धोखाधड़ी का मामला:चोरी का आरोपी साधु के वेश में मंदिरों में रह रहा था, गिरफ्तार

सूरत9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दुकान से टीवी और कैसेट लेकर भाग गया था

वराछा में 15,000 रुपए की ठगी करने वाले आरोपी को क्राइम ब्रांच ने सूचना के आधार पर 3 साल बाद गिरफ्तार कर लिया है। क्राइम ब्रांच के सूत्रों के मुताबिक वराछा में बड़ौदा प्रेस्टीज के पास लुंगीवाला की चाल में रहने वाले मंजीभाई पुरुषोत्तम पटेल टीवी, वीसीआर और कैसेट किराए पर देने काम करते थे।

वराछा की एक दुकान में चोरी के मामले आरोपी भोलाभाई उर्फ भावेश गिरी नाथभाई पटेल (निवासी जिला भावनगर) उनकी दुकान पर काम करता था। तीन साल पहले भोलाभाई एक टीवी और तीन कैसेट लेकर भाग गया, जिसकी कीमत 15 हजार रुपए थी। उस वक्त वराछा थाने में आरोपी के खिलाफ चोरी करने का मामला दर्ज कराया गया था। तभी से पुलिस उसकी तलाश कर रही थी। घटना के बाद आरोपी सूरत शहर छोड़कर अपने गृह नगर भाग गया था।

नाम बदलकर साधु के वेश रह रहा था आरोपी

आरोपी अपने गृह नगर में नाम बदलकर रह रहा था। उसने अपना नाम भोलाभाई से बदलकर भावेशगिरी रख लिया और एक साधु का जीवन जीने लगा था। वह मंदिरों और मठों में रहता था। वह साल में एक बार घर जाता था। उसके घर आने की निश्चित सूचना मिलने पर पुलिस उसके गृहनगर उसे पकड़ने के लिए पहुंची। जब तय समय पर आरोपी घर पहुंचा तो उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

खबरें और भी हैं...