पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Vaccine Started In 10 Minutes, Observation In 30 Minutes, Reaction Occurred On 1, Arrived In Hospital In 7 Minutes

घबराइए नहीं:10 मिनट में वैक्सीन लगी, 30 मिनट ऑब्जर्वेशन; 1 को रिएक्शन हुआ तो 7 मिनट में पहुंचाया अस्पताल

सूरत6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एंट्री पर ट्रेम्प्रेचर की जांच - Dainik Bhaskar
एंट्री पर ट्रेम्प्रेचर की जांच
  • 24 सेंटरों पर ड्राई रन, हर सेंटर पर 20-20 लोगों पर किया माॅकड्रिल
  • सेंटर पर सारी सुविधाएं, घर जाने के बाद भी हेल्पलाइन पर बता सकेंगे

शनिवार को शहर के 8 जोन में 24 सेंटरों पर वैक्सीन का ड्राई रन किया गया। सभी सेंटरों पर वैक्सीनेटर ऑफिसर सहित 8 लोगों की टीम तैनात रही। एक सेंटर पर सुबह 10 से दोपहर 12 बजे 20-20 लोगों के वैक्सीनेशन का माॅकड्रिल किया गया। वैक्सीन, सिरिंज, डस्टबिन, मेडिसिन सहित जरूरी वस्तुएं सेंटरों पर आधे से एक घंटे पहले ही पहुंचा दी गई थी।

एंट्री से लेकर एग्जिट तक एक व्यक्ति को करीब 40 मिनट लगे। मार्शल द्वारा टेंप्रेचर की जांच, पहचान पत्र की जांच, वेटिंग रूम में बैठने और वैक्सीन लगाने के बाद ऑब्जर्वेशन रूम में जाने तक में 6 से 10 मिनट लगे। उसके बाद 30 मिनट ऑब्जर्वेशन रूम में लगे। डूमस सेंटर पर एक महिला नर्स को वैक्सीन के बाद चक्कर आया तो 7 मिनट में अस्पताल पहुंचा दिया।

वैक्सीनेशन की माॅक ड्रिल के दाैरान पीपीई किट का उपयोग नहीं किया गया। हालांकि मास्क, हैंड ग्लब्स, सैनिटाइजर अनिवार्य रहे। पांडेसरा सेंटर पर विजिट करने आए जोनल चीफ इंजीनियर आशीष दुबे ने बताया कि ड्राई रन में कोई समस्या नहीं आई। हम वैक्सीनेशन के लिए तैयार हैं।

भाठेना अर्बन हेल्थ सेंटर पर मनपा कमिश्नर बंछानिधि पाणी ने सुबह 11:28 बजे दाैरा किया। उन्होंने कहा कि 5 लाख 50 हजार लोगों की फाइनल लिस्ट तैयार है। सभी जोन में 508 वैक्सीनेशन सेंटर बनाए जाएंगे। वैक्सीन देने के बाद किसी व्यक्ति की तबीयत ज्यादा बिगड़ती है तो उसे 7 से 10 मिनट में चिन्हित अस्पताल में भेजा जाएगा।

1. पांडेसरा के गणेश नगर स्थित बीजी मिश्रा स्कूल में तैयारियां बेहतर रही। सुबह 8 बजे ही सभी स्टाफ मौके पर पहुंच गए। पांडेसरा अर्बन हेल्थ सेंटर से महज 7 मिनट में वैक्सीन सेंटर पर आ गई। सुबह 10 बजे लोगों की एंट्री शुरू हो गई। 10:10 बजे पहली वैक्सीन लगाई गई। 10:40 पहले लाभार्थी को 30 मिनट का आब्जर्बेशन पूरा करने के बाद छोड़ दिया गया। इस बीच जोन लेवल के दो डॉक्टरों ने सेंटर पर विजिट किया।

2. नानपुरा के मनपा शिक्षण समिति के स्कूल क्रमांक 20 में सेंट्रल जोन के क्षेत्रपाल हेल्थ सेंटर से सुबह 9 बजे 8 मिनट में वैक्सीन पहुंचा दी गई। डिप्टी कमिश्नर गायत्री जरीवाला 9.30 बजे शाला क्रमांक 20 में पहुंची। तैयारियों में कुछ वक्त लगने से यहां 2 घंटे में सिर्फ 4 लोगों को ही वैक्सीन दी गई।

जब आप वैक्सीन लेने जाएंगे तो क्या होगा?

वैक्सीनेशन सेंटर में एंट्री करते ही हाथ सैनिटाइज कराया जाएगा। फिर मार्शल ने टेंप्रेचर नापेगा। लिस्ट में नाम की जांच होगी। फोटो आईडी से पहचान होगी। उसके बाद लाइन में लगी कुर्सियों पर बैठाया जाएगा। 5 मिनट में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। वहां से फिर वैक्सीनेशन रूम में भेजा जाएगा। वैक्सीनेटर स्वास्थ्य की प्राथमिक जांच में बीपी, टेम्प्रेचर और ऑक्सीजन नापेंगे।

सब ठीक पाए जाने पर वैक्सीन लगाई जाएगी। उसके बाद 30 मिनट के लिए ऑब्जर्वेशन रूम में बैठाया जाएगा। जिनमें कोई रिएक्शन नहीं होगा वे घर जा सकते हैं। किसी को रिएक्शन हुआ तो पहले ऑब्जर्वेशन रूम में ही इलाज देंगे। अगर किसी की हालत गंभीर हुई उसे महज 5 से 10 मिनट में नजदीकी अस्पताल पहुंचाएंगे। लिस्ट में नाम नहीं हुआ तो वैक्सीन नहीं लगेगी।

वो सब जो आप जानना चाहते हैं

  • देंगे जानकारी:-वैक्सीन लगाने से पहले अापको बताएंगे कि वैक्सीन किस कंपनी की है। दूसरा डोज कब लगेगा।
  • दूसरा डोज जब तक नहीं लग जाता तब तह तक मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग रखना जरूरी है।
  • हेल्पलाइन:-सेंटर से घर जाने के बाद अगर तबीयत खराब हुई तो आंगनवाड़ी या हेल्थ सेंटर से संपर्क करना है।
  • 0.5 से 1 एमएल तक का वैक्सीन डोज इंजेक्शन से दिया जाएगा। वैक्सीन को +2 से +8 तापमान पर रखा जाएगा।
  • इमरजेंसी:-वैक्सीन लेने के बाद तबीयत अधिक बिगड़ती है तो तत्काल इलाज के लिए करार के तहत तय नजदीकी अस्पताल ले जाएंगे।
  • एक सेंटर पर पांच स्टेप में 20-20 लोगों को वैक्सीन दी जाएगी। दिनभर में एक सेंटर पर 100 लोगों को वैक्सीन दी जाएगी।
  • 508 सेंटरों पर दिनभर में 50 हजार से अधिक लोगों को वैक्सीन देने का लक्ष्य है।
  • व्यवस्था:-हर सेंटर पर व्हील चेयर, पीने के पानी, शौचालय और मास्क की व्यवस्था होगी।

रजिस्ट्रेशन के बाद भी वैक्सीन नहीं लगवाई तो सेंटर के वैक्सीनेटर ऑफिसर को कारण बताइए। फिर अापका दोबारा रजिस्ट्रेशन होगा। बाद में एसएमएस से आपको बुलाएंगे।

खबरें और भी हैं...