• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Udhna Will Become The Surat Largest And The Fourth Station With The Highest Number Of Platforms In Mumbai Division

रेलवे देगा सूरत को नई सौगात:उधना बनेगा शहर का सबसे बड़ा व मुंबई मंडल का सबसे ज्यादा प्लेटफॉर्म वाला चौथा स्टेशन, कई नई रेगुलर ट्रेनें चलाने की योजना

सूरत3 महीने पहलेलेखक: लवकुश मिश्रा
  • कॉपी लिंक
मुंबई सेंट्रल, बांद्रा टर्मिनस, बोरीवली के बाद उधना सबसे ज्यादा प्लेटफार्म वाला स्टेशन होगा। - Dainik Bhaskar
मुंबई सेंट्रल, बांद्रा टर्मिनस, बोरीवली के बाद उधना सबसे ज्यादा प्लेटफार्म वाला स्टेशन होगा।

गुजराती नववर्ष पर सूरत शहर को नई सौगात मिलेगी। अगले माह उधना स्टेशन शहर का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन बन जाएगा और सूरत स्टेशन का आधा यात्रीभार कम हो जाएगा। उधना स्टेशन के दो प्लेटफॉर्म बनकर तैयार हैं और नवंबर के अंत तक ये शुरू कर दिए जाएंगे। जिसके बाद उधना में कुल पांच प्लेटफॉर्म हो जाएंगे, जबकि सूरत स्टेशन पर अभी भी चार ही प्लेटफार्म है। नए प्लेटफार्म शुरू होने के बाद विशेष ट्रेनों और सूरत से शुरू और खत्म होने वाली ट्रेने उधना स्टेशन से ही संचालित होंगी। जिससे सूरत स्टेशन का यात्रीभार कम होगा। साथ ही यात्रियों को भीड़-भाड़ वाले सूरत स्टेशन पर नहीं जाना होगा। वे उधना से ट्रेन पकड़ सकेंगे।

प्लेटफॉर्म 4-5 शुरू होने पर उधना स्टेशन पर कई नई रेगुलर ट्रेनें चलाने की योजना है।
प्लेटफॉर्म 4-5 शुरू होने पर उधना स्टेशन पर कई नई रेगुलर ट्रेनें चलाने की योजना है।

दरअसल, सूरत स्टेशन पर जगह के अभाव के कारण रेलवे ने उधना स्टेशन को मुख्य स्टेशन के रूप में डेवलप करने का प्लान तैयार किया था। जिसके तहत उधना स्टेशन का विस्तार करने के साथ यात्री सुविधाएं बढ़ाई गई हैं। उधना स्टेशन पर दो नए प्लेटफार्म 4 व 5 बनाए गए हैं। नए दोनों प्लेटफार्म शुरू होने के बाद मुंबई मंडल के मुंबई सेंट्रल, बांद्रा टर्मिनस, बोरीवली के बाद उधना सबसे ज्यादा प्लेटफार्म वाला स्टेशन बन जाएगा। इसके अलावा उधना में एक और प्लेटफार्म नम्बर 6 भी बनाने की प्लानिंग है। प्लेटफार्म नम्बर 4 व 5 शुरू करने से पहले रेलवे ने फुटओवर ब्रिज (एफओबी) के विस्तारीकरण का काम भी पूरा कर लिया है।

उधना-छपरा के साथ चलेंगे ये नई ट्रेनें
पश्चिम रेलवे द्वारा उधना-पुरी एक्सप्रेस को चलाने की प्रस्ताव तैयार है, जिसे सहमति मिल गई है। उधना-पुरी ट्रेन हफ्ते में एक दिन सुबह 8.50 बजे रवाना होकर अगले दिन शाम 7 बजे पुरी पहुंचेगी। इसी तरह से उधना-छपरा एक्सप्रेस को चलाने का प्रस्ताव तैयार हुआ है। प्रस्ताव के अनुसार यह ट्रेन हर शुक्रवार उधना से सुबह 8.35 बजे रवाना होकर अगले दिन दोपहर 2 बजे छपरा पहुंचेगी। जबकि उधना-पुणे ट्रेन भी यहीं से चलाने का भी प्रस्ताव तैयार हुआ है। यह ट्रेन वाया जलगांव चलाने की योजना है। उधना से दोपहर 12 बजे रवाना होकर तड़के तीन बजे पुणे पहुंचेगी। इसी प्रकार से उधना-भागलपुर और सूरत-मधुपुर ट्रेन का भी प्रस्ताव बन चुका है। हालांकि इनकी समयसारिणी अभी नहीं बनी है। अधिकारियों ने बताया कि इन ट्रेनों को उधना से प्लेटफॉर्म 4 और 5 के शुरू होने के बाद चलाने की योजना है। रेलवे बोर्ड इस पर आखिरी निर्णय लेगा।

उधना-दानापुर ट्रेन नियमित चलेगी
रेलवे ने मौजूदा जो प्लानिंग की है उसके अनुसार उधना-दानापुर अभी जो साप्ताहिक चल रही है, उसे रेगुलर चलाने पर विमर्श हो रहा है। इसके लिए रेलवे ने एक समयसारिणी भी तैयार की है। हालांकि इसे अभी अप्रूव होना बाकी है। उधना-दानापुर एक्सप्रेस को नियमित चलाने के लिए स्लॉट संबंधी समस्या है क्योंकि ये ट्रेन अभी दिन में रवाना होती है। इसके लिए रेलवे ने जो योजना बनाई है उसके अनुसार यह ट्रेन रात 10 बजे उधना से रवाना होगी और अगले दिन शाम 4 बजे दानापुर पहुंचेगी। दानापुर से सुबह 6 बजे चलेगी और दोपहर 12. 30 बजे उधना पहुंचेगी।

प्लेटफॉर्म 1,2 और तीन मेन लाइन के लिए
अधिकारियों ने बताया कि उधना में जगह के चलते विकास की संभावनाए ज्यादा है इसलिए नया चार और पांच प्लेटफॉर्म सूरत-उधना की ऑरिजिनेट, टर्मिनेट और नई विशेष ट्रेनों के रूप में होगा। इससे उधना में कई गाड़ियों का ठहराव भी होगा साथ ही नई रेगुलर ट्रेनों को चलाने में भी आसानी होगी। अभी वर्तमान में केवल तीन प्लेटफॉर्म हैं जिनपर मेन लाइन, ताप्ती लाइन और यहां से बनकर आने जाने वाली गाड़ियों का ठहराव हो रहा है।

खबरें और भी हैं...