• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Western Railway Delaying MEMU By 3 Months To Deliver Premium And 130 Km Speed Mail Express Trains On Time

डेली अप-डाउन वाले परेशान:प्रीमियम और 130 किमी/ रफ्तार वाली मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों को समय पर पहुंचाने के लिए 3 महीने से मेमू को लेट कर रहा पश्चिम रेलवे

सूरतएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मेमू ट्रेन रोजाना कम से कम 15 मिनट से आधा घंटा देरी से सूरत पहुंच रही है। - Dainik Bhaskar
मेमू ट्रेन रोजाना कम से कम 15 मिनट से आधा घंटा देरी से सूरत पहुंच रही है।

मुंबई-दिल्ली मेनलाइन पर अब लगभग सभी ट्रेनों का परिचालन शुरू हो गया है। सभी प्रीमियम और सेमी हाईस्पीड ट्रेनों का भी परिचालन हो रहा है। इन ट्रेनों के कारण शाम काे सूरत आने वाली मेमू लोकल ट्रेनें पिछले तीन महीने से समय पर नहीं पहुंच पा रही हैं। रोजाना कम से कम 15 मिनट से आधा घंटा देरी से सूरत पहुंच रही हैं। कभी-कभी तो एक से डेढ़ घंटे तक लेट हो जाती हैं।

इनमें डेली अप-डाउन करने वाले यात्रियों की परेशानी बढ़ गई है। वलसाड, नवसारी और आसपास के इलाकों से सूरत में इवनिंग शिफ्ट की नौकरी करने वाले ट्रेनों की लेटलतीफी से परेशान हो रहे हैं। यात्रियों को कभी-कभी हाफ-डे ड्यूटी करनी पड़ती है। मेमू ट्रेनों के साथ तीन महीने से ऐसा हो रहा है। प्रीमियम और 130 किमी रफ्तार वाली मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों को समय पर पहुंचाने के लिए मेमू ट्रेनों को लेट किया जा रहा है।

कभी-कभी परिचालन में देरी होने से एक घंटे तक लेट हो जाती हैं। जो ट्रेनें शाम के समय वलसाड-सूरत सेक्शन में प्रवेश करती हैं उनमें कर्णावती एक्सप्रेस, मुंबई-अहमदाबाद डबलडेकर, मुंबई-अहमदाबाद तेजस, सूर्यनगरी एक्सप्रेस, पश्चिम एक्सप्रेस मुख्य हैं। इन्हें प्राथमिकता दी जाती है। इसलिए मेमो ट्रेनों में देरी हो रही है।

रविवार को डेढ़ घंटे देरी से आई थी मेमू
वलसाड़ से सूरत आने वाली 09151 मेमू लोकल पिछले तीन महीने से सूरत स्टेशन पर समय से नहीं पहुंच रही है। वलसाड से यह ट्रेन दोपहर 3 बजकर 55 मिनट पर रवाना होती है और शाम को 5 बजकर 33 मिनट पर सूरत पहुंचने के बजाय कम से कम आधा घंटा देरी से यानी 6 बजे पहुंचती है। रविवार को मेमू ट्रेन वलसाड से अपने सही समय 3:55 मिनट पर रवाना हुई और नवसारी आने के बाद लेट होने लगी।

यह उधना में शाम 5:10 बजे पहुंचने के बदले 7:05 बजे आई और सूरत स्टेशन पर शाम 5:33 बजे पहुंचने की बजाय 7:19 बजे पहुंची। वलसाड से डेली अपडाउन करने वाले शिव कुमार ने बताया कि ट्रेन लेट होने की वजह से इवनिंग शिफ्ट में हाफ-डे का खतरा बना रहता है।

सूरत से वडोदरा जाने वाली मेमू भी लेट, 5:38 पर जाने वाली 6:30 बजे जा रही
वलसाड से सूरत आने वाली मेमू ट्रेन वडोदरा तक विस्तारित है। मेमू ट्रेन को सूरत से वडोदरा जाने का समय शाम 5:38 बजे है, पर वलसाड से देरी से आने के बाद यह ट्रेन शाम को 6:30 बजे से पहले कभी रवाना नहीं हुई। इससे सूरत से वडोदरा जाने वाले यात्रियों को परेशानी होती है। इसी तरह से अन्य लगभग 8 मेमू ट्रेनें भी औसतन 15 मिनट की देरी से सूरत आती हैं। इसके अलावा विरार से भरूच जाने वाली मेमू ट्रेन का भी यही हाल है सूरत आने तक यह ट्रेन रोजाना औसतन: 15 मिनिट से लेकर आंधे घंटे तक देरी से सूरत पहुंच रही है। जिससे यात्री परेशान हो रही है।

मेमू ट्रेनों की देरी का ये है मुख्य कारण
रेलवे अधिकारियों ने बताया कि मेनलाइन पर मुंबई से रवाना होने वाली प्रीमिमयम और 130 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार वाली ट्रेनें शाम 4 बजे तक वलसाड़ पहुंचने लगती हैं। शाम के समय कई ऐसी ट्रेनें हैं, जिसकी रफ्तार 130 किमी है। इसके साथ ही कई प्रीमियम ट्रेनें भी हैं। वलसाड-वापी से रवाना होने वाली मेमू ट्रेन इस वजह से 15 मिनट से आधा घंटा तक लेट हो जाती है।

खबरें और भी हैं...