• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Within A Month And A Half Of Darshana Becoming A Minister, A 10 year old Demand Was Fulfilled, Surat Mahuva Train Became Regular, 801 Passengers Traveled For Free

साैराष्ट्र को साैगात:दर्शना के मंत्री बनने के डेढ़ माह में ही 10 साल पुरानी मांग पूरी, सूरत-महुवा ट्रेन नियमित हुई, 801 यात्रियों ने किया मुफ्त सफर

सूरत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रेल राज्यमंत्री ने हरी झंडी दिखाकर ट्रेन को किया रवाना। - Dainik Bhaskar
रेल राज्यमंत्री ने हरी झंडी दिखाकर ट्रेन को किया रवाना।
  • रेल राज्यमंत्री ने हरी झंडी दिखाकर ट्रेन को किया रवाना

सूरत से महुवा के बीच चलने वाली ट्रेन को नियमित करने की एक दशक पुरानी मांग सांसद दर्शना जरदोष के रेल राज्यमंत्री बनने के डेढ़ महीने के भीतर पूरी हो गई। गुरुवार को दर्शना जरदोष ने इसे हरी झंडी दिखाकर साप्ताहिक से दैनिक किया। दर्शना भी सांसद के ताैर पर कई बार इस ट्रेन को नियमित करने की मांग कर चुकी हैं। उद्घाटन के दिन शाम 4:30 बजे रवाना हुई इस ट्रेन में सूरत से 801 यात्रियों ने मुफ्त सफर किया।

सूरत-महुवा ट्रेन 12 साल से साप्ताहिक चल रही थी। उद्घाटन के दौरान सूरत स्टेशन पर स्वास्थ्य राज्यमंत्री किशोर कानाणी, सांसद प्रभु वसावा के साथ मेयर हेमाली बोघावाला भी मौजूद थीं। यह ट्रेन अब सूरत से रात 10 बजे चलेगी और सुबह 9.5 बजे महुवा पहुंचेगी। उसके बाद महुवा से शाम 7.35 बजे चलेगी और सुबह 6.35 बजे सूरत पहुंचेगी।

दो दिन बांद्रा से रवाना होगी महुवा एक्सप्रेस
सूरत की सांसद के ताैर पर दर्शना जरदोष पिछले एक दशक से इस ट्रेन को नियमित करने की मांग करती रही थीं। रेल राज्यमंत्री दर्शना जरदोष ने कहा कि पहले यह ट्रेन हर बुधवार सुबह 5:30 बजे रवाना होती थी, लेकिन अब यह ट्रेन हफ्ते में पांच दिन सोमवार, मंगलवार, गुरुवार, शनिवार और रविवार को सूरत से रवाना होगी। जबकि बुधवार और शुक्रवार को बांद्रा से रवाना होगी। मंडल रेल प्रबंधक जीवीएल सत्यकुमार ने कहा कि 20955/56 सूरत-महुवा एक्सप्रेस को एलएचबी रेक दे दिया गया है। यह पूरी तरह से मॉडर्न कोच है।

यात्रियों की मांग पर समय रात 10 बजे किया गया
सूरत स्टेशन से सूरत-महुवा ट्रेन में कुल 1020 यात्री रवाना हुए। इनमें से 801 यात्री मुफ्त, जबकि 219 टिकट लेकर गए। टिकट लेकर गए यात्रियों ने एडवांस बुकिंग करा रखी थी। मुफ्त सफर की स्कीम 19 अगस्त को ही थी। रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि सूरत से रोजाना रात 9 से 10 बजे के बीच लगभग 350 बसें केवल सौराष्ट्र के लिए रवाना होती हैं। बस संचालक मनमानी किराया वसूल करते हैं।

खबरें और भी हैं...