पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पहल:अपनी ऑक्सीजन देकर मरीज को बचाने वाले डॉक्टर का चेन्नई में होगा इलाज

सूरत17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

आईसीयू में भर्ती के दौरान डॉ. मेहता ने अपना हाईलेवल ऑक्सीजन निकाल एक 70 वर्षीय मरीज के वेंटीलेटर में लगाकर उसकी जान बचाई थी। डॉ. संकेत मेहता पिछले 42 दिन से कोरोना और उसके बाद की तकलीफों से लड़ रहे हैं।

वे 25 दिन से वेंटीलेटर पर थे और अब 22 दिन से इकमो (ऑफिशियल लंग्स सपोर्ट सिस्टम) पर हैं। उन्हें लंग्स ट्रांसप्लांट के लिए चेन्नई ले जाना है। पूरी प्रक्रिया पर एक करोड़ तक का खर्च आएगा। जिसे वहन करने की जिम्मेदारी डॉक्टरों ने ली है। सूरत की जनता और कारोबारी भी उनकी मदद के लिए आगे आ रहे हैं।

क्या है लंग फाइब्रोसिस...?

सिविल अस्पताल के डॉ. समीर गामी के बताया कि पूरा सूरत डॉ. संकेत मेहता के साथ है। उन्हें सोमवार को एयर लिफ्ट कर चेन्नई ले जाया जा सकता है। कोरोना के बाद उन्हें लंग फाइब्रोसिस हो गया है। इससे फेफड़े सख्त हो जाते हैं। सांस लेने में तकलीफ होती है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर आप कुछ समय से स्थान परिवर्तन की योजना बना रहे हैं या किसी प्रॉपर्टी से संबंधित कार्य करने से पहले उस पर दोबारा विचार विमर्श कर लें। आपको अवश्य ही सफलता प्राप्त होगी। संतान की तरफ से भी को...

और पढ़ें