अहमदाबाद / रिक्शेवाले की व्यथा: 21 दिन नहीं पूरे महीने लॉकडाउन के लिए तैयार, पर कैसे चलेगा?

परिवार के साथ दाणीलिमडा के रिक्शाचालक जुबेरभाई परिवार के साथ दाणीलिमडा के रिक्शाचालक जुबेरभाई
X
परिवार के साथ दाणीलिमडा के रिक्शाचालक जुबेरभाईपरिवार के साथ दाणीलिमडा के रिक्शाचालक जुबेरभाई

  • जो रोज कमाते-खाते हैं, उनके लिए ये दिन मुश्किल भरे
  • बाजार में सामान आम दिनों की अपेक्षा महंगे हैं

दैनिक भास्कर

Mar 26, 2020, 01:51 PM IST

चेतन पुरोहित, अहमदाबाद. देश के सारे लोग 21 दिनों के लॉकडाउन के कारण अपने घरों में कैद हैं। ऐसे में उन लोगों की हालत सबसे ज्यादा खराब है, जो रोज कमाते और खाते हैं। इनके लिए घर में रहना किसी कैद से कम नहीं है। ऐसी ही हालत दाणीलिमड़ा के रिक्शाचालक जुबेर भाई की है। वे कहते हैं कि 21 दिन नहीं पूरे महीने का लॉकडाउन कर दो, पर इन दिनों मैं अपना घर कैसे चलाऊं, यह भी बता दो।


संकट की बात, जुबेर भाई के ही शब्दों में
“मैं तो रिक्शा चलाता हूं। इसी से मेरे परिवार का गुजारा चलता है। सरकार ने 21 दिनों के लोकडाउन की घोषणा की है, पर इन दिनों हमारा घर कैसे चलेगा, बच्चों को खाने में क्या दूं। बहुत परेशान हूं, उनकी स्कूल फीस कैसे भरूंगपा। दवा कहां से लाऊंगा, बाजार सामान लेने जाओ, तो आम दिनों से भी महंगा बिक रहा है। मुझे तो कुछ समझ में ही नहीं आ रहा है। हम तो 21 दिन ही नहीं, बल्कि पूरे महीने लॉकडाउन के लिए तैयार हैं। पर एक सामान्य आदमी अपना घर कैसे चलाएगा, इस पर किसी ने विचार नहीं किया। मेरी सरकार से अपीेल है कि हमारे जैसे कई लोग हैं, जो रोज कमाते-खाते हैं, हमारी कुछ सहायता की जाए, तो हमारा गुजारा हो जाए।”

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना