पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Younger Brother Murdered Elder Brother In Qatargam, There Was A Fight Over The Matter Of Food

संबंधों की हत्या:कतारगाम में छोटे भाई ने कर दी बड़े भाई की हत्या, खाने की बात को लेकर हुआ था झगड़ा

सूरत8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • शहर में एक ही दिन में तीन हत्याएं, दो लोगों ने तो भाई को ही मार डाला

शहर में एक ही दिन में हत्या के तीन मामले सामने आए हैं। दो मामलों में भाई ने ही भाई की हत्या कर दी। अन्य एक मामले में रुपयों के लेनदेन में हुए पथराव में एक व्यक्ति की जान चली गई। जानकारी के अनुसार कतारगाम में खाने को लेकर हुए झगड़े में छोटे भाई ने हीरा घिसने वाले कटाेरे से मारकर बड़े भाई की हत्या कर दी।

महेसाणा जिले के सतलाशणा तहसील के सरतानपुर गांव के मूल निवासी जशवंत उर्फ जशो ठाकोर कतारगाम केसरबा मार्केट में रहता है। जशवंत का बड़ा भाई बाबू शंकर ठाकोर भी केसरबा मार्केट में ही रहता है, जबकि एक भाई सुरेश जेराम माेरार की वाड़ी सूर्य दर्शन बिल्डिंग में रहता है और वहीं हीरे के कारखाने में काम करता है।

जशवंत और बाबू ठाकोर जेराम मोरार की वाड़ी के सामने लाल बिल्डिंग में हीरे के कारखाने में नौकरी करते हैं। मंगलवार शाम को कारखाने में खाना खाने को लेकर बाबू ठाकोर और छोटे भाई जशवंत के बीच झगड़ा होने लगा। जशवंत ने अपने दोस्त प्रहलाद उर्फ गोरिला फतेजी ठाकोर के साथ बाबू ठाकोर को पीटने लगा।

इसी बीच जशवंत ने हीरा घिसने वाले कटोरे से बाबू के सिर में मार दिया। बाबू ठाकोर जमीन पर गिर गया। कारखाने में काम करने वालों ने सुरेश को फोन करके घटना के बारे में बताया। सुरेश तुरंत कारखाने में पहुंच गया। सुरेश तुरंत बाबू को अस्पताल ले गया, जहां डॉक्टर ने दूसरे अस्पताल में ले जाने के लिए कहा।

डॉक्टर ने दर्द की दवा भी दी थी। इसके बाद सुरेश अस्पताल से बाबू को लाकर कारखाने में लिटा दिया और वहां से चला गया। कुछ देर बाद बाबू के नाक और मुंह से खून बहने लगा। दाहिनी आंख सूज गई। कारखाने में काम करने वाले कारीगरों ने 108 एंबुलेंस को फोन किया। मौके पर पहुंचे 108 एंबुलेंस के ईएमटी ने बाबू को मृत घोषित किया।

ये है मामला: प्रहलाद के पहले टिफिन खोलने पर हुआ था झगड़ा

जशवंत, बाबू और प्रहलाद तीनों मिलकर दो टिफिन मंगवाते थे। सामान्य तौर पर प्रहलाद पहले दोनों टिफिन खोलकर देखता था। जिसमें अच्छा खाना होता था वही खाता था। मंगलवार को रात में प्रहलाद ने टिफिन खोलकर खाना शुरू कर दिया। बाबू ने प्रहलाद से कहा कि तुम रोज पहले ही टिफिन खोलकर खा लेते हो।

इसी बात को लेकर दोनों में झगड़ा होने लगा। इसी बीच जशवंत आया और प्रहलाद का पक्ष लेकर बाबू के साथ झगड़ा करने लगा। बात बढ़ने के बाद जशवंत और प्रहलाद मिलकर बाबू को पीटने लगे। जशवंत ने हीरा घिसने के कटोरे से जोर से बाबू के सिर में मार दिया। कतारगाम थाने के इंस्पेक्टर बीडी गोहिल ने बताया कि तीनों में खाने को लेकर झगड़ा हुआ था। दोनों आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। कोरोना की रिपोर्ट आने के बाद गिरफ्तार किया जाएगा।

