सूरत मेट्रो:मेट्रो रूट पर पाइलिंग वर्क के लिए लगाई गईं दो हाइड्रोलिक रिग मशीनें

सूरत6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • चार-पांच महीने में एलिवेटेड रूट के पिलर बनने शुरू हो जाएंगे

मेट्रो फेज-1 में अब एलिवेटेड रूट निर्माण के लिए हाइड्रोलिक रिग मशीनें चिन्हित लोकेशनों पर लगाई जा रही हैं। कादरशाह की नाल से ड्रीम सिटी के बीच 11 किमी एलिवेटेड रूट के लिए सबसे पहले आईटीआई वुमन कॉलेज मेट्रो स्टेशन के लिए हाइड्रोलिक रिग मशीनें लगाकर पाइलिंग वर्क शुरू किया गया।

पाइल टेस्टिंग के बाद तीन से चार महीने में पिलरिंग वर्क शुरू होगा। इस एलिवेटेड रूट पर कुल 15 हाइड्रोलिक रिग मशीनें लगाई जाएंगी, जिनसे पिलरिंग का काम होगा। अभी शुरू में दो रिग मशीनें लगाई गई हैं, जो ड्रीम सिटी और वुमन आईटीआई के स्टेशन रूट बनाने के लिए लगी हैं।

वायडक्ट के लिए 400 पिलर बनेंगे

मेट्रो के एलिवेटेड हिस्से के 11.6 किमी रूट में कुल 15 हाइड्रोलिक रिंग मशीनें लगाई जाएंगी। इससे कम से कम समय ज्यादा से ज्यादा पिलर का काम हो सकेगा। वायडक्ट के लिए कुल 400 पिलर होंगे जबकि स्टेशन के लिए कुल 250 पिलर होंगे। इसके लिए 49 बोर वेल पाइलिंग होंगी। जो जमीनी सतह की जांच करेंगी। सिंगल पिलर मेथड वाले स्टेशनों में कुल 12 सिंगल पिलर होंगे।

खबरें और भी हैं...