गांव उगाला का मामला:ससुराल व पड़ोसी से परेशान युवक ने पंखे से फंदा लगाया, 2 पेज का सुसाइड नोट बरामद

बराड़ाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
वरुण उर्फ सन्नी का फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
वरुण उर्फ सन्नी का फाइल फोटो
  • साल 2014 में हुई थी शादी, माता-पिता से अलग दूसरे माेहल्ले में रह रहा था सन्नी, पत्नी ने तलाक व घर के खर्च के लिए कोर्ट में केस डाल रखा

उगाला गांव निवासी वरुण उर्फ सन्नी ने अपने घर में पंखे से फंदा लगाकर जान दे दी। सन्नी शादीशुदा था, जिसका अपनी पत्नी के साथ विवाद चल रहा था। पत्नी ने कोर्ट में खर्च के लिए केस डाला हुआ था। सन्नी अपने माता-पिता से अलग दूसरे मोहल्ले में रहता था। रात में पिता सुशील शर्मा के पास खाना खाकर घर चला गया।

सुबह 9 बजे तक जब सन्नी नाश्ता करने नहीं आया तो पिता उसके घर गए। आवाज लगाने पर जब दरवाजा नहीं खोला तो वह छत पर चढ़कर अंदर आए, जहां सन्नी का शव पंखे से झूलता पाया। सूचना पाकर बराड़ा थाना प्रभारी सुरेश शर्मा ने मौके का मुआयना किया। मृतक की जेब से 2 पेज का सोसाइड नोट निकला, जिसमें सन्नी ने पड़ोसी लाला प्रवीण कुमार व ससुराल में पत्नी सहित सास, ससुर व साले को आराेपी ठहराया है। वरुण की शादी नारायणगढ़ निवासी राजेश की बेटी कोमल से साल 2014 में हुई थी। लेकिन पति-पत्नी की आपस में बन नहीं पाई, जिस कारण उसकी पत्नी ने तलाक व घर के खर्च के लिए कोर्ट में केस दायर किया हुआ था।

सुशील ने बताया कि महिला थाने में सन्नी काे पूछताछ के लिए आए दिन बुलाया जा रहा था, जिससे तंग आकर सन्नी ने घर पर फंदा लगाकर जान दे दी। सन्नी के पास एक बेटा 6 वर्षीय वंश शर्मा है। शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। सीन ऑफ क्राइम ने मौके पर पहुंंच तथ्य जुटाए। पुलिस ने ससुर राजेश, सास सुनीता, पत्नी कोमल, साला बंटी, गोलू निवासी पंजाब व पड़ोसी प्रवीण लाला के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का केस दर्ज कर लिया है।

पड़ोसी प्रवीण के साथ क्या था मामला

प्रवीण कुमार ने सन्नी पर गार्डर चोरी का आरोप लगाया था, दोनों में कुछ समय से तनाव चल रहा था। जानकारी मिली है कि प्रवीण ने सन्नी को उस समय रोका जब वह घर के पास से जा रहा था। आराेप है कि सन्नी को प्रवीण ने धमकी भी दी थी।

सोसाइड नोट में लिखा -पड़ोसी ने चोरी का झूठा केस दर्ज कराया, अब मुझे जान से मारने की धमकी दे रहे

2 पेज का सुसाइड नोट बरामद।
2 पेज का सुसाइड नोट बरामद।

साॅरी मम्मी-पापा मैं आप लोगों को बिना बताए दुनिया से जा रहा हूं। मुझे माफ कर देना, क्योंकि मेरी यहां जरूरत नहीं। मैं आपको अकेला छोड़कर जा रहा हूं। क्योंकि मैं आपका अच्छा बेटा न बन सका। मुझे मारने के पीछे प्रवीण लाला पुत्र बैजनाथ उगाला निवासी मेरा पड़ाेसी है। इन्हाेंने मुझ पर चोरी करने का झूठा केस बनवा दिया और मुझे कल जान से मारने धमकी दे रहे थे। मेरे सास, ससुर, पत्नी कोमल, साला बंटी इन्होंने भी मुझे कई बार जान से मारने की कोशिश की। मैं मां के आशीर्वाद से बच गया। जब भी मैंने अपनी पत्नी कोमल व सास से अपने गहने व 3 लाख 50 हजार रुपए मांगे थे, इन्होंने मुझ पर कोई न कोई इलजाम लगाया। मुझ पर 3.50 लाख रुपए का बोझ सहन नहीं हुआ।

यह गोलू के साथ मिलकर मेरी पत्नी कोमल मुझे हर रोज किसी न किसी लड़के से जान से मारने की धमकी देते थे। मैं एक गरीब परिवार से हूं। मैंने अपने पैसे घर बनाने के लिए 5 साल से एकत्रित किए थे। मेरी सारी मेहनत चली गई। तो इनको कड़ी सजा मिलनी चाहिए। ये 2 दिन से मुझे मारने में लग रहे हैं। प्रवीण लाला ने कल शाम को सारी गली के सामने मेरी बहुत बेइज्जती की जो मैं सहन न कर सका और मेरे भाई व सभी रिश्तेदारों ने बुरे टाइम में मेरा साथ छोड़ दिया। इसलिए मेरा दादा-दादी का बैंक बैलेंस जोकि मेरा था, मेरे रिश्तेदारों ने मुझे वो भी नहीं दिया जोकि मेरे नाम पर था। इसलिए मेरे नाम जो भी दादा-दादी का घर व बैंक बैलेंस है वह मेरी मम्मी शोभा रानी के नाम कर रहा हूं। कृप्या करके प्रवीण लाला जिसने मुझ पर झूठा केस लगाया और मेरी पत्नी कोमल व गोलू सास ससुर व साला बंटी जो मुझे जान से मारना चाहते हैं, उन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिल सके। जो भी मेरे गहने 650 ग्राम चांदी, 2 अंगूठियां 5.37 ग्राम सोने को मेरी मम्मी शोभा को दिलाया जाएं। तभी मेरी आत्मा को शांति मिलेगी।

खबरें और भी हैं...