परेशानी:कपड़ा मार्केट बंद होने से ट्रेडिंग 100%, मिल 75% और प्रोडक्शन 50% डाउन

सूरत6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पहले मनपा और प्रशासन के लोग बोलते रहे की लॉकडाउन नहीं लगेगा, लेकिन अब नए गाइडलाइन के आने के बाद शहर में एक तरह से मिनी लॉकडाउन लग गया है, इसे शहर का कपड़ा कारोबार बुरी तरह से प्रभावित हुआ हैं। बुधवार से ट्रेडिंग का काम 100 फीसदी, प्रोसेस का काम 75 फीसदी और वीविंग का काम 50 फीसदी डाउन हो गया, क्योंकि कपड़ा मार्केट पूरी तरह बंद कर दिया गया था। जॉबवर्क नहीं होने के कारण प्रोसेस मिलों में 25 फीसदी ही काम रह गया हैं और वीविंग का काम 50 फीसदी ही चल रहा है।

ओवर प्रोडक्शन होगा

चेम्बर के उप प्रमुख आशीष गुजराती ने बताया की डिमांड नहीं होने के कारण पिछले कुछ दिनों से प्रोडक्शन 50 फीसदी ही रह गया है। कपड़ा मार्केट बंद होने से ओवर प्रोडक्शन का संकट रहेगा।

बाहर की मंडी बंद होने से काम कम होता गया

एसजीटीपीए के अध्यक्ष जीतू वखारिया ने बताया कि बाहर की मंडी धीरे-धीरे कर बंद होते चली गई। इससे सप्लाई कम हुई और काम सिर्फ 25% ही रह गया है।

खबरें और भी हैं...