मां हीराबा से मिले प्रधानमंत्री मोदी:पैर छूकर आशीर्वाद लिया, साथ में चाय भी पी; आज वोट डालने जाएंगे

अहमदाबाद2 महीने पहले

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को एक बार फिर गुजरात पहुंचे। वे अहमदाबाद एयरपोर्ट से सीधे मां हीराबा से मिलने गांधीनगर पहुंचे। मां के पैर छूकर आशीर्वाद लिया और साथ में चाय भी पी। इससे पहले अगस्त और जून में भी मोदी मां से मिलने आए थे। आधे घंटे की मुलाकात के बाद प्रधानमंत्री पार्टी ऑफिस 'कमलम' निकल गए। सोमवार सुबह 8.30 बजे वे राणीप में मतदान करेंगे।

बता दें कि गुजरात विधानसभा के दूसरे चरण में 14 जिलों की 93 सीटों के लिए सोमवार को मतदान होगा। इनमें एक बड़ा हिस्सा मध्य प्रदेश और राजस्थान की सीमा से लगने वाली सीटों का भी है, जिसमें आदिवासी बहुल पंचमहल भी है। इन क्षेत्रों में गुजरात की राजधानी गांधीनगर, अहमदाबाद, वडोदरा और दूध उत्पादन के लिए विश्व प्रसिद्ध आणंद भी शामिल है।

पीएम मोदी और गृहमंत्री शाह के क्षेत्र भी
गुरुवार को प्रधानमंत्री ने अहमदाबाद में लगभग 50 किलोमीटर लंबा रोड शो किया। इस चरण में जिन सीटों पर चुनाव होना है, उनमें प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का क्षेत्र भी शामिल है। ऐसे में भाजपा के लिए यह चरण अहम होगा। खासकर उत्तर गुजरात, जहां पिछली बार वह कांग्रेस से पिछड़ गई थी।

कितनी सीटों पर मतदान?
उत्तर व मध्य-पूर्व गुजरात के 14 जिलाें की 93 सीटों पर मतदान होगा। जिसमें 74 सामान्य तो 6 एससी और 13 सीटें एसटी की हैं। कुल 2.51 करोड़ मतदाताओं में से 1.22 करोड़ महिलाएं हैं। 18 से 19 वर्ष के 5.96 लाख मतदाता हैं। 90 वर्ष अधिक उम्र के 5400 मतदाता हैं।

दूसरे चरण के लिए कौन-कौन सी सीटें हैं महत्वपूर्ण?
सोमवार को होने वाले मतदान में महत्वपूर्ण मानी जाने वाली सीटों में अहमदाबाद घाटलोडिया, नरोडा, वटवा, विसनगर, थराद, महेसाणा, विरमगाम, गांधीनगर (दक्षिण), खेडब्रह्मा, मांजलपुर, वाघोडिया, खेरालु, दस्कोई, छोटा उदेपुर, संखेडा आदि शामिल हैं।

जिन सीटों पर मतदान, वहां के प्रमुख प्रत्याशी कौन?
दूसरे चरण के चुनाव में मुख्यमंत्री और अन्य 8 मंत्री मैदान में हैं जिसमें स्वास्थ्य मंत्री ऋषिकेश पटेल, जगदीश विश्वकर्मा, मनीषा वकील, अर्जुन चौहाण आदि हैं। इसके अलावा 2017 में पाटीदार आंदोलन का चेहरा बने हार्दिक पटेल, अल्पेश ठाकोर और जिज्ञेश मेवाणी भी उम्मीदवार हैं। भाजपा के पूर्व मंत्री शंकर चौधरी भी इस चुनावी जंग में शामिल हैं।

93 सीटों में से किस दल को कितनी सीटें मिलीं?
2017 में इन 93 सीटों में से 51 सीट पर भाजपा की विजय हुई थी जबकि कांग्रेस ने 39 सीट पर जीत दर्ज की थी। तीन सीटें निर्दलीयों के पाले में गई थीं। जिसमें एक निर्दलीय जिग्नेश मेवाणी अब कांग्रेस के उम्मीदवार हैं। मध्य में भाजपा तो उत्तर गुजरात में कांग्रेस का पलड़ा भारी था।

निर्वाचन आयोग ने की अपील
भारतीय निर्वाचन आयोग ने गुजरात में दूसरे चरण से पहले वोटर्स से अपील की है कि वो घरों से आएं और अपने वोट के अधिकार का प्रयोग करें। पहले चरण में गुजरात के कई जिलों में औसत से भी कम वोटिंग दर्ज की गई है। प्रदेश में पहले चरण की 89 सीटों पर कुल 63.31 फीसदी मतदान हुआ है। यह आंकड़ा 2017 में हुए चुनाव से 5.20% कम रहा। इतना ही नहीं, इस बार 10 साल की सबसे कम वोटिंग हुई है।