशन ने जो वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड किया था वो पैगंबर मुहम्मद से संबंधित था। कथित पोस्ट के खिलाफ कुछ लोगों ने आपत्ति जताई थी, जिसके बाद पुलिस ने किशन के खिलाफ एक्शन लिया था।

मामले की जांच गुजरात पुलिस का एसओजी (स्पेशल ऑपरेशंस ग्रुप) कर रही है।
मामले की जांच गुजरात पुलिस का एसओजी (स्पेशल ऑपरेशंस ग्रुप) कर रही है।

मिल रही थीं जान से मारने की धमकियां
पोस्ट के बाद से ही किशन को जान से मारने की धमकियां मिल रही थीं। इस घटना के बाद से किशन अपने घर से नहीं निकल रहा था। अचानक मंगलवार को ही वो अपनी बाइक से निकला था, लेकिन कुछ ही दूरी पर उसकी हत्या कर दी गई। एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि किशन पर गोली चलाने वाले बाइक सवार उसके पीछे चल रहे थे, जैसे ही वो मोढवाड़ा मोड़ के पास पहुंचे तो किशन पर पहली गोली चलाई गई, लेकिन वह बच गया, जिसके बाद उस पर दोबारा हमला किया गया और घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई।

खबरें और भी हैं...