इंस्पेक्टर: भाई के मरने के बाद आरोपी जशवंत को बहुत दुख हुआ
कतारगाम थाने के इंस्पेक्टर बीडी गोहिल ने बताया कि तीनों में खाने को लेकर झगड़ा हुआ था। दोनों आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। कोरोना की रिपोर्ट आने के बाद गिरफ्तार किया जाएगा। इंस्पेक्टर ने बताया कि जशवंत ने प्रहलाद का पक्ष लेकर पहले अपने बड़े भाई को पीटा। उसके मरने के बाद उसे बहुत दुख हुआ।

हालांकि सुरेश और जशवंत मिलकर बाबू को अस्पताल ले गए थे, पर तब तक बहुत देर हो गई थी। एक महीने पहले ही महेसाणा से सूरत काम करने आए थे। लॉकडाउन में काम बंद होने पर सभी गांव चले गए थे। बाबू के मरने के बाद जशवंत उसके शव के पास ही बैठा रहा।

उधर, चचेरेभाई ने जोर से पेट में मारी लात, आंत फटने से युवक की मौत

सूरत | सचिन में सीमेंट की फैक्ट्री के पास मामूली झगड़े में चचेरेभाई ने बड़े भाई के पेट में जोर से लात मार दी। आंत फटने की वजह से बड़े भाई की मौत हो गई। हालांकि पुलिस ने अभी तक इस मामले में कोई मामला दर्ज नहीं किया है। जानकारी के अनुसार 12 अक्टूबर को शाम को घटना के बाद सत्येंद्र के पेट में जोर से दर्द होने लगा।

सत्येंद्र ने बारडोली के सरकारी अस्पताल में अपना इलाज करवाया। सत्येंद्र को बारडोली से सूरत के सिविल अस्पताल में रेफर किया गया। सिविल में इलाज के दौरान पता चला कि सत्येंद्र की आंत फट गई है। इलाज के दौरान सत्येंद्र की मौत हो गई। मृतक सत्येंद्र उत्तर प्रदेश का मूल निवासी था। उसे पांच साल का एक बेटा है, जो गांव में रहता है।

सत्येंद्र अपने चचेरेभाई कोमल के साथ सूरत में रहता और कलर का काम करता था। मंगलवार को सत्येंद्र बारडोली में अपने रिश्तेदार शिवम सिंह के यहां गया था, अचानक उसके पेट में जोर से दर्द होने लगा। इसके बाद उसे सरकारी अस्पताल में ले जाया गया।

लिंबायत: पैसों को लेकर मानसिक बीमार व्यक्ति ने पथराव किया फिर गुस्से में चाकू मार लिया, मौत

सूरत लिंबायत में पैसों के लेन-देन में दो लोगों में पथराव होने के बाद एक शख्स की मौत हो गई। संजय नगर में रहने वाली रेखा कोली ने थाने में शिकायत दर्ज कराई है कि 12 अक्टूबर को दोपहर 12.30 बजे सास आशा ने फोन करके बताया कि उसका देवर गणेश चाकू लेकर मोहल्ले में घूम रहा है। रेखा तुरंत सास के घर पहुंच गई।

रेखा, सास आशा, ससुर पांडुरंग, पड़ोसी दुर्गा समेत आसपास के लोग इकट्‌ठा हो गए। गणेश के चेहरे से खून बह रहा था। आशा ने बताया कि गणेश किसी प्रेम नामक व्यक्ति रुपए मांग रहा था। प्रेम ने रुपए नहीं दिए तो गणेश ने उसके सिर पर पत्थर से मार दिया। इसके बाद प्रेम ने भी पथराव कर दिया।

इसके बाद गणेश घर गया और चाकू लेकर प्रेम को मारने के लिए खेाजने लगा। प्रेम नहीं मिला तो गणेश ने खुद ही अपने पेट में चाकू मार लिया। इसके बाद वह बेहोश हो गया। 108 एंबुलेंस से गणेश को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

खबरें और भी हैं...