लापरवाही / पूरा परिवार कोरोना का शिकार, दो दिनों तक टेस्ट पॉजीटिव होने की जानकारी ही नहीं दी

हॉस्पिटल की लापरवाही से असरानी परिवार हुआ कोरोना पॉजीटिव हॉस्पिटल की लापरवाही से असरानी परिवार हुआ कोरोना पॉजीटिव
X
हॉस्पिटल की लापरवाही से असरानी परिवार हुआ कोरोना पॉजीटिवहॉस्पिटल की लापरवाही से असरानी परिवार हुआ कोरोना पॉजीटिव

  • दोपहर निगेटिव बताकर घर भेजा, रात में पॉजीटिव बताकर एडमिट कर लिया
  • एसवीपी-एएमसी की लापरवाही का शिकार पूरा परिवार
  • आखिर जवाबदार कौन?

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 06:57 AM IST

अहमदाबाद. पूरे राज्य में कोरोना के मामलों के साथ मौतों का आंकड़ा भी लगातार बढ़ रहा है। इसके चलते एसवीपी हॉस्पिटल की एक और लापरवाही सामने आई है, जिसके कारण पूरा परिवार कोरोना पॉजीटिव हो गया।

रिपोर्ट दो दिनों तक दबाए रखी

हाटकेश्वर में रहने वाला असरानी परिवार के मुखिया को एसवीपी हॉस्पिटल ने पहले कोरोना रिपोर्ट निगेटिव बताकर घर भेज दिया। 8 घंटे बाद देर रात फोन करके बताया कि आपकी रिपोर्ट पॉजीटिव है, आप तुरंत अस्पताल में भर्ती हो जाओ। दूसरी ओर उनके बेटे की रिपोर्ट दो दिनों तक दबाए रखी, उस कारण उनका पूरा परिवार ही संक्रमित हो गया। अब पूरा परिवार ही कोरोना पॉजीटिव है।  

वीडियो के माध्यम से बताई लापरवाही की दास्तां

हर्ष असरानी ने एक वीडियो के माध्यम से कार्पोरेशन और एसवीपी हॉस्पिटल की लापरवाही को उजागर किया है। 16 मई को खोखरा अर्बन हेल्थ सेंटर में हर्ष ने सास और साले के साथ कोरोना टेस्ट कराया। दूसरे दिन सास-साले की रिपोर्ट निगेटिव आई। तब तक हर्ष की रिपोर्ट नहीं आई थी। रिपोर्ट की दो दिनों तक राह देखी। उधर से कोई फोन नहीं आया। उधर साले के पास पहले जिस नम्बर से फोन आया था, उस नम्बर पर फोन किया गया, तो वह फोन बंद मिला।

आपकी रिपोर्ट पॉजीटिव आई है

दूसरे दिन भी कई बार फोन किया, पर उधर से किसी ने नहीं उठाया। फिर उसी नम्बर से फोन आया, जिसमें कहा गया कि आपकी रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। तब तक हर्ष के सम्पर्क में पूरा परिवार आ चुका था। जिसमें उसके माता-पिता और पत्नी शामिल थी। इन सभी की रिपोर्ट पॉजीटिव आने पर सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

रिपोर्ट निगेटिव है, कहकर घर भेज दिया था

इस संबंध में हर्ष के बेटे ने बताया कि कोरोना टेस्ट पॉजीटिव आने के बाद हमारे परिवार का भी एसवीपी हॉस्पिटल में टेस्ट कराया था। 21 मई को मुझे बताया गया कि पापा की रिपोर्ट निगेटिव आई है। उसके बाद उन्हें घर भेज दिया। रात साढ़े 11 बजे हॉस्पिटल से फोन आया कि आपके पापा की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। इसके ठीक आधे घंटे बाद पापा को एसवीपी हॉस्पिटल के कोरोना वार्ड में भर्ती कर दिया। हॉस्पिटल और कार्पोरेशन की इस लापरवाही से हमारा पूरा परिवार ही कोरोना पॉजीटिव हो गया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